Thursday, 10 November 2016

Jokes............ मोदी चुटकुले नोट बंद होने पर

मोदी चुटकुले नोट बंद होने पर 


सुबह सुबह शिवपाल , भतीजे अखिलेश के आवास पर पहुंचे .. पता चला अखिलेश सोये हुये हैं ।
बहू डिम्पल ने सर पर अंचल खींचते हुये कहा 'चाचाजी , कहिये तो जगा दूँ!'
शिवपाल ने रुंधे गले से कहा 'तू रहन दे बहू , मैं खुद जगाता हूँ !'
कमरे में गये और दुलार से भतीजे के सर पर हाथ फेरकर जगाया । भतीजा उठा और तुरन्त चरण स्पर्श करके पूछा "चाचू आप ! सब खैरियत तो है न ?"
चाचा की आंखें नम हो गईं "सब खैरियत है बेटा , अब भी गुस्सा हो क्या?"
अखिलेश ने गहरी सांस भरकर जवाब दिया "अपनों से कैसा गुस्सा चचा ! और सुनाइए क्या आदेश है"
शिवपाल ने तनिक संकोच से ऑंखें झुकाये ही पूछा "बेटा , हजार का चेंज है क्या !"
अखिलेश ने मुस्कुराकर कहा "छुट्टा तो नहीं चचा , 400 रुपया है । दो सौ आप रखिये , दो सौ में मैं काम चला लूंगा ।"
और इतना सुनना था कि चाचा ने भतीजे को खींचकर गले से लगा लिया ... दोनों के पलकों से आंसुओ की निर्झरणी प्रवाहित हो उठी थी । आज चचा-भतीजे दोनों के मन में कोई कलुष न था ....
नयी मौद्रिक नीतियों ने सारे कलुष को धो पोछकर साफ़ कर डाला था !!

modi jokes on Currency ban in India

 मोदी ने पुरे भारत को शनि सिंगनापुर बना दिया आप दरवाज़े खोलकर रख सकते हो
.
.
.
.
अब जिसको भी हार्ट अटैक आयेगा समझो उसके पास ही काला धन है।।
Modi Rocks
.
.
.
.
मोदी तेरी माया कोई समझ नहीं पाया
कल तक माँगने पर भी पेमेंट नहीं मिलती थी
और आज पार्टी सामने से फ़ोन कर रही है पेमेंट कहा लाकर देऊ.
.
.
.
.
मोदी जी भी कमाल करते है पहले शौचालय बनवाये अब दस्त लगा दिये.
.
.
.
.
.
यही होता है बिना पत्नी के PM होने से। खुद की तो बीबी है नही और हिन्दुस्तान के सारे मियां बीबी में लङाई करवा दी ।।
.
.
.
.
जेसे तेसे जिओ की लाइन से निकले थे
तो अब बैंक की लाइन में लगा दिया.....साला यही हे अच्छे दिन
.
.
.
.
.
आज रात सारे मंदिरो की दान पेटियां भी खुलने वाली है ।भगवान को भी मोदी का decision  मानना पड़ेगा।.
.
.
.
.
.
 बड़ी मुश्किल में साफ़ किये थे वाट्सएप के दीपावली मैसेज। अब मोदीजी ने फिर लबालब भर दिए.
.
.
.
.
अन्ना हजारे ने अब किया अपना नाम चेंज अन्ना दो हजारे
.
.
.
.
 मुझे बाहर निकालो मुझे भी नोट बदलने हैं
-आसाराम बापू .
.
.
.
.
ब्रेकिंग न्यूज़।
आस पास के घरों से गुलक टूटने की भारी आवाज।
.
.
.
.
 भाया संकट की इस घड़ी में मुझे भी शामिल करें और अपना अनुपयुक्त धन मुझे प्रदान कर चैन की नींद सोयें और महान दान दाता होने का पुन्य लाभ कमा कर अपने आप को अनुग्रहीत करने का अतुल्यनीय सौभाग्य प्राप्त करने का सुख भोगें