Sunday, 17 July 2016

Hindi chutkule .... मादा गोरिल्ला

एक चिड़ियाघर में बेहद दुर्लभ प्रजाति की मादा गोरिल्ला रहती थी…

अचानक एक दिन उस मादा गोरिल्ला ने हंगामा शुरू कर दिया, और पिंजरे में रखी सभी चीज़ें तोड़-फोड़ दीं…

उस दिन के बाद उसकी ये हरकतें दिनोंदिन बढ़ती चली गईं, और उसे काबू करना मुश्किल होता गया…

चिड़ियाघर के डॉक्टर से जांच के बाद निष्कर्ष निकाला गया, कि मादा अब बच्चा पैदा करना चाहती है, और उसे रोकने का एकमात्र उपाय है कि उसे एक नर गोरिल्ला के साथ रखा जाए…

मुसीबत यह थी कि मादा गोरिल्ला की प्रजाति इतनी दुर्लभ थी कि उसका नर हिन्दुस्तान में तो क्या, दुनिया के किसी भी चिड़ियाघर में उपलब्ध नहीं था…

जब सभी जगह से निराशा हाथ लगी, तो अंततः चिड़ियाघर के डॉक्टर साहब ने अपने मित्र संता सिंह के बारे में चिड़ियाघर के प्रबंधकों को बताया, जिनकी खासियत यही थी कि वह दुनिया की किसी भी प्रजाति की मादा को यौन संबंध बनाकर शांत कर सकते थे…

प्रबंधक तुरंत संता के पास पहुंचे, और उन्हें एक लाख रुपये के बदले मादा गोरिल्ला से यौन संबंध बनाने की पेशकश दी…

संता ने साफ इंकार तो नहीं किया, लेकिन प्रबंधकों से कुछ वक्त मांगा, ताकि अच्छी तरह सोच-विचार करने के बाद वह अपना फैसला बता सके…

अगले दिन संता ने प्रबंधकों से सम्पर्क किया, और कहा, “मुझे मंज़ूर है, लेकिन मेरी तीन शर्तें होंगी… एक, मैं मादा गोरिल्ला के होंठ नहीं चूमूंगा… दो, आपके चिड़ियाघर के स्टाफ का कोई भी व्यक्ति कभी भी इसके बारे में किसी को कुछ नहीं बताएगा… तीन, आप लोग मुझे कम से कम एक हफ्ते का समय देंगे, ताकि मैं एक लाख रुपये जुटा सकूं…”

No comments:

Post a Comment