Tuesday, 30 August 2016

New Hindi Jokes ............. प्रेमिका का नाम

 पत्नियाँ चाहे  45 मिनट तक
अपनी   मम्मी से बात कर लें
लेकिन   अंत मे  एक बात ज़रूर बोलती हैं,:-
"ठीक है मम्मी ,  फ़्री होकर  बात करती हुँ"
और   उनकी माँ सोचती हैं -  "पता नहीं  बेटी को  कितना काम करना पड़ता है,  बेचारी २ मिनट   भी चैन से बात नहीं कर पाती"* .
.
.
.
.
आज एक छोरी नै फेसबुक पै स्टेट्स डाला 
#I_am_happy_मैं_बुआ_बन_गई
.
.
.
मनै भी कमेंट कर दिया "#और_मै_फूफा..
इब्ब इसमें ब्लॉक मारन की के बात थी भाई ...
.
.
.
.
.

हिमेश रेशमिया की शादी के 3 साल बाद सास
ने बहू से पूछा कि ख़ुशख़बरी कब दे रही
हो?
बहू: आप अपने बेटे को समझायें कि हर काम टोपी
पहन के नहीं किया जाता।
.
.
.
.
.
.
ध्यान रखना कि जब कोई दुकानदार कहता है कि "आपको ज्यादा नहीं लगाएंगे" तो इसमें..
.
.
.
.
.
"चूना" शब्द Silent होता है..
.
.
.
.
.
.
 चाकू से पेड़ पर प्रेमिका का नाम गोदने से अच्छा है
कि
एक पेड़ प्रेमिका के घर के सामने लगाया जाए
और रोज पानी देने के बहाने उसे देख भी आए
(नगर निगम द्वारा पर्यावरण हित में जारी)
.
.
.
.
.
.
 पहले मुझे बिल्कुल भी इंग्लिश नही आती थी। मैं लोगों से अंग्रेजी में बात नही कर पाता था। धीरे-धीरे मुझ में हीनभावना आने लगी थी।तभी मेरे एक दोस्त ने Blenders Pride के बारे में बताया। मैं फौरन दुकान से खरीद कर लाया और दो पेग लगाये।आप यकीन नही मानेंगे कि मैं फटाफट अंग्रेज़ी बोलने लगा। लोग मुझे हैरानीसे देखने लगे।
मेरी लाइफ़ बिलकुल बदल गयी। आज मैं बहुत ख़ुश हूँ।
"Thanks to Blenders Pride"
.
.
.
.
.
सोने में आई भारी गिरावट
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
पहले लोग 10 घण्टे सोते थे।
अब whatsapp के कारण 4 घण्टे ही सोते हैं |.
.
.
.
.
मुहावरे और उनके शराबिक अर्थ - 
हाथ पांव फूलना- समय पर दारू का ना मिलना
ऊंट के मुंह मे जीरा-दारू कम पड़ जाना
कलेजा ठंडा होना-
एक पैग गले के नीचे उतरना
मुंह मीठा करना- पहली बार किसी को दारू पिलाना
हाथ साफ करना-दूसरे का पैग भी चुपचाप पीना
नेकी कर दरिया मे डाल-फ्री में दोस्तो को पिलाना
आंख फडकना- नशा उतरते जाना
आंख लाल करना-फुल नशा हो जाना
अंधे की लकडी़- कोई पिलाने वाला मिल जाना
अंगारो पर पैर रखना-दारू पीकर घर जाना
आकाश के तारे तोड़ना-ठेके की लाईन में पहले स्थान पर होना
तिल का ताड़ बनाना-
दारू पीकर उपदेश देना
ठन ठन गोपाल- पीने के लिए पैसा न होना
दम मे दम आना-पीने के साथ चखना जुगाड़ हो जाना
छाती पर सांप लोटना-बिना जानकारी ठेका बंद हो जाना
काम तमाम करना-पूरा बोतल खत्म करना।
.
.
.
.
.
आजकल घर बैठे मोबाईल सें बुक कराके कुछ भी मंगा लो...।
मैंने मिठाई के लिए फ़ोन लगाया...tring tring..
मोतीस्वीट्स मे आपका स्वागत है कहिए क्या चाहिए।
मिठाई चाहिए।
लड्डू के लिए एक दबाए
रसगुल्ला के लिए दो दबाए
गुलाबजामुन के लिए तीन।
मैने 1दबाया।
बूंदी के लिए एक दबाए
मगज के लिए दो दबाए
सोंठ के लिए तीन।
मैने एक दबाया..बूंदी चाहिए।
एक पाव के लिए एक दबाए
एक किलो के लिए दो दबाए
एक क्विंटल के लिए तीन।
गलती से तीसरा बटन दब गया। डर के मारे फोन काट दिया पर  अगले ही पल फ़ोन आया -
आपसे एक क्विंटल लड्डू का आर्डर मिला है पता बताए।
मैं बोला - मैंने तो फोन ही नहीँ किया है।
आपके भाई ने किया होगा इसी नंबर से था..अपने भाई को फ़ोन दीजिए।
मैं बोला -हम लोग छः भाई है
बड़े से बात के लिए एक दबाए
उससे छोटे के लिए दो दबाए।
उससे छोटे के लिए तीन
उससे छोटे के लिए चार
उसने फ़ोन काट दिया।.
.
.
.
.
 Intelligent answer :
Wife , "Tell me who is STUPID ? You or Me ?"
Husband (Calmly), "Dear everyone knows that, you are so intelligent, you will never marry a STUPID person."

Thursday, 25 August 2016

Jokes in HINDI ....... Sexy Adult Nonveg Gande Jokes

 पंजाबी बड़ी मजेदार भाषा है
- एक छोटे से नंगे बच्चे को देख के एक  आदमी पूछता है -
ओये अज्ज कच्छी नी पायी तेरी माँ ने .
.
.
.
.
12 साल का लड़का अपने पड़ोस की आन्टी से पुछता है,
लड़का :आन्टी लड़कीयो को 10 साल की उमर में बच्चा होता है क्या?
आन्टी : " नही"
लड़का :" तो फीर अपनी बेटी को समझाव ना,
फालतु में कोन्डोम का खर्चा करवाती हैं !   .
.
.
.

बच्चा (कुत्ते का सेक्स देखकर) : पापा ये कुत्ता क्या कर रहा है..?
पापा (बच्चे की मासुमीयत देखकर मुस्कूराते हुए बोले) : बेटा, वो कुतिया को कुछ समझा रहा है..!
बच्चा : आराम से भी समझा सकता है, गांड मारने की क्या जरूरत है..!!
.
.
.
.
.
 बच्चा: मैडम से- मैम औरत को बच्चा कैसे होता है?
मैडम: जब तुम बङे हो जाओगे, और तुम्हारी शादी हो जाएगीहै। तो रात को एक परी आएगी ओर तुम्हारी सोई हुई बिवी की गोद मै धीरे से एक बच्चा सुलाकर चली जाऐगी।
बच्चा: तो फिर मुझे  leni  किसकी है बिवी कि या परी की?
.
.
.
.
.

एक लड़की मेट्रो स्टेशन से ऊतर कर घर जा रहीं थी ।
तो एक मनचले लड़के  चिडाते हुऐ बोला-
बड़ा ही मस्त पिछवाड़ा ले के जा रहीं हो जान..
.
.
.
.
.
.
.
लड़की मुस्कुराते हुऐ बोली:
तू भी मरवा लिया कर. तेरा भी हो जाएगा ...।।
.
.
.
.
.
Attitude...
आज सवेरे मैंने एक छोटे बच्चे से पूछा
"कौनसे स्कूल में जातें हों?"
वह बोला
"मैं जाता नहीं!...... मुझें भेजतें हैं, साले।!"....
.
.
.
.
Teacher* to 4 Year old *kid* : "What's your *_Mom's_* name?"
4 yr old kid : "Mom's _last name_ must be *"Darling"* because that's what *Daddy* calls her every time...."
Teacher : "That's so *SWEET*. What's her *first name* then?"
4 yr old kid: "I think it's *Sorry*...."
.
.
.
.
.

एक आदमी की बाईक पंक्चर हो गयी किसी तरह वो उसको लेकर पास के एक सर्विस स्टेशन में पहुँचा। वहाँ जाकर पंक्चर लगाने वाले लड़के से बोला, "बाईक घसीट घसीट के गांड फट गयी।"
लड़के ने कन्फ्यूज़ होकर पूछा,            "तो फिर पहले पंक्चर कहाँ लगाऊं, गांड पे या बाईक में?".
.
.
.
दारू   छोड़ने   के   लिए   इरादे   तो   अम्बुजा   सीमेंट   की   तरह   मजबूत   थे
...
...
...
...
कमबख्त   दिल   ही   सरकारी   पुल   निकला...
 
भर तू. .
.
.
.
वो बोली तुम मेरे इश्क मे क्या कर
सकते हो
.
.
.
.
हमने कहा "कमरे का जुगाड".....!.
.
.
.
 गाजर और मूली खाने की चीज़ है
ये तो मुझे भारत में आकर
पता चला ....
~ सनी लियॉन".
.
.
.
 अक्सर खूबसूरत लड़कियो के बॉयफ्रेंड
पहले से होते हैं,
पर  हमारा मानना है कि..
'गोलकीपर' के खड़े होने के बावजूद भी गोल
हो सकता है।
-
~
बस बंदे मे दम होना चाहिये
.
.
.
.
 सब्जीवाला : बहन जी क्या आप ने यह 10 का नोट अपने ब्लाउज से निकला !
औरत : तुम्हे कैसे पता चला !
सब्जीवाला : गाँधी जी बहुत खुश दिखाई दे रहे है !

