Saturday, 23 January 2016

प्राइवेट कर्मचारियों को समर्पित

एक राजा था। उसने दस खूंखार जंगली कुत्ते पाल रखे थे।

उसके दरबारियों और मंत्रियों से जब कोई मामूली सी भी गलती हो जाती तो वह उन्हें उन कुत्तों को ही खिला देता।


एक बार उसके एक विश्वासपात्र सेवक से एक छोटी सी भूल हो गयी,
राजा ने उसे भी उन्हीं कुत्तों के सामने डालने का हुक्म सुना दिया।

उस सेवक ने उसे अपने दस साल की सेवा का वास्ता दिया,
मगर राजा ने उसकी एक न सुनी।


फिर उसने अपने लिए दस दिन की मोहलत माँगी जो उसे मिल गयी।

अब वह आदमी उन कुत्तों के रखवाले और सेवक के पास गया
और उससे विनती की कि वह उसे दस दिन के लिए अपने साथ काम करने का अवसर दे।


किस्मत उसके साथ थी, उस रखवाले ने उसे अपने साथ रख लिया।

दस दिनों तक उसने उन कुत्तों को खिलाया, पिलाया, नहलाया, सहलाया और खूब सेवा की।


आखिर फैसले वाले दिन राजा ने जब उसे उन कुत्तों के सामने फेंकवा दिया तो वे उसे चाटने लगे, उसके सामने दुम हिलाने और लोटने लगे।

राजा को बड़ा आश्चर्य हुआ।

उसके पूछने पर उस आदमी ने बताया कि महाराज इन कुत्तों ने मेरी मात्र दस दिन की सेवा का इतना मान दिया
बस महाराज ने वर्षों की सेवा को एक छोटी सी भूल पर भुला दिया।


राजा को अपनी गलती का अहसास हो गया।
और उसने उस आदमी को तुरंत भूखे मगरमच्छों के सामने डलवा दिया।

सीख:- आखिरी फैसला मैनेजमेंट का ही होता है उसपर कोई सवाल नहीं उठाया जा सकता…


प्राइवेट कर्मचारियों को समर्पित 



























क्रिकेट में भारत की ऑस्ट्रेल्या से लगातार हार से हताहत इश्तहार दिया है ........

क्रिकेट में भारत की ऑस्ट्रेल्या से लगातार हार से हताहत
इश्तहार दिया है ........

शूरमा क्रिकेट हकीमी खानदानी दवाखाना

===================== 


शरमायें नहीं हमें बतायें===============

टूरनामेंट के पहले या टूरनामेंट के बाद ============

रनों का न बनना , शीघ्र विकेट पतन , बैटिंग में ढीलापन, फिल्डिंग में जोश न आना , पिच में टेढ़ापन , गेंदबाजी दोष , जल्दी थकान, ज्यादा देर तक क्रीज पर नहीं टिक पाते हो तो अब शरमाना छोड़िये और आज ही हमारे पास पधारिये ..... दो हफ्ते की खुराक (ट्रेनिंग) में सारी समस्याओं से छुटकारा पाइए |

*** इलाज पूरी तरह से गुप्त रखा जाता है ....

***हमारी दूसरी कोई शाखा नहीं

झुग्गी क्र.४२०, धोबीघाट नाला पुल पात्रा रोड रेलवे लाइन के पास भोपाल
हकीम: मियां सूरमा भोपाली

नोट : ट्रेन द्वारा इटारसी की ओर से आने वाले आउटर पर ही चेन पुलिंग कर उतर लें ।