Friday, 10 June 2016

बिहार बोर्ड के इम्तिहान में टॉप करने वाले छात्रों के लिए खास गाइडलाइंस

बिहार बोर्ड के इम्तिहान में टॉप करने वाले छात्रों के लिए खास गाइडलाइंस हैं. उनमें से कुछ गाइडलाइन हम आपको पढ़ने के लिए उपलब्ध करा रहे हैं.

1. जैसे ही किसी छात्र को पता चले कि उसने इम्तिहान में टॉप किया है पहला काम तो यही करे कि वो फौरन अंडरग्राउंड हो जाए, ताकि किसी भी सूरत में मीडिया उस तक पहुंच न पाए.

2. अगर मीडिया के लोग पहुंच भी जाएं तो उन्हें परिवार के किसी सदस्य, भाई बहन या माता पिता की ओर से जारी एक स्टेटमेंट थमा दिया जाए और हर किसी को उसी की कॉपी दी जाए.

3. इतना करने के बाद टॉपर छात्र को इंटरव्यू के लिए तैयार किया जाए जिसके लिए प्रोफेशनल हेल्प ली जाए तो बेहतर है. इंटरव्यू के मॉक सेशन काफी मददगार होते हैं उन्हें आजमाया जा सकता है.

4. जब तक तैयारी पूरी न हो टॉपर छात्र की ओर से उसके टीचर या घर का कोई सदस्य खुद प्रवक्ता की भूमिका अपना ले. इसके लिए किसी ट्रेनिंग की जरूरत नहीं है अगर कुछ ऊंच-नीच हो भी जाए तो उसे बाद में संभाला जा सकता है.

5. इंटरव्यू की तैयारी में सबसे पहले तो उस छात्र को ये बताया जाए कि उसने कौन सी क्लास में टॉप किया है. फिर उसे उसके सब्जेक्ट के बारे में अच्छे से समझा दिया जाए. अच्छे से समझाने का मतलब छात्र को कम से कम सब्जेक्ट का उच्चारण और अंग्रेजी में उसकी स्पेलिंग जरूर आनी चाहिए.

6. छात्र को बताया जाए कि इंटरव्यू के दौरान दो तीन बार वो 'गुड-क्वेश्चन...' जरूर बोले और हमेशा कैमरे की ओर ही देखे. पत्रकार से नजर तो बिलकुल न मिलाए, वरना, दबाव में आ सकता है.

7. तैयारी के दौरान छात्र को दो तीन सवाल ऐसे रटा दिये जाएं जो जवाब न सूझने पर सवाल की परवाह किये बगैर वो बोलता रहे. अगर पत्रकार कहे कि वो उसके सवाल का जवाब नहीं है तो भी उसकी परवाह किये बगैर छात्र अपनी बात पूरी करके ही दम ले.

8. छात्र को चाहिए कि हर सवाल के जवाब में वो शुरुआत 'वेल...' शब्द से करे - इससे उसे जवाब को लेकर सोचने का खासा मौका मिल जाएगा. उसके बाद दिक्कत होने पर 'यू नो, यू नो...' आजमाया हुआ कारगर नुस्खा है.

9. जब भी इंटरव्यू हो, कम से कम टीचर और छात्र के घर का कोई सदस्य जरूर मौजूद रहे और फंसने की हालत में वो उसकी तैयारियों, पढ़ाई के घंटों और सिर्फ पढ़ाई में ध्यान की बात करता रहे.

10. सबसे जरूरी बात, टॉपर छात्र किसी भी सूरत में लाइव इंटरव्यू के लिए राजी न हो. अगर लाइव के लिए राजी भी तो उसी स्थिति में जब उसके घर पर ओबी वैन लगाई जाए और सवाल स्टूडियो से पूछे जाएं. सवाल मुश्किल होने पर वो ऐसे पोज करे जैसे उसे सुनार्ई ही नहीं दे रहा हो. एंकर तकनीकी खराबी के नाम पर बातचीत रोक देगा - फिर तो झंझट खत्म ही समझो.
 

No comments:

Post a Comment