Tuesday, 23 August 2016

आगरा का भोजन चालीसा आगरा के लज़ीज़ व्यंजनों की याद

आगरा का भोजन चालीसा
आगरा के लज़ीज़ व्यंजनों की याद
======================
आगरा का जबाव नहीं !
" आ...गि...रा " ,
नहीं मन करता इससे दूर जाने का !
आगरा के बनिए की जुबान बहुत चटोरी होती है
.
सदर बाजार , सौदागर लाइन की चाट
देवीराम की बेड़ई
बेदरियाराम की गजक
लोहार गली  की इमरती
रावतपाड़ा के मुन्नालाल का  पेठा
भीमसेन बैजनाथ की दालमोठ
दरेसी के मूँग की दाल के मंगोड़े
प्रताप पुरा चौराहा की बेड़ई , जलेबी और मलाई वाला  कुल्हड़ में  दूध
सेंट जोन्स चौराहा की दही गुझिया
राजा मण्डी  भारत सिनेमा के नुक्कड़ पर भजनलाल के छोले भटूरे
राजा मंडी के अंदर वाले चौराहे पर  कुल्हड़ में  लस्सी
S.N. Medical college नूरी गेट बुलाकी/गुड्डी की कुल्हड़ में मलाई वाली चाय
रामबाबू के पराठे
चिम्मनलाल की पूड़ी
भानामल के समोसे  , नारियल बर्फी और लाल वाली मिठाई
दाऊजी के समोसे और  कचौड़ी
लोहामंडी में सत्तो लाला  की कचौड़ी
घटिया आज़म खान की आलू की कचौड़ी
नमक की मंडी बाले मुन्ना की कचोड़ी
काली माँ  सन्नी वlली तेल की कचौड़ी
खुसके के आलू चिप्स
खेराती के पिन्नी के लड्डु
मधु  आइसक्रीम   की कुल्फी
सेठ गली पोस्ट ऑफिस के बाहर  के गोलगप्पे
सेठगली की चाट , भल्ला  (आलू की टिक्की )
सेठगली का मोटी  मलाई वाला   कुल्हड़ में   दूध
सेठगली  हीरा / डबल हाथरस  का राजभोग 
डबल हाथरस का घेवर
बुला रहा है ...
भाई !  आगरा आ जा

Sunday, 14 August 2016

Who is a Greater Saint

Who is a Greater Saint 

Once, Ravindranath Tagore went to Japan. He gave discourses on his book Geetanjali for ten days from 6 PM to 7 PM every day. An old man used to come to attend his discourses every day. He used to garland him with roses very humbly. He used to reach there much before the discourse time and used to get up after Ravindranath Tagore had got up - his behavior was very down to earth. He used to listen to each and every word of the discourse and tried to apply that in his life. Dressed in very simple clothes, that old man was highly impressed with Ravindranath Tagore.
After Ravindranath used to complete his discourse many people used to touch his feet to show their gratitude every day. None of the people who came to attend the discourse ever thought how much treasure each one of them was taking with him after listening to the discourse on the reality of soul. All those who leave the discourse assembly after listening to just a few words from the discourses don't really know how disrespectful they are towards their own life.
That old man used to bow in front of Tagore every day. After the last discourse was over, people offered gold coins, money, fruits, flowers etc. at the feet of Tagore, but that old man offered him nothing and said to him : "Please pay a visit to my home tomorrow. I'll be grateful."
Ravindranath Tagore was already very pleased with the devotion and dedication of the old man and therefore he instantly accepted his invitation. The eyes of the old man were filled with tears of joy when Tagore accepted his invitation. Tagore told his assistant that the old man is very emotional and he should see that he does not spend beyond his capacity to make preparations and also he should give 200 Yen to his kids.
The old man got a Rolls Royce car sharp at 3:45 PM at the door of Tagore's guest room. Tagore had told him that he would go to his house at four in the evening. They smoothly drove in that car to a huge mansion on top of a hill. The watchman saluted and opened the main gate. As they entered the gates, Tagore saw many gentlemen and women welcoming his arrival. They took him inside. They made him sit on a chair made of gold with silken cushions. They served several rich eatables in 200 dishes made of gold and silver. The members of the family worshipped Tagore and sat at his feet.
Ravindranath was astonished with all this. He said: "Where have you brought me? Take me to your home. Why have you brought me to this mansion?"
The old man dressed in simple clothes said: "Oh Saint! This is my house. That Rolls Royce car is all mine and I have five more of these cars. There are two chairs made of gold in my house. All these people who are bowing in front of you are my sons, grandsons and great grandsons. She is the mother of my sons. And they are my daughters-in- law. Swamiji! I have two factories. "
"Oh! You are so rich and still you used to be dressed in such simple clothes when you used to come to attend the discourses."
The old man said politely - "Oh Saint! I believe that material richness and physical appearance do not reflect the real personality. It is foolish to feel proud of the money that cannot buy the richness of the soul. One never knows when that money will be lost. Also he who keeps guarding this material richness and does not bother about the precious richness of soul is really careless.
The material richness has no use beyond this world. Oh Saint! What is the value of this material richness as compared to the richness of true knowledge and devotion? The former is just making me working hard but the richness that you have given me is giving me the real happiness. It is the true knowledge of soul which is protecting me. I'm grateful to you for the rest of my life.
I have spent whole of my life in collecting that money which could not give me peace and happiness but each hour of yours showed me the light. I wore simple clothes because I was a beggar at your gate waiting to get the richness of soul from you. Oh Lord! I'm obliged!"
Ravindranath's heart was filled with happiness. Where there is respect for true knowledge, there is respect for life. Even the material richness stays at places where there is respect for the words of saints. He said: "Oh rich man! You are not attached to material richness and have respect for the richness of soul that is why you are rich in real sense. I also feel obliged today. After meeting a devotee like you even I feel that my discourses served the purpose. People keep asking for material comforts and waste the precious time wherever I go. But you are wise. You do not ask for material wealth and still God is giving that to you. Maybe God has sent me to quench your thirst for true knowledge.."
The one who is not attached to his wealth but surrenders his ego at the feet of the great saints after listening to the divine words about the Great God who is the basis of the whole universe, is rich in real sense.

Jokes in Hindi ............. मुझे नई साड़ी चाहिये, अम्मा जान से मँगवा दो

 एक अंग्रेज ट्रेन से सफ़र कर रहा था .....
सामने एक बच्चा बैठा था...
अंग्रेज ने बच्चे से पूछा यहाँ सबसे ज्यादा खतरनाक कौन सी समाज हैं ???
बच्चा:" महाराष्ट्रीयन,पंजाबी, गुजराती, हरयाणवी,और सबसे ज्यादा तो यूपीवाले
अंग्रेज : "क्यों ... क्या ये बाकी कम खतरनाक
हैं क्या ???"
बच्चा : " नहीं ... ये सब खुद में महाभारत हैं ....."
अंग्रेज : 'ओह ~~~ इनके पास जाना डेंजरस है'..
[कुछ देर पश्चात]
अंग्रेज : 'मैं कैसे जान सकता हूँ कि कौन
सा व्यक्ति कितना खतरनाक है ?'
बच्चा: 'बैठा रह शान्ति से ... अभी दस घंटे के सफ़र
में सबसे मिलवा दूंगा'....
कुछ ही देर बाद हरियाणा का एक
चौधरी मूंछों पे ताव देता हुआ बैठ गया ।
बच्चा: 'भाई ये हरियाणवी है ...'
अंग्रेज : 'इससे बात कैसे करूँ?'
बच्चा: "चुपचाप बैठा रह और मूंछों पर ताव देता रह.. ये खुद बात करेगा तेरे से'...
अंग्रेज ने अपनी सफाचट मूछों पर ताव दिया..
चौधरी उठा और अंग्रेज के दो कंटाप जड़े -
'बिन खेती के ही हल चला रिया है तू ..?'
-
-
थोड़ी देर बाद एक मराठी आ के बैठ गया ...
बच्चा : 'भाई ये मराठी है ...'
अंग्रेज : 'इससे बात कैसे करूँ ?'
बच्चा : 'इससे बोल कि बाम्बे बहुत बढ़िया ..'
अंग्रेज ने मराठी से यही बोल दिया..
मराठी उठा और थप्पड़ लगाया - "साले बाम्बे नहीं मुम्बई ... समझा क्या"
-
-
थोड़ी देर बाद एक गुजराती सामने आकर बैठ
गया।
बच्चा : 'भाई ये गुजराती है ...'
अंग्रेज गाल सहलाते हुए : 'इससे कैसे बात करूँ ?'
बच्चा : 'इससे बोल सोनिया गांधी जिंदाबाद ...'
अंग्रेज ने गुजराती से यही कह दिया
गुजराती ने कसकर घूंसा मारा - 'नरेन्द्र
मोदी जिंदाबाद...एक ही विकल्प- मोदी'..
-
-
थोड़ी देर बाद एक सरदार जी आकर बैठ गए ।
बच्चा : 'देख भाई ये पंजाबी है ...'
अंग्रेज ने कराहते हुए पूछा - 'इससे कैसे बात करूँ ..'
बच्चा : 'बात न कर बस पूछ ले कि 12 बज गए क्या ?'
अंग्रेज ने ठीक यही किया ...
अंग्रेज : 'ओ सरदार जी 12 बज गए क्या ?
सरदार जी ने आव देखा न ताव अंग्रेज को उठा के
नीचे पटक दिया...
सरदार : साले खोतया नू ... तेरे को मैं मनमोहन
सिंह लगता हूँ जो चुप रहूँगा'....
-
-
पहले से परेशान अंग्रेज बिलबिला गया .
..
खीझ के बच्चे से बोला : इन सबसे
मिलवा दिया अब यूपीवालो से भी मिलवा दो'
.
.
बच्चा बोला - "इतनी देर से तेरे को पिटवा कौन रहा । है....!" .
.
.
.
HOW TO TAKE MAJOR DECISION OF LIFE :-
.
First think from your heart...
Then discuss with your friends ...
Afterwards analyse the pros & cons, apply logic & experience...
.
~Then~ _do as your wife says....!_
.
.
.
.

Teacher : Name 7 different type of Cheese.
Banta :
1. Ricotta
2. Cottage
3. Mozarella
4. Cheddar
5. Swiss blue
6. Bekhudi
7. Zindagi
Teacher : Wait a minute, what is 'Bekhudi' and 'Zindagi' ?
Banta : Hosh walon ko khabar kya, 'Bekhudi' kya cheese hai. Ishq kijiye phir samjhiye, 'Zindagi' kya cheese hai.... .
.
.

जज- तुम अपनी पत्नी से गाली गलौज करते हो ??
पति- जनाब इसने शादी के वक्त कहा कि मुझसे "दोस्तों" जैसा व्यवहार करना ।
जज- मुक़दमा ख़ारिज
.
.
.
पत्नि मायके से वापिस आयी ......
पति दरवाजा खोलते हुये जोर जोर से हसने लगा
पत्नि,,, ऐसे क्यो हसं रहे हो .....??  !!!!
पति--- गुरूजी ने कहा था कि जब भी मुसीबत सामने आये उसका सामना हंसते हुए करो
.
.
.
.

