Saturday, 12 November 2016

Modi jokes on change of currency ........... आज नोट वदलनी एकादशी है

आज नोट वदलनी एकादशी है

सुबह ब्रम्ह मुहूर्त मे नहाकर भगवान के सामने दिया बत्ती जलाकर पूजन करें।
उसके उपरांत ईश्वर से प्रार्थना करें कि विना इज्जत का फालूदा उतरे कम से कम घर खर्च लायक पैसे बैंक से प्राप्त हो जाये।
उसके उपरांत पूजन से उठें और अपने माता पिता तथा गुरुजन का आशीर्वाद प्राप्त कर पुराने कपड़े पहन कर( धक्का मुक्की मे आपका जनाजा भी निकल सकता है।)
उसके उपरांत निकलें।

विवाहित पुरूष अपनी अर्धांगिनी से रोली से तिलक करवा कर मिशन अदला वदली पर निकल जायें

नोट: घर से वाहर निकलते समय कोई आपको टोके नही अन्यथा काम विगड़ने की संम्भावना वढ़ सकती है।

ईश्वर आपकी मदद करें।
.
.
.
.
चिट्ठी न कोई सन्देश-

लाइन में लगा कर देश....


कहाँ तुम चले गए....
.
.
.
.
*सोनिया* :- अरे अब इन करोडो नोटों का हम क्या करेंगे…??

*राहुल :-* हवन करेंगे, हवन करेंगे, हवन करेंगे 
.
.
.
.
सालों बाद ही सही,
बूढी माँ के खाते में भी

बेटे ने ढाई लाख रुपये डाल ही दिए ।.....

No comments:

Post a Comment