Wednesday, 22 June 2016

योग दिवस Jokes

एक शादीशुदा की दुखी कलम से योग दिवस 

.
.
.

योग दिवस को मैं कुछ इस तरह से मना रहा हूँ,
रात उसके पैर दबाए थे अब पोछा लगा रहा हूँ।

धो रहा हूँ बर्तन और बना रहा हूँ चपाती,
मेरे ख्याल से यही होती है कपालभाति।

एक हाथ से पैसे देकर, दुजे हाथ में सामान ला रहा हूँ मैं,
और इस प्रक्रिया को अनुलोम विलोम बता रहा हूँ मैं।

सुबह से ही मैं घर के सारे काम कर रहा हूँ,
बस इसी तरह से यारो प्राणायाम कर रहा हूँ।

मेरी सारी गलतियों की जालिम ऐसी सजा देती हैं,
योगो का महायोग अर्थात मुर्गा बना देती हैं।

हे मोदी, हे रामदेव अगर आप गृहस्थी बसाते,
तो हम योग दिवस नहीं पत्नी दिवस मनाते।
 .
.
एक शादीशुदा की 'दुखी' कलम से  
.
.
.
.
.
बीवियों के इशारों पर
नाचना भी सहज-योग ही है...!!
सभी शादीशुदा पुरुषों को

"अंतराष्ट्रीय योग दिवस" की हार्दिक शुभकामनाएँ!!!
.
.
.
.
.
अंतराष्ट्रीय योग दिवस
जिन्हें गैस की प्रॉब्लम है ,
वे कृपया आज योग न करें !
पीछे बैठने वालो के प्रति ,

दया का भाव रखना भी योग ही है.!
.
.
.
.
.
एक हंसमुखी एडमिन के घर , पकाऊ पडौसी उन्हें पकाने के लिए तशरीफ़ लाये ।
एडमिन : भाईसाहब, कल योग दिवस की तैयारी नहीं कर रहे हैं ?
पडौसी :- सोचा , आप से कुछ योग ज्ञान ले लूँ , वैसे मौसम बरसात का है और भाभी जी के हाथ के पकौड़े याद आ रहे हैं !
एडमिन ( सोचते हुए ) : कौन से ? पनीर के पकौड़े या बेसन के पकौड़े ?
पडौसी: पनीर पकौड़े ही ले लूँगा।
एडमिन : कौन से तेल के लेंगे ? मीठे तेल के या रिफाईन्ड तेल के ?
पड़ौसी ( थोड़ा खीजते हुए ) : जो तेल आप के घर में हो उसी के बनवा लीजिये । अपुन को सब चलता है !
एडमिन : लेकिन कड़ाही कौन सी चलेगी लोहे की या स्टील की ?
पड़ौसी : (परेशान होते हुए ): अरे यार, लोहे की कढ़ाई अब रखता ही कौन है आजकल ?
एडमिन ( पत्नी जी को आवाज लगाते हुए ) : सुनती हो , भाई साब को स्टील की कढ़ाही में पनीर के गरमा गरम पकौड़े खाने हैं ! अपने घर में है या नहीं ?
समझदार बीवी : नहीं है जी। आप को पता ही है , दहेज़ में मिली मेरे मायके की लोहे की कढाई अब तक चल रही है !

एडमिन : ओ तेरी ! नहीं है क्या ? चल फिर रहने दे, भाईसाहब को मजा नहीं आएगा। वैसे भी कल योग दिवस के दिन , बिना मतलब का वजन बढ़ जाता !
.
.
.
.
.
पत्नी अगर कुछ काम का बोले तो गर्दन को दो बार ऊपर से नीचे करें, ये योग आपके खुशहाल जीवन कुंजी है...!
.

Note: कभी भी गर्दन को कभी भी दाँये से बाँये न घुमायें, ये जान लेवा हो सकता है...!
.
.
.
.
.
इस्लामाबाद। ईंट का जवाब पत्थर से देते हुए पाकिस्तान ने विश्व योग दिवस का जवाब विश्व आतंकवाद दिवस के रूप में देने की योजना बनाई है। इस संबंध में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ जल्दी ही संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून से मिलकर उन्हें 14 अगस्त के दिन को ‘विश्व आतंकवाद दिवस’ घोषित करने की मांग करेंगे।
नवाज शरीफ ने यहां सोमवार को अफगानिस्तान की संसद पर हुए आतंकी हमले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “देखो, हमारा आतंकवाद कितना आगे बढ़ गया है। अब समय आ गया है कि हम इसे भी योग की तरह दुनियाभर में और अधिक धूमधाम से प्रचारित और प्रसारित करें। जिस तरह भारत योग गुरु है, उसी तरह हम भी आतंक गुरु है।” उन्होंने आगे कहा कि हमारे देश का जन्मदिवस 14 अगस्त को पड़ता है। विश्व आतंकवाद दिवस मनाने का इससे अच्छा दिन और क्या होगा!
हालांकि आतंकियों ने आतंकवाद को एक दिन में बांधने के प्रयासों का विरोध किया है। लश्कर-ए-तैयबा के सरगना हाफिज मोहम्मद सईद ने कहा, “हम एक दिन को ही आतंकवाद दिवस क्यों मनाएं? हमारा तो हर दिन आतंकवाद दिवस है।” इस बयान से घबराए पाकिस्तान पीएमओ ने तत्काल स्पष्टीकरण देते हुए कहा, “हमार मकसद आतंकवाद को सीमित करना कतई नहीं है। जैसे योग दिवस मनाने का मकसद लोगों को योग की ओर मोड़ना है, वैसे ही आतंकवाद दिवस का मकसद भी अधिक से अधिक लोगों को आतंकवाद के लिए प्रेरित करना है।”

(Disclaimer : यह खबर कपोल-कल्पित है।)
.
.
.
.
Alia Bhatt:- Is yoga day and Shobha day are brother sister ?
Rahul Gandhi:-- I m not sure but both had nothing to do with

Manna day

No comments:

Post a Comment