यमराजः-चित्रगुप्त कुछ ऐसा जुगाड करो जिससे पूरे मृत्युलोक में लोग हर रोज कितना झूठ बोलते है मालूम हो सके।
अगले दिन।
चित्रगुप्तः-यह लो महाराज।
यमराजःयह क्या है.....?????
चित्रगुप्तःमहाराज यह झूठ बताने का घन्टा है,ज्योहि नीचे कोई झूठ बोलेगा तब यह बजेगा।
यमराजःठीक है लगा दो और लगाते ही घन्टा बजना शुरू।
यमराज बोले लोग सुबह सुबह ही झूठ बोलना शुरू कर देते हैं क्या.......?????
चित्रगुप्तः महाराज इसे ही तो मृत्यु लोक कहते है।
ज्यों ज्यों पहर चढने लगा घन्टा तेज बजने लगा।
फिर ज्योंहि रात के आठ बजे और करीब करीब घन्टा शान्त हो गया।
यमराजः  चित्रगुप्त यह बन्द कैसे हुआ वहाँ के लोग इतने जल्दी सो जाते है या किसी मन्दिर में गये।
चित्रगुप्तःनही नही महाराज अभी अधिकतर लोग मदिरापान कर रहे है और मदिरा पान करने वाले घर के बाहर सच ही बोलते है।
यमराजः  चलो यह तो एक अच्छाई है।
फिर ज्योंहि दस बजे और अचानक घन्टा एक लाख प्रति सैकन्ड की गति से बजने लगा।
यमराजः चित्रगुप्त यह क्या हो रहा है लगता है यह यन्त्र खराब हो गया।
चित्रगुप्तःनही महाराज यन्त्र बिल्कुल ठीक काम कर रहा है।
यमराजःफिर क्या हुआ?
चित्रगुप्तःमहाराज अभी सब लोग अपनी अपनी पत्नियों से बात कर रहे है।
.
.
.
.
 मरीज़ को डॉक्टर आखिरकार समझा पाया कि ये ऑपरेशन कितना जरूरी है लेकिन ..
जैसे ही उसने 8 लाख का खर्चा बताया मरीज़ ने फिर मना कर दिया। 
डॉक्टर बोला -- तुम पहले 2 लाख जमा कर दो , बाकी 22 हज़ार हर महीने किस्तों में दे देना।
मरीज़ बोला -- ये तो ऐसे हो गया , जैसे मैं कोई कार ले रहा हूँ।
डॉक्टर बोला -- कह तो सही रहे हो.. लेकिन
कार तुम नहीं मैं ले रहा हूँ। .
.
.
बीवी- "मुझे नई साड़ी चाहिये, अम्मा जान से मँगवा दो."
शौहर- " गंवार, वो अम्मा जान नहीं Amazon है."
.
.
.
 एक पंजाबी दादी अपने पोते को
अपने दीर्घायु होने का रहस्य बता रही थी।
दादी :- अन्न पाचन अच्छा होने के लिये मैं Beer लेती थी,
भूख बढ़ाने के लिये White Wine,
जब BP low होता था तो Red Wine
High BP होता था तो Vodka
और सर्दी हो तो Brandy लेती थी।
पोता :-  तो फिर आप पानी कब पीती थी ...?
दादी :- "हट" !!!
इतनी बीमार तो मैं कभी पड़ी ही नही।

Jokes in Hindi ...... कुछ लोग इतने भयानक कुँआरे होते है,

 शादी के लिए 36 गुण मिलाने पड़ते हैं,
फिर भी इतना प्रेम नहीं होता,
-
लेकिन मित्रता में अगर तीन 'गुण',
( मुर्गा,  सिगरेट और दारु)
मिल गए तो कुछ घंटो में ही अटूट प्रेम हो जाता है...!!!.
.
.
.
 कुछ लोग इतने भयानक कुँआरे होते है,की ताश खेलते वक्त भी, उनके पत्तो में बेगम नहीं आती है.....
.
.
.
कुछ लोग तो नाक में ऊँगली डाल कर ऊँगली को ऐसे देखते हैं जैसे नाक से...
डायमंड निकला हो।.
.
.
.
.
 पति---" मेरी पत्नी खो गई है,
शॉपिंग के लिए गई थी, अभी तक नहीं लौटी। "
.
.इंस्पेक्टर---" पत्नी की हाइट कितनी है ?
"पति---" कभी चैक नहीं किया।
"इंस्पेक्टर---" स्लिम है कि, हैल्दी है ?
"पति---" स्लिम नहीं है, शायद हैल्दी है।
"इंस्पेक्टर---" आँखों का रंग ?
.
"पति---" कभी ध्यान नहीं दिया।
.
"इंस्पेक्टर---" बालों का रंग ?
.
"पति---" मौसम के हिसाब से बदलती रहती थी। "
इंस्पेक्टर---" वो क्या पहने थी ?
."पति---" कह नहीं सकता, शायद साड़ी या सलवार सूट। "
इंस्पेक्टर---" क्या ड्राइविंग करती गई ?
"पति---" हाँ, कार पर।
.
"इंस्पेक्टर---" कार का रंग ?
.
"पति---" ब्लैक ऑडी ए8 विद सुपरचार्ज्ड 3.0 लीटर वी6 इंजिन जनरेटिंग 333 हॉर्स पॉवर टीम्ड विद एन 8 स्पीड टिप्ट्रोनिक ऑटोमेटिक ट्रांसमीशन विद मैनुअल मोड, एण्ड इटहेज फुल एलइडी हेडलाइट्स विच यूज लाइट एमीटिंग डायोड्स फॉर आल लाइट फंक्शन्स एंड ए वेरी थिन स्क्रैच ऑन दि फ्रन्टलेफ्ट
डोर......................
.
...."( और फिर पति रोने लगा )
.
.
.इंस्पेक्टर---" डोंट वरी सर, हम आपकी कार ढूँढ लेंगे।। "
.
.
.
.
एक लड़की नई नई इंग्लिश सीख रही थी...
लड़की -जानू plz apple my new number...
लड़का :confused ..क्या... ?
लड़की :मेरा नंबर apple कर लो ना जल्दी
लड़का : अरे पर apple तो सेब होता है ...!!!.
लड़की :जानू में भी तो ये ही कह रही हु के मेरा नया नंबर seb कर लो...
लड़का बेहोश ..
Coaching institute: IIN.
.
.
.

आज का ज्ञान
अगर बारिश के मौसम मे आपकी कार कीचड़ मे
फस जाये तो.........
.
.
.
.
.
.
खुद ही धक्का लगा देना, निरमा वाली चार औरते (हेमा, रेखा,
जया और सूष्मा) के इंतजार मे बैठे मत रहना
.
.
.

चार शराबी एक जनाजे को उठाकर जल्दी- जल्दी  कब्रौ के  ऊपर से जा रहे थे! 
किसी ने कहा - ओए शर्म करो  नीचे  मुर्दे है!

शराबी -तो उपर कोनसा हमने वर्ल्ड  कप उठा रखा है!
.
.
.
.
Wife:-  देखो मैं इसे पिछले 7 साल से लगातार  पहन रही हूं
फिर भी इसकी फिटिंग वैसी की वैसी ही है, और तुम मुझे  मोटी कहते रहते हो
Husband:-  कुछ तो भगवान से डरा करो.......... 
ये शॉल है...... !!
.
.
.
.
पत्नियाँ दो तरीके की होती हैं:
पहली वो, जो पति की बात सुनती है, उसके विचारों को समझती है, उनसे प्यार से पेश आती है, कभी भी कोई फरमाइश नहीं करती। और तो और पति कितना भी गुस्सा करे वो मुस्कुराती रहती है।
और
दूसरी वो, जो सबके पास है।
.
.
.
.
खाया तो बहुत होगा. पर बताने में लजाते हैं. कुछ की बुद्धि खुलती है बादाम खा के कुछ की थप्पड़ खा के. बिना थप्पड़ खाए महसूसिए थप्पड़ का स्वाद और थप्पड़ के दस अलग-अलग फ्लेवर.
1. झापड़
झापड़ थप्पड़ का वो रूप है जो मारा ही इस उद्देश्य से जाए कि सामने वाला कल्ला जाए. नैना से तरैना चू पड़े और आवाज भारी हो जाए. झापड़ की ख़ास बात कि वो रसीद किया जाता है.
2. फोहा
फोहा अपमानित करता है. हतप्रभ कर जाता है. आपने सोचा भी न हो और फ़ो से पड़ जाए. फोहा का मूल ही उसके शॉकिंग एलीमेंट में छिपा है.
3. चमाट
चमाट देना होता है. अक्सर चमाट दी नहीं जाती कहा जाता है कि अभी देंगे. चमाट चेतावनी है. चमाट का नाम आए तो समझिए सुधार की गुंजाइश है.
4. तमाचा
तमाचा जब मारा जाता है न तो आंख में चकमकी चमक जाती है. लगता है वन टेन का बल्ब जलकर बुता गया हो. कान में सुईंईंईंईंईंईंईं की आवाज़ आती है. एक किस्म की सम्पूर्णता का अहसास होता है. वैराग्य सा पनपता है. गालों पर उंगलियां उपट आती हैं.
5. कंटाप
कंटाप पड़ता है. कहीं पढ़ा था. कंटाप हिंसा की एक ऐसी विधा है जो गतिमान हाथ की ऊर्जा सम्पर्क में आने वाले गाल पर स्थानान्तरित करती है. गालों की धमनियों में रक्त का स्त्राव बढ़ा देती है. और ह्रदय में भय के भाव को तत्काल प्रभाव से जाग्रत करती है. पीड़ित के गालों पर कांग्रेसी चुनाव चिन्ह की लालिमा छोड़ जाती है.
6. लप्पड़
लप्पड़ ,थप्पड़ सा साउंड करे है पर थप्पड़ से भिन्न होवे है. लप्पड़ वो जो उल्टा पड़े. उल्टे हाथ से दिया जाए पर असर थप्पड़ सा करे.अगर आपने हासिल फिल्म देखी हो तो आपको वो महान संवाद जरूर याद रखना होगा ‘मारें लप्पड़ बुद्धि खुल जाए.’ साफ़ है लप्पड़ खाना दिमाग के लिए भी उत्प्रेरक का काम करता है.
7. थप्पड़
थप्पड़ को सारे देश में सहजता से स्वीकार किया गया है. हर गली, हर चौराहे कहीं भी. किसी को भी पड़ सकता है. थप्पड़ में बड़प्पन झलकता है. थप्पड़ जमाए जाते हैं. थप्पड़ की शान में सबसे बड़ी गुस्ताखी सोनाक्षी सिन्हा ने की थी जिसके बाद से ये तनी अंडररेटेड हो चला है.
8. टीप
टीप सर पर पड़ती है. याद होगा नाना पाटेकर का वो डायलॉग ‘सिर पर मत मारा करो …छोटा दिमाग होता है.’ कहते थे. वो जो करने से मना करते थे न बस वही टीप पड़ना है.
9. लाफा
लाफा में क्या है कि मोमेंटम होता है. लाफा क्रिस्प सा होता है. क्षणिक होता है पर पड़ने के बाद क्षण भर को गाल पर ठहरता है. और किसी सूदखोर के क़र्ज़ सा उतरता है.
10. चांटा
चांटा तमाचे के बाद सबसे प्रचलित शब्द है. चांटा पड़े और गाल पर तीन धारियां न दिखने लगें तो वो चांटा नही होता. चांटे के साथ दुखद पहलु ये होता है कि वो कल्लाने के साथ-साथ चन्नाता भी है.

Saturday, 13 August 2016

Hindi Majedar Jokes

 Sugar से बचें . . .
खुद को और अपने जीवन साथी को शूगर से बचाइये ।।
एक 20 वर्ष के विवाहित जोडे ने जब अपने खून की जाँच कराई तो उनको मधुमेह निकला ।
तहकीकात से पता चला कि उनको ये बीमारी एक दूसरे को हनी, स्वीटी, चोकोपी, स्वीटहार्ट, जानू, लड्डू आदि नामो से पुकारने के कारण हुई ।।
इसलिये अपने जीवनसाथी को एलोवीरा,करेला, हींग, हरी मिर्च, प्याज, लहसून, काली मिर्च, लाल मिर्च, अदरक, नीबूं, अमचूर आदि नामों से पुकारे और उसको मधुमेह से बचाइये ।।
जनहित मे जारी ।।
-- बाबा रामदेव के फुफा जी --
.
.
.
.
बनारस के मिश्रा जी को पासपोर्ट बनवाने के लिए फार्म भरने कहा गया
प्रश्न : Enter your Name
मिश्रा जी : बिजेन्द्र नारायण मिसरा
प्रश्न : Provide your PAN Details
मिश्रा जी: "मगही पत्ती, बाबा-180, तुलसी-300, हल्का चूना, डबल कत्था, नवरत्न किमाम , कच्ची  सुपारी, इलायची  और तनिक सफेदी अलग से".
.
.
.
.
 जलते हुए रावण ने भीड से पूछा...
सालो!   तुम्हारी बीवी थोडे ही उठायी थी जो हर साल जलाते हो ।.
.भीड में से एक आदमी :-- हमारी नहीं उठायी थी इसलिए ही तो जलाते है ।
.
.
.
.
Bechaara Husband : शादी से पहले भगवान से माँगा था,
अच्छी पकाने वाली देना!!!
जल्दबाज़ी मे खाना बोलना भूल गया…
.
.
.
 यदि मायावती ने खुद को देवी की बजाय
"हूर" कहा होता तो यकीन मानिए,
अब तक आतंकवादी घटनाओं में
90 फीसदी तक की गिरावट दर्ज हो गयी होती।
.
.
.
.
 "इस देश में इंसान और हिरण मार सकते है,
पर...
गांड नहीं.।"
- आसाराम.
.
.
.
रोडपर इतने गड्ढे हो गए हैं कि…….!
:
:
:
:
:
:
:
:
:
:
घरपर जाने के बाद और धक्के सहन नही होते...................................!
एक अॅक्टीवा चालक महिला..!
.
.
.
.
 गॉव में पटवारी के पीछे एक कुत्ता पड़
गया।
सारे गॉव में भागने के बाद पटवारी पेड़ पर चढ़ गया और
हांफते हुए बोला -
"साले तेरे पास एक इंच भी जमींन
होती न, तो पता चलता की तूने किससे पंगा
लिया है ।"
.
.
.
.
..
एक गुंडा शेविंग और
हेयर कटिंग कराने के लिये
सैलून में गया.
नाई से बोला -”अगर मेरी
शेविंग ठीक से से बिना कटे
छंटे की तो मुहमाँगा दाम
दूँगा !
अगर कहीं भी कट गया तो
गर्दन उड़ा दूंगा !”
नाई ने डर के मारे मना कर दिया.
गुंडा शहर के दूसरे नाइयों के पास गया और वही बात कही.
लेकिन सभी नाईयो ने डर के
मारे मना कर दिया.
अंत में वो गुंडा एक गाँव के
नाई के पास पहुँचा.
वह काफी कम उम्र का लड़का था.
उसने कहा – “ठीक है,
बैठो मैं बनाता हूँ”.
उस लड़के ने काफी बढ़िया
तरीके से गुंडे की शेविंग
और हेयर कटिंग कर दी.
गुंडे ने खुश होकर लड़के
को दस हजार रूपये दिए.
और पूछा – “तुझे अपनी
जान जाने का डर नहीं था क्या ?”
लड़के ने कहा – “डर ? डर
कैसा...?
पहल तो मेरे हाथ में थी…”.
गुंडे ने कहा – “‘पहल तुम्हारे
हाथ में थी’ .. मैं मतलब नहीँ
समझा ?”
लड़के ने हँसते हुये कहा –:
“भाईसाहब,
उस्तरा तो मेरे
हाथ में था…
अगर आपको खरोंच भी
लगती तो आपकी गर्दन
तुरंत काट देता !!!”
बेचारा गुंडा ! यह जवाब
सुनकर पसीने से लथपथ हो
गया।
Moral : जिन्दगी के हर मोड
पर खतरो से खेलना पडता है
नही खेलोगे तो कुछ नही कर
पाओगे.
.
.
.
 एक बार एक नया शादी शुदा जोड़ा घूमने गया,
औरत कुछ दुर पैदल चलने के बाद थककर बैठ गयी
वहाँ एक गधा बंधा हुआ था जिसका लिंग उत्तेजित अवस्था मे लटक रहाँ था ,
औरत लिंग को गौर से देखने लगीं
तभी वहाँ गाँववाला आया उसने देखा तो सोचा औरत को पहाड़ी पर जाने के लिए गधे की जरूरत हे
गाँववाले ने गधे कि तरफ इशारा कर कहा
गाँववाला : लेना हे क्या?
औरत को लगा कि गांव वाला गधे के लिंग की बात कर रहा है ।
औरत शर्माते हुए: नहीं -नहीं मे तो ऐसे ही देख रही थी
गाँववाला : नि:शुल्क सेवा हे लेलो,
आपको परेशानी नहीं होगी 
गधा फटाफट चढ़ जायगा ओर उतर भी जायेगा
औरत घबराकर : मेरी तो अभी अभी शादी हुई है
गाँववाला : तो क्या हुआ यह भी तो आपके लिए ही खडा है ।
अरे छोटू गधे को इधर लेकर आ...
गधे का हिलता हुआ बडा लिंग देख औरत का BP बड़ गया : मुझे माफ कर दो, मुझे नहीं लेना,
गाँववाला : डरो मत मैडम छोटू आपके साथ मे रहेगा
फिर छोटू ने जो आकर कहां , औरत को तो अटैक ही आ गया
छोटू : मैडम आगे के रास्ते से 3 घंटे लगते है , गधे को पिछे से चढा दूँ? 2 घंटे मे निचे उतर आयेगा...

Friday, 12 August 2016

Jokes in Hindi ............. मैंने अपनी बीवी को मार डाला

 दारू   छोड़ने   के   लिए   इरादे   तो   अम्बुजा   सीमेंट   की   तरह   मजबूत   थे
...
...
...
...
कमबख्त   दिल   ही   सरकारी   पुल   निकला...
भर तू
.
.
.
Teacher : " 'Kabutar'  pe sentence banao"...

Student : "RAAT ki pee hui sharab, subah ko _kab-utar_ jaati hai ...pata hi nahi chalta....! "
Teacher: "Get Out"

.
.
.
.
 अध्यापक – भारतीय परिवार के सदस्य
एक दूसरे को प्यार करते है, और एक
दूसरे की परवाह करते हैं।
इसका कोई उदाहरण दो।
.
.
छात्र – उपवास एक करता है और
साबुदाने की खिचडी पूरा परिवार खाता
है।
.
.
.
.
शराब के उस बार के सामने एक छोटा सा तालाब था।
.
झमाझम बारिश हो रही थी
.
और उस बारिश में पूरा भीगा हुआ एक बुजुर्ग आदमी एक छड़ी पकड़े था
.
जिससे बँधा धागा तालाब के पानी में डूबा हुआ था।
.
एक राहगीर ने उससे पूछा: “क्या कर रहे हो बाबा ?”
.
बुजुर्ग: “मछली पकड़ रहा हूँ।”
.
राहगीर बारिश में भीगे उस बुजुर्ग को देख बहुत दुखी हुआ,
.
बोला: “बाबा, मैं बार में व्हिस्की पीने जा रहा हूँ।
.
आओ तुम्हें भी एक पैग पिलाता हूँ।
.
ऐंसे तो तुम्हे सर्दी लग जायेगी। आओ अंदर चलें। ”
.
.
बार के गर्म माहौल में बुजुर्ग के साथ व्हिस्की पीते महाशय ने बुजुर्ग से पूछा:
“हाँ तो, बाबा, आज कितनी मछलियाँ फसीं ?”
.
बुजुर्ग बोला” तुम आठवीं मछली हो, बेटा! “
.
.
.
.
 कितना रोया था वो लड़का महबूबा को मोबाइल गिफ्ट करके...
.
.
.
.
जब रात 3 बजे तक वो सुनता रहा.. आप के द्वारा डायल नम्बर दूसरी लाइन पर व्यस्त है
.
.
.
.
आवश्यक सुचना
बारिश का मौसम है...
"वाहन चालन" और "नारी दर्शन" एक साथ न
करें ! इस चक्कर में "देव दर्शन" भी हो सकते हैं !!
नज़र हटी, सब्जी पूड़ी बटी...
जनहित में जारी.
.
.
.
Aaj Ka Vichar...
वाइफ की बातें
और पंडित की कथा
एक जैसी होती हैं
समझ भले कुछ न आये पर ध्यान लगाकर सुनने का नाटक ज़रूर करना पड़ता है
.
.
.
.
मां छोटी मुसीबतों में काम आती है
पिता बड़ी मुसीबतों में
जैसे अगर चींटी काटी तो उई मां
और अगर शेर आ गया तो अरे बाप रे
.
.
.
.
एक बार शर्मा जी अपनी बीवी के साथ
कहीं जा रहे थे।
रास्ते में उसे एक दोस्त मिला
जिसे पुलिस ने पकड़ रखा था।
शर्मा जी ने उससे पूछा:- "क्या हुआ?"
दोस्त:- मैंने अपनी बीवी को मार डाला।
शर्मा जी:- सजा कितनी मिली?
दोस्त:- 6 हफ्ते .........
शर्मा जी ने आव देखा ना ताव
पुलिस की पिस्तौल छीनी और अपनी पत्नी को गोली मार दी।
फिर पुलिस से बोले:- "चलो मैं भी चलता हूँ, 6 हफ्ते की तो बात है।".
दोस्त:- अबे पूरी बात तो सुन लेता
" 6 हफ्ते बाद मुझे फांसी है।

Thursday, 11 August 2016

Jokes in Hindi .................. a woman, alone in the house

 घर लौटने पर पति ने पाया कि घर बुरी तरह बिखरा हुआ है। बच्चे बाहर अपने नाइट सूट में खेल रहें हैं,उनके खिलौने फैले हुए हैं,डाइनिंग टेबल पर खाना खुला पडा है कपडे सोफे और कुर्सियों पर लटके हुए हैं। नमकीन व चीनी कालीन पर बिखरी पडी है। पति घबरा गया। उसे लगा कि पत्नी बहुत बीमार तो नहीं है ।जब वह कमरे में पहुँचा ,तो देखा पत्नी आराम से कुर्सी पर बैठ कर पत्रिका पढ रही है। जैसे ही पति पर निगाह पडी वह मुस्कुरा कर बोली---कहो कैसा रहा दिन?
अकबकाए पति ने पूछा----क्या हुआ ? यह क्या हाल बना रखा है?
पत्नी का जवाब था----तुम अॉफिस से लौटने के बाद रोज पूछते हो ना कि मैने आज क्या किया? तो आज मैने कुछ नहीं किया।
.
.
.
 इस संसार में सिर्फ एक पानवाला ही सच्चा इंसान है.
...
...
जो हमसे पूछकर चूना लगाता है...
.
.

बाकी तो साले सब बिना पूछे ही चूना लगा देते है.
.
.
.
हस्बैंड : जब मैं
तुम पर चिल्लाता हूँ तब
तुम अपना गुस्सा किस पर
निकालती हो ??
.
.
.
वाइफ : टॉयलेट साफ़ करके
.
.
हस्बैंड : हाहाहाहा ,
बेवकूफ औरत वो कैसे ?
.
.
.
वाइफ : टॉयलेट आपके
टूथब्रश से साफ़
करती हूँ..!!
हस्बैंड_ अभी तक बेहोश है .
.
.
.
.
 सीट का ऑफर
एक साहब सुबह - सुबह ऑफिस जाने
के लिए बस में चढे तो कंडेक्टर ने उनसे
मुस्कराते हुए पूछा , ' कल रात आप
ठीक -ठाक घर तो पहुँच गए थे न सर ?'
साहब (आश्चर्य से )
कियो ? कल रात को मुझे क्या हो गया
हो गया था ?
कंडेक्टर : एकदम टुन्न थे सर आप ।
साहब ( गुस्से से ) : अच्छा , यह तुम
कैसे कह सकते हो ? मैने तो तुमसे
बात तक नही की थी ?
कंडेक्टर : ऐसा है सर जी , कल
रात जब आप बस में बैठे थे , तो
एक मेडम बस में चढ़ी थी और
आपने उठकर उन्हें अपनी सीट
ऑफर की थी !
साहब : तो इसमे क्या हो गया ? यह
तो करना ही चाहिए । इसमें मेरे नशे
मेँ होने का क्या सम्बंध ? महिला
को सीट ऑफर करना गुनाह है क्या ?
कंडेक्टर : गुनाह तो नही है सर , पर
उस समय बस में केबल आप दो ही
पैसेंजर थे । और आपने सारा सफर
खड़े होकर किया ।
.
.
.
लडका- तू व्हाट्सएप्प पर है के?
लडकी - ना, मैं तो म्हारै घरां हूँ..
.
लड़का - मैरो मतलब है, व्हाट्सएप्प यूज करै है के?
लड़की - ना रै, मैं तो फेयर लवली यूज करुं हूँ..
.
लड़का - अरै बावली, व्हाट्सएप्प चलावै है के?
लड़की - ना रै बावला, मेरै कनै तो साईकल है, बा ही चलाऊँ हूँ..
.
लडका- अरै मेरी माँ, व्हाट्एप्प चलाणो आवै है के तनै?
लडकी - तू चला लिए, मैं पीछै बैठ ज्याऊँगी...
.
.
.
.
एक #पाकिस्तानी मोहतरमा सज-धज कर अपने शौहर से बोली,
जानू बताओ तो जरा मैं कैसी लग रही हूँ.
शौहर बोला
खुदा कसम ऐसी लग रही है कि दिल करता है तुझे हिंदुस्तान में फेंक आऊँ.
बेगम लरजाते हुए बोली ,
हाय अल्लाह...
साफ़ साफ़ कहो ना कि मैं #बम्ब लग रही हूँ.....!
.
.
.
.
अगर आपकी पत्नी दो सिम कार्ड वाला फोन प्रयोग करती है तो केवल wife नाम से ही save करें।
Wife-1 और wife-2 के नाम से कभी save ना करें।
ये बहुमूल्य सलाह ICU में भर्ती रमेश भाई ने वेंटीलेटर पर थोडा होश आने पर अभी अभी दी है... !!
.
.

जनहित में जारी   !!!…
.
.
.
Modern day ramayan_
Door bell rings in a flat & a woman, alone in the house, opens the door
Beggar : Amma, please give me something
Woman : Here take
Beggar : Please come out & give
Woman : "Ok"
Beggar : Ha Ha Ha Ha i m ravan
Woman : Ha Ha Ha i m not sita, i m the kaamwali
Beggar : Ha Ha, even better, i still regret carrying away sita, mandodari will b happy, v want a maid, i m going to kidnap u
Woman : Ha Ha Ha, only ram came searching for sita, if i go missing, _ALL_people in the building will come searching for me
Ravan runs back
"Maid" in india

Wednesday, 10 August 2016

Jokes in Hindi .........जानूं कैसे हो?

  पत्नी : जानूं कैसे हो?
पति अपनी डायरी खोल के देखने लगा।
पत्नी : जानूं क्या कर रहे हो?
पति : देख रहा हूं पिछली बार तुम्हारे जानूं बोलने पर कितना खर्चा हुआ था।
.
.
.
.
 बुढ़ापे की निशानी क्या है ?
झुर्रियाँ,
नहीं,
दवाईयां,
नहीं,
गंजापन ,
नहीं,
तो फिर क्या है?
जब बीबी शक करना बंद कर दे .
.
.
.
.
फ्रेंडशिप डे में फेल होने वाले लड़के-लड़की रक्षाबंधन सेलिब्रेट करेंगे।
.
और पास होने वाले वैलेंटाइन डे।
.
विशेष योग्यता रखने वाले *बाल दिवस* भी मना सकते हैं ।।।
.
.
.
.
 लड़की – “I Love You !
"
”लड़का – “I Love You Too !
"
”लड़की – “कितना प्यार करते हो ?
"
”लड़का – “जितना तुम करती हो !
"
”लड़की – “कमीने …. इसका मतलब तू
"
भी टाइम पास कर रहा है : .
.
.
.
.
 नई नई शादी के बाद शेर ने शेरनी से पूछा...
- तुम्हारा शादी से पहले किसी से अफेयर था क्या..?
शेरनी ने मंद मंद मुस्कराते हुए कहा...
- तुम्हारी इस बात पर मुझे एक शेर याद आ गया..
.
.
.
.
आज का ज्ञान

जब पाप का घड़ा भर जाए,
तो...
.
.
.
घड़ा हटा कर वहाँ ड्रम लगा दें.
.
.
.
.
 जिस नजाकत से ये लहरे मेरे पैरों को छूती है...
........,,...
"यकीन नही होता इन्होने कभी कश्तियाँ डूबाई होगी.".!!
.
.
.
 ये जो 2-3 दिनों से friendship day की बधाई
दे रहे हैं ....
.
.
.
.
अगर कल इनसे 10000 रुपया ऊधार माँगलू तो सब हकीकत सामने आ जाएगी
.
.
.
 सामाजिक भेदभाव का बेहतरीन उदाहरण:-
.
मिसेज़ ओबेरॉय के हस्बैंड ड्रिंक करते है।
सरला का पति शराब पीता है।
गंगुबाई का आदमी बेवड़ा है।
.
.
.
.
 Wife , "Tell me who is STUPID ? You or Me ?"
Husband (Calmly), "Dear everyone knows that, you are so intelligent, you will never marry a STUPID person."
What a decent way of telling facts ! 

Sunday, 7 August 2016

नाग पंचमी पर विशेष ---- मात्र एक ही दिन खुलता है यह मंदिर -- नागचंद्रेश्वर मंदिर

नाग पंचमी पर विशेष ---- मात्र एक ही दिन खुलता है यह मंदिर --नागचंद्रेश्वर मंदिर








भारत में नागों के अनेक मंदिर हैं, इन्हीं में से एक मंदिर है उज्जैन स्थित नागचंद्रेश्वर का,जो की उज्जैन के प्रसिद्ध महाकाल मंदिर की तीसरी मंजिल पर स्तिथ है। इसकी प्रमुख  बात यह है कि यह मंदिर साल में मात्र  एक दिन नागपंचमी (श्रावण शुक्ल पंचमी) पर ही दर्शनों के लिए खोला जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन नागराज तक्षक स्वयं मंदिर में मौजूद रहते हैं।




नागचंद्रेश्वर मंदिर में  11वीं शताब्दी की एक अद्भुत प्रतिमा है , इसमें फन फैलाए नाग के आसन पर शिव-पार्वती बैठे हैं। कहते हैं यह प्रतिमा नेपाल से यहां लाई गई थी। उज्जैन के अलावा दुनिया में कहीं भी ऐसी प्रतिमा नहीं है। माना जाता है कि पूरी दुनिया में यह एकमात्र ऐसा मंदिर है, जिसमें विष्णु भगवान की जगह भगवान भोलेनाथ सर्प शय्या पर विराजमान हैं। मंदिर में स्थापित प्राचीन मूर्ति में शिवजी, गणेशजी और माँ पार्वती के साथ दशमुखी सर्प शय्या पर विराजित हैं।




 माना जाता है कि परमार राजा भोज ने 1050 ईस्वी के लगभग इस मंदिर का निर्माण करवाया था। इसके बाद सिं‍धिया घराने के महाराज राणोजी सिंधिया ने 1732 में महाकाल मंदिर का जीर्णोद्धार करवाया था। उस समय इस मंदिर का भी जीर्णोद्धार हुआ था। कहा जाता है इस मंदिर में दर्शन करने के बाद व्यक्ति किसी भी तरह के सर्पदोष से मुक्त हो जाता है





Saturday, 6 August 2016

Raja Janak

जनक के जीवन में एक उल्लेख है। जनक रहते तो राजमहल में थे, बड़े ठाठ— बाट से। सम्राट थे और साक्षी भी। अनूठा जोड़ था। सोने में सुगंध थी। बुद्ध साक्षी हैं यह कोई बड़ी महत्वपूर्ण बात नहीं। महावीर साक्षी हैं यह कोई बड़ी महत्वपूर्ण बात नहीं, सरल बात है। सब छोड़ कर साक्षी हैं। जनक का साक्षी होना बड़ा महत्वपूर्ण है। सब है और साक्षी हैं।

एक गुरु ने अपने शिष्य को कहा कि तू वर्षों से सिर धुन रहा है और तुझे कुछ समझ नहीं आती। अब तू मेरे बस के बाहर है। तू जा, जनक के पास चला जा। उसने कहा कि आप जैसे महाज्ञानी के पास कुछ न हुआ तो यह जनक जैसे अज्ञानी के पास क्या होगा? जो अभी महलों में रहता, वेश्याओं के नृत्य देखता; और मैंने तो सुना है कि शराब इत्यादि भी पीता है। आप मुझे कहां भेजते हैं? लेकिन गुरु ने कहा, तू जा!

गया शिष्य। बेमन से गया। न जाना था तो गया, क्योंकि गुरु की आज्ञा थी तो आज्ञानवश गया। था तो पक्का कि वहां क्या मिलेगा। मन में तो उसके निंदा थी। मन में तो वह सोचता था, उससे ज्यादा तो मैं ही जानता हूं। और जब वह पहुंचा तो संयोग की बात, जनक बैठे थे, वेश्याएं नृत्य कर रही थीं, दरबारी शराब ढाल रहे थे। वह तो बड़ा ही नाराज हो गया। उसने जनक को कहा, महाराज, मेरे गुरु ने भेजा है इसलिए आ गया हूं। भूल हो गई है। क्यों उन्होंने भेजा है, किस पाप का मुझे दंड दिया है यह भी मैं नहीं जानता। लेकिन अब आ गया हूं तो आपसे यह पूछना है कि यह अफवाह
आपने किस भांति उड़ा दी है कि आप ज्ञान को उपलब्ध हो गए हैं? यह क्या हो रहा है यहां? यह राग—रंग चल रहा है। इतना बड़ा साम्राज्य, यह महल, यह धन—दौलत, यह सारी व्यवस्था, इस सबके बीच में आप बैठे हैं तो ज्ञान को उपलब्ध कैसे हो सकते हैं? त्यागी ही ज्ञान को उपलब्ध होते हैं।

जनक ने कहा, तुम जरा बेवक्त आ गए। यह कोई सत्संग का समय नहीं है। तुम एक काम करो, मैं अभी उलझा हूं। तुम यह दीया ले लो। पास में रखे एक दीये को दे दिया और कहा कि तुम पूरे महल का चक्कर लगा आओ। एक—एक कमरे में हो आना। मगर एक बात खयाल रखना, इस महल की एक खूबी है; अगर दीया बुझ गया तो फिर लौट न सकोगे, भटक जाओगे। बड़ा विशाल महल था। तो दीया न बुझे इसका खयाल रखना। सब महल को देख आओ। तुम जब तक लौटोगे तब तक मैं फुरसत में हो जाऊंगा, फिर सत्संग के लिए बैठेंगे।

वह गया युवक उस दीये को लेकर। उसकी जान बड़ी मुसीबत में फंसी। महलों में कभी आया भी नहीं था। वैसे ही यह महल बड़ा तिलिस्मी, इसकी खबरें उसने सुनी थीं कि इसमें लोग खो जाते हैं, और एक झंझट। और यह दीया अगर बुझ जाए तो जान पर आ बने। ऐसे ही संसार में भटके हैं, और संसार के भीतर यह और एक झंझट खड़ी हो गई। अभी संसार से ही नहीं छूटे थे और एक और मुसीबत आ गई।

लेकिन अब जनक ने कहा है और गुरु ने भेजा है तो वह दीये को लेकर गया बड़ा डरता—डरता। महल बड़ा सुंदर था; अति सुंदर था। महल में सुंदर चित्र थे, सुंदर मृर्तियां थीं, सुंदर कालीन थे, लेकिन उसे कुछ दिखाई न पड़ता। वह तो एक ही चीज देख रहा है कि दीया न बुझ जाए। वह दीये को सम्हाले हुए है। और सारे महल का चक्कर लगा कर जब आया तब निश्चित हुआ। दीया रख कर उसने कहा कि महाराज, बचे। जान बची तो लाखों पाए। बुद्ध लौट कर घर को आए। यह तो एक जान पर ऐसी मुसीबत हो गई, हम फकीर आदमी और यह महल जरूर उपद्रव है, मगर दीये ने बचाया। सम्राट ने कहा, छोड़ो दीये की बात; तुम यह बताओ, कैसा लगा? उसने कहा, किसको फुरसत थी देखने की? जान पर फंसी थी। जान पर आ गई थी। दीया देखें कि महल देखें? कुछ देखा नहीं। सम्राट ने कहा, ऐसा करो, अब आ गए हो तो रात रुक जाओ। सुबह सत्संग कर लेंगे। तुम भी थके हो और यह महल का चक्कर भी थका दिया है। और मैं भी थक गया हूं।
बड़े सुंदर भवन में बड़ी बहुमूल्य शय्या पर उसे सुलाया। और जाते वक्त सम्राट कह गया कि ऊपर जरा खयाल रखना। ऊपर एक तलवार लटकी है। और पतले धागे में बंधी है—शायद कच्चे धागे में बंधी हो। जरा इसका खयाल रखना कि यह कहीं गिर न जाए। और इस तलवार की यह खूबी है कि तुम्हारी नींद लगी कि यह गिरी।
उसने कहा, क्यों फंसा रहे हो मुझको झंझट में? दिन भर का थका—मादा जंगल से चल कर आया, यह महल का उपद्रव और अब यह तलवार! सम्राट ने कहा, यह हमारी यहां की व्यवस्था है। मेहमान आता है तो उसका सब तरह का स्वागत करना। रात भर वह पड़ा रहा और तलवार देखता रहा। एक क्षण को पलक झपकने तक में घबडाए। कि कहीं तलवार भ्रांति से भी समझ ले कि सो गया और टपक पड़े तो जान गई। सुबह जब सम्राट ने पूछा तो वह तो आधा हो गया था सूखकर, कि कैसी रही रात? बिस्तर ठीक था?
उसने कहा, कहा की बातें कर रहे हो! कैसा बिस्तर? हम तो अपने झोपड़े में जहां जंगल में पड़े रहते थे वहीं सुखद था। ये तो बड़ी झंझटों की बातें हैं। रात एक दीया पकड़ा दिया कि अगर बुझ जाए तो खो जाओ। अब यह तलवार लटका दी। रात भर सो भी न सके, क्योंकि अगर यह झपकी आ जाए.. .उठ—उठ कर बैठ जाता था रात में। क्योंकि जरा ही डर लगे कि झपकी आ रही है कि तलवार टूट जाए। कच्चे धागे में लटकी है। गरीब आदमी हूं कहां मुझे फंसा दिया! मुझे बाहर निकल जाने दो। मुझे कोई सत्संग नहीं करना।
सम्राट ने कहा, अब तुम आ ही गए हो तो भोजन तो करके जाओ। सत्संग भोजन के बाद होगा। लेकिन एक बात तुम्हें और बता दूं कि तुम्हारे गुरु का संदेश आया है कि अगर सत्संग में तुम्हें सत्य का बोध न हो सके तो जान से हाथ धो बैठोगे। शाम को सूली लगवा देंगे। सत्संग में बोध होना ही चाहिए।
उसने कहा, यह क्या मामला है? अब सत्संग में बोध होना ही चाहिए यह भी कोई मजबूरी है? हो गया तो हो गया, नहीं हुआ तो नहीं हुआ। यह मामला…। तुम्हें राजाओं—महाराजाओं का हिसाब नहीं मालूम। तुम्हारे गुरु की आज्ञा है। हो गया बोध तो ठीक, नहीं हुआ बोध तो शाम को सूली लग जाएगी।
अब वह भोजन करने बैठा। बड़ा सुस्वादु भोजन है, सब है, मगर कहां स्वाद? अब यह घबड़ाहट कि तीस साल गुरु के पास रहे तब बोध नहीं हुआ, इसके पास एक सत्संग में बोध होगा कैसे? किसी तरह भोजन कर लिया। सम्राट ने पूछा, स्वाद कैसा— भोजन ठीक—ठाक? उसने कहा, आप छोड़ो। किसी तरह यहां से बच कर निकल जाएं, बस इतनी ही प्रार्थना है। अब सत्संग हमें करना ही नहीं है।
सम्राट ने कहा, बस इतना ही सत्संग है कि जैसे रात तुम दीया लेकर घूमे और बुझने का डर था, तो महल का सुख न भोग पाए, ऐसा ही मैं जानता हूं कि यह दीया तो बुझेगा, यह जीवन का दीया बुझेगा यह बुझने ही वाला है। रात दीये के बुझने से तुम भटक जाते। और यह जीवन का दीया तो बुझने ही वाला है। और फिर मौत के अंधकार में भटकन हो जाएगी। इसके पहले कि दीया बुझे, जीवन को समझ लेना जरूरी है। मैं हूं महल में, महल मुझमें नहीं है।
रात देखा, तलवार लटकी थी तो तुम सो न पाए। और तलवार प्रतिपल लटकी है। तुम पर ही लटकी नहीं, हरेक पर लटकी है। मौत हरेक पर लटकी है। और किस भी दिन, कच्चा धागा है, किसी भी क्षण टूट सकता है। और मौत कभी भी घट सकती है। जहां मौत इतनी सुगमता से घट सकती है वहां कौन उलझेगा राग—रंग में न: बैठता हूं राग—रंग में; उलझता नहीं हूं।
अब तुमने इतना सुंदर भोजन किया लेकिन तुम्हें स्वाद भी न आया। ऐसा ही मुझे भी। यह सब चल रहा है, लेकिन इसका कुछ स्वाद नहीं है। मैं अपने भीतर जागा हूं। मैं अपने भीतर के दीये को सम्हाले हूं। मैं मौत की तलवार को लटकी देख रहा हूं। फांसी होने को है। यह जीवन का पाठ अगर न सीखा, अगर इस सत्संग का लाभ न लिया तो मौत तो आने को है। मौत के पहले कुछ ऐसा पा लेना है जिसे मौत न छीन सके। कुछ ऐसा पा लेना है जो अमृत हो। इसलिए यहां हूं सब, लेकिन इससे कुछ भेद नहीं पड़ता।
यह जो जनक ने कहा : महल में हूं महल मुझमें नहीं है; संसार में हूं संसार मुझमें नहीं है, यह ज्ञानी का परम लक्षण है। वह कर्म करते हुए भी किसी बात में लिप्त नहीं होता। लिप्त न होने की प्रक्रिया है, साक्षी होना। लिप्त न होने की प्रक्रिया है, निस्तर्षमानस:। मन के पार हो जाना।
जैसे ही तुम मन के पार हुए, एकरस हुए। मन में अनेक रस हैं, मन के पार एकरस। क्योंकि मन अनेक है इसलिए अनेक रस हैं।  
                             

Jokes ....... Raseele Damdar New Hindi Chutkule

 ससुर : आइए दामाद जी, आज
अचानक कैसे दर्शन दे दिए ??
दामाद : आपकी बेटी से झगड़ा हो
गया था, वो बोली जहन्नुम में जाओ !!
.
.
.
.
पति: कहाँ गायब थी 4 घंटे से?
बीवी: मॉल में गयी थी, शॉपिंग करने.
पति: क्या क्या लिया?
बीवी: एक हेयर क्लिप और 45 सेल्फी .
.
.
.
.
.
शादी का लडडू खाकर लोग तब पछताते है,
.
.

जब बाहर नई-नई मिठाईया दिखाई देती है,.
.
.
.
.
चौधराइन ने चौधरी से कहा...
"अब तू हुक्का मत पिया कर..."
चौधरी बोला...
"रै बावली... तन्नै  के पता...
इसमें तीन देवता निवास करैं सैं...
नीचे जल देवता, बीच में पवन देव...
और ऊपर अग्नि देवता...!!"
अब चौधरी हुक्का पीता है, और...
चौधराइन हाथ जोड़ के बैठी रहती है...!!
.
.
.
.
"दाऊद बम ब्लास्ट करके भाग गया..."
"माल्या 9000 करोड़ लेके भाग गया.."
.
.
.
और पुलिस पकड़ेगी किसको??
जो "हेलमेट" नहीं पहनते..!
.
.
.
.
जो लोग कहते हैं
औरतें कमज़ोर होती हैं,

सर घुमा के कहीं भी देखिए ज़रा।
हर तरफ दीवारें
‘मर्दाना कमज़ोरी के इश्तेहारों से पटी पड़ी हैं ।
सारा भ्रम टूट जायेगा !
.
.
.
.
गुरु :   चाणक्य ने कहा था..
आपको एक ही दुश्मन से
बार-बार युद्ध नही लड़ना चाहिए
वरना आप अपने तमाम 'युद्ध कौशल'
उसे सिखा देंगे।
पति पत्नी के संबंधो में भी
यही होता है।
दोनों योद्धा जिन्दगी भर
लड़ते-लड़ते एक दुसरे के
वारों से इतना परिचित हो जाते हैं
कि युद्ध जिन्दगी भर
चलता रहता है
पर हल कुछ निकलता नही।
शिष्य :  तो फिर गुरुजी, क्या करना चाहिए?
गुरु :  दुश्मन
बदलते
रहना 
चाहिये।
.
.
.
.
 इसी बीच केजरीवाल जी का ट्वीट आया है कि.....
मोदी जी ने उन्हें अभी तक नही मारा....
.
.
.
.
.
.
इसलिए कि वो मुझें तड़पा तड़पा कर मारेंगे !!.
.
.
.
.
खाना खाने बैठे पति ने पत्नि को आवाज लगाई -
"अरी सुनती हो...भाग्यवान...! ये जो तुमने सब्जी बनाई है इसे क्या कहते हैं ? "
पत्नि :- " क्यों किसलिये पूछ रहे हो ? "
.
पति :- " अरे भाई मुझसे भी तो स्वर्ग में पूछा जायेगा...........
क्या खा के मरे थे !!
.
.
.
.
पत्नी  : "घर क्यों नहीं आये अब तक?"
पति : "जाम लगा है"
पत्नी  : "ओह!! कब तक आओगे फिर?"
पति : "अभी तो पहला ही लगा है"
.
.
.
.
.
डॉ.: ( पेशंट के पति से)
आज कैसी तबियत है
आपकी पत्नी की ?
पति: ठीक है डॉक्टर;
सुबह तो थोडा लड़ी भी !!
 

Jokes ............ कॉन्फिडेन्स

बन्दे का कॉन्फिडेन्स देखिये......
मनपसंद मरम्मत का काम होने की खुशी में एक सज्जन ने मिस्त्री को 1000 रुपये की बख्शीश देते हुए कहा :
"जा, तू भी क्या याद करेगा..!!
आज शाम को वाइफ को सिनेमा ले जा और उसके बाद किसी रेस्तरां में खाना खा...!!"
शाम को दरवाजे की घंटी बजी
दरवाजा खोला तो मिस्त्री साफ-सुथरे कपडे पहने खडा था...!!!
सज्जन ने उसे सिर से पैर तक देखा और पूछा :
"कहिये मिस्त्री जी?"
मिस्त्री:जी,
आपकी वाइफ को लेने आया हूं ......!!

Jokes.................. प्रेम पत्र

प्रेम पत्र


Love letter by a Kanpuriya
कानपुर की मनोहर कहानियां
छठवीं किस्त
शोभा के नाम, रिंकू गुप्ता का प्रेम पत्र
ॐ श्री गणेशाय नमः
प्यारी शोभा,
यहां सब कुछ कुशल मंगल से हैं, आशा करते हैं कि तुम्हारे वहां भी सब कुछ कुशल मंगल ही होगा. आगे समाचार यह है कि हम तुम्हारे प्रेम में पगला के, ये वाला ख़त भी अपने खून से लिख रहे हैं, पिछले चार ख़त भी खून से लिखे थे पर शायद तुमने उसे लाल रंग के जेल पेन की स्याही समझ लिया.

इस मर्तबा बताना जरूरी था क्योंकि तुम तो हमारे प्यार को नोटिस ही नहीं कर रही हो और हमें यहां खून से ख़त लिख-लिख के कमज़ोरी चढ़ गई है. दोस्त अलग डरा रहे हैं कि टिटनेस हो जाएगा. लेकिन हमें परवाह नहीं शोभा. इससे ज्यादा खून तो कानपुर में मच्छर ही चूस लेते हैं. डेंगू, चिकनगुनिया क्या टिटनेस से कम जहर बीमारी है ?

शोभा, तुम बस हमारे किसी एक प्रेम पत्र का जवाब तो दे दो. जब से तुम्हारे प्रेम में पड़े हैं दुकानदारी में एकदम मन नहीं लगता है. कल रिन साबुन और व्हील के वाशिंग पाउडर का हिसाब गड़बड़ा गया तो पिता जी ने हमें कूट दिया. कहिते हैं कि बनिया आदमी को प्यार करना है तो बहीखाता से करे, फुटकर, चवन्नी अठन्नी से करे. उस पर जब मम्मी ने कहा कि तुम्हें इस उमर में बाप से लप्पड़ खाना शोभा देता है? तो मम्मी कसम हमारी रुलाई छूट गई. शोभा, ऐसा लगता है हर जगह तुम्हारा ही ज़िक्र हो रहा है.
हम तुमको हमेशा ख़ुश रखेंगे. विकास अगरवाल का चक्कर छोड़ दो वो तुमको कतई ख़ुश नहीं रख पाएगा. कितना भी अंग्रेजी बोल ले, काम तो कॉल सेंटर में ही करता है. चाल चलन भी ठीक नहीं है, एक नंबर का लौंडियाबाज लड़का है. अक्सर सिफी के इंटरनेट कैफे जाके बंद वाले केबिन में बैठकर बीस रुपया घंटा का इंटरनेट करता है. रोज़ शाम पीपीएन कॉलेज और शीलिंग हाउस के बाहर तफ़री काटने जाता है. अब ये तो सबको पता है कि वहां की लडकियां कित्ती छोटी स्कर्ट पहनती हैं.

हमें अंग्रेज़ी भले नहीं आती लेकिन करेक्टर के सच्चे हैं और किसी के नौकर नहीं हैं, हमारी ख़ुद की दुकान है, हमसे शादी करके रानी की तरह रहोगी, दुकान से जितना जी चाहे फ़्री में क्रीम, शैम्पू, पाउडर इस्तेमाल करना, दाल, चावल, शक्कर, चाय, दूध, परचून की कभी कमी नहीं रहेगी. घर में जनरेटर है, तीन फेस से बिजली लगी है, ख़ुद की अस्सी फुट गहरी बोरिंग खुदी है, बाप की तबियत अक्सर ख़राब रहती है और हम घर के अकेले लड़के हैं. शादी कर लोगी तो हमाए साथ स्वरुप नगर में आराम से रहोगी, अभी बर्रा दो में रहती हो, वहां कितनी किचकिच है. जगह जगह भैंस के चट्टे खुल गए हैं और नाला अलग महकता है. अभी हाजी मुश्ताक सोलंकी स्वरुप नगर से विधायक हो जाएंगे तो छेत्र का विकास और बम्पर हो जाएगा.
शोभा आख़िर में बस यही कहना चाहते हैं कि प्यार किया नहीं जाता, हो जाता है. और तुमसे मिलकर न जाने क्यों और भी कुछ याद आता है. याद तेरी आएगी, मुझको बड़ा सताएगी, जिद ये झूठी तेरी, मेरी जान लेके जाएगी. बस इतना समझ लो कि तुम्हारे बिना रहना दुस्वार हो गया है. या तो जेड स्क्वायर मॉल आकर हमसे मिल लो, या फिर हमें सल्फास की गोली ख़रीद कर दे दो, घर में फिनाइल है, पर क्या पता फिनाइल पीने से जान निकले न निकले, ख़ाली झाग छोड़ के बिहोश हो जाएं.
इसी के साथ चिट्ठी रख रहे हैं. कलाई पिरा रही है, कमज़ोरी लग रही है. उत्तर की आस में.
विशाल गुप्ता

Wednesday, 3 August 2016

Jokes .............. गर्लफ्रेंड/वाइफ की बातें

 एक श्रीवास्तव जी ट्रेन में सफ़र कर रहे थे----------------
वो एक्सप्रेस ट्रेन करीब-करीब खाली ही थी।
श्रीवास्तव जी जिस एसी-3 कोच में बैठे थे,
उसमें बहुत कम यात्री थे।
उनके वाले पोर्शन में भी उनके अलावा
दूसरा कोई यात्री नहीं था।तभी
एक महिला कोच में उनके वाले
पोर्शन में आई और श्रीवास्तव जी
से बोली- "मिस्टर, तुम्हारे पास जो भी मालपानी, रुपया, पैसा, सोना, घड़ी, मोबाइल है,
सब मुझे सौंप दो। नहीं तो मैं चिल्लाऊँगी
कि तुमने मेरे साथ छेड़छाड़ की है।
"श्रीवास्तव् जी ने शांति से अपने ब्रीफकेस
में से एक कागज निकाला और उस पर लिखा- "मैं मूक-बधिर हूँ। न बोल सकता हूँ
और न ही सुन सकता हूँ। तुम्हें जो कुछ कहना है, इस कागज पर लिख दो।"महिला ने उनसे
जो कहा था, वह उस कागज पर
लिखकर दे दिया।श्रीवास्तव जी ने
उस कागज को मोड़कर हिफाजत से
अपनी जेब में रखा और बोले-
"हाँ, अब चिल्लाओ कि मैंने तुम्हारे साथ छेड़छाड़ की है। अब मेरे पास तुम्हारा लिखित बयान है।
"यह सुनते ही महिला वहाँ से यूँ भागी जैसे उसने भूत देख लिया हो !!!!

.
.
.
.
एडमिन का मतलब
.
A--- आवारा
D--- ढोंगी
M--- मतलबी
I---- इगो वाला
N--- नकटा ... 
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
नहीं होता है 
.
.
.
.
A--- आदरणीय
D--- धर्मात्मा
M--- मस्त
I--- इमानदार
N--- नाइस
होता है...
सारे व्हॉट्सअप एडमिन को समर्पित..
बिन पगारी फुल अधिकारी  
.
.

एक बार अपना admin पानी पी रहा था
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
अब क्या  admin पानी भी नहीं पी सकता!!
हर बात में joke...!
जान ले लो admin की
.
.

आज सुबह एडमिन के मन मे
विचार आया ,
आज कुछ तुफानी करते है


साईकिल निकाली और पेट्रोल भराने चले गए....




इसमें हसनेवाली क्या बात है साथ मैं बोतल लेके गये.... 
हद होगई हर बात पे admin की खिल्ली उड़ाते हो 
.
.

Admin पर बिजली का तार गिर गया.
Admin तड़प तड़प के मरने ही वाला था कि
अचानक...........
उसे याद आया बिजली तो 2 दिन से बंद है.
वापस उठकर, हँसते हुए बोला,
साला,,,।।। याद नहीं आता तो मर ही   जाता  ।।।। 
.
.
.

एडमिन (admin) के हाथ में नया फोन देखकर
दोस्त बोला:-
"नया फोन कब
ख़रीदा?"
एडमिन :-
" नया नहीं,
गर्लफ्रेंड का है।"
दोस्त :-
"गर्लफ्रेंड का फोन क्यों ले
आया?"
एडमिन:-
" रोज कहती थी,
मेरा फोन
नहीं उठाते!
आज मौका मिला,
उठा  लाया.
Humare admin ki baat nirali .
.
.
.

Admin  जलेबी बेच रहा था लेकिन बोल रहा था ‘आलू ले लो आलू….!’
संता: पर यह तो जलेबी है.
Admin : चुप हो जा, वर्ना मक्खियां आ जाएंगी.
.
Very intelligent u know..
.
Special for admin
इंस्पेक्टर साहब, कब मिलेंगे हमारे ग्रुप के एड्मिन? आज चार दिन हो गए हैं....
इंस्पेक्टर: मिलेंगे मिलेंगे, जल्द ही मिल जायेंगे. देखिये, कल ही हमें हाई वे के पास से उनके मोज़े मिले हैं, वो हमने अपने खोजी कुत्ते को सुंघाए हैं....

बस कुत्ते के होश में आते ही हम खोज शुरू कर देंगे.....
 
HAPPY ADMIN DAY
bus  has k dusre group k admin ko chipka dena.
.
.
.

admin ke liye jackpot
एडमिन टॉयलेट में बैठा था, सामने लिखा था। 'कृपया पानी का ज्यादा से ज्यादा इस्तमाल करे'
एडमिन बैठे बैठे चार डब्बे पानी पी गया
.
.

आज हमारे एडमिन ने फिर कमाल
कर दिखाया ।
वह बैंक में जा कर सो गये  ,
क्योंकि वहाँ  लिखा था कि यहाँ
सोने पर लोन दिया जाता है ।
.
.

           
हंस क्या रहे हो।
दुसरे एडमिन को सेंड कर उसका भी मन हो रहा होगा मजा लेने को।। इस संदेश को 3 ग्रुपों में  भेजकर देखें | सारे अक्षर खुल जाएंगे और आप पाएंगे कि आप और आपके जीवनसाथी का नाम लिखा है 
यह कोई मजाक नहीं बल्कि इसका जादू आपको अचम्भित कर देगा.....
███████████████████████████████████████████████████████████████████████████████████████████████████████████████████████████████ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █ █████████████████████████████████████████
Is ko 2 group main forward.
Karo magic deko
.
.
.
 गर्लफ्रेंड/वाइफ की बातें और पंडित जी की कथा एक जैसी होती हैं
समझ भले कुछ न आये पर ध्यान लगाकर सुनने का नाटक ज़रूर करना पड़ता है
.
.
.
एक छोरा 15 मिनट मे ही पेपर छोड के चलने लगा              
टीचर: कया हुआ, पेपर नही आता कया ?                     
छोरा: वो बात नही, मेै जिसके भरोसे आया था वो खुद मुझसे पूछ रहा है.
.
.
.
 Sanskari Pati Patni jokes
पति.. ( अपनी पत्नी से )- प्रिये । मैं तुम्हें बहुत प्यार करता हूँ .....
पत्नी - तो क्या मैं आपको नहीं करती ? मै तो तुम्हारे लिये सारी दुनिया से लड सकती हूँ ..
पति- लेकिन तुम तो दिन रात मुझसे ही लडती रहती हो ?
पत्नी - तुम्ही तो मेरी दुनिया हो.........
.
.
.
इंटरवल के बाद अँधेरे में अपनी सीट की ओर लौटती महिला ने कोने वाली सीट पर बैठे व्यक्ति से पुछा,
” भाई साहब, क्या बाहर जाते समय मैंने गलती से आपका पैर कुचल दिया था?”
दर्शक (गुस्से में) – “हाँ, कुचला था।अब क्या माफ़ी मांग रही हैं?”
महिला – “माफ़ी वाफी नहीं भैया, इसका मतलब मेरी सीट इसी लाइन में है।”
.
.
.
.

Husband: मेरी बीवी Vastu-Shastra पर बहुत ही ज्यादा विश्वास करती है !
Friend: Great, क्या वो उसका उपयोग भी करती है ?
Husband: Oh Yeah... जब हमारा झगड़ा होता है तब, वो कोई भी  'Vastu' उठा लेती है और फिर उसका उपयोग 'Shastra' की तरह करती है.....
.
.
.

नए-नए डॉक्टर ने अपने जीवन का
पहला ऑपरेशन किया।
ऑपरेशन के थोड़ी देर बाद ही
मरीज मर गया ।
डॉक्टर ने दीवार पर टंगी भगवान
की तस्वीर की ओर हाथ जोड़कर सिर झुकाते हुए पूरी श्रध्दा से कहा :–
हे प्रभु,
मेरी ओर से यह पहली भेंट स्वीकार कीजिए. . ..
.
.
.
एक स्कूटर के आगे Press लिखा हुआ था...!
.
ट्रैफिक पुलिस: किस अखबार में काम करते हो...?
.
स्कूटर वाला: साहब धोबी हूँ, सोसाइटी में कपडे प्रेस करता हूँ...! .
.
.
.
पति-आजकल तुम
ना सिगरेट पीने से रोकती हो,
ना शराब पीने से,
क्या सब शिकायतें ख़त्म?
पत्नी- नहीं जी, LIC वाला परसों ही सब फायदे बता कर गया है!