Friday, 5 February 2016

माँ मुझको तू मफलर देदे मैं सी ऍम बन जाऊंगा

माँ मुझको तू मफलर देदे मैं सी ऍम बन जाऊंगा
झाड़ू लेकर हाथो में मैं भ्रष्टाचार मिटाऊंगा
खो खो करता खांस खांस के केजरीवाल बन जाऊंगा
मुश्किल कुछ भी आएगी तो मोदी
को दोषी ठहराऊँगा
माँ मुझको तू मफलर.....

घटना जब होगी दादरी में तो भौं भौं कर चिलाऊँगा
मालदा की घटना पे अम्मा मैं बिल में छुप जाऊंगा
दिल्ली में हों ठण्ड से मौतें कुछ ना ध्यान लगाऊंगा 
लेकिन रोहित दलित की आत्महत्या पे हैदराबाद ज़रूर मैं जाऊंगा
माँ मुझको तू मफलर.......


सीबीआई के छापे पे मैं मोदी को गरियाऊंगा
जांच की बात कर कर के मैं जेटली को डराऊँगा
अपनी पार्टी के भ्रष्टाचार की इंटरनल जांच कराऊँगा
लेकिन अम्मा- लोकपाल को मजबूत नही बनाऊंगा
माँ मुझको तू मफलर......

अगर समझती है तू अम्मा कंजर मैं बन जाऊंगा
खुद स्याही फिकवा के मोदी पे आरोप लगाऊंगा
काम नही करूँगा अम्मा बस नौटंकी मैं दिखाऊंगा
मतलब कहने का है अम्मा रायता यूँ ही फैलाउंगा
माँ मुझको तू मफलर देदे मैं केजरीवाल बन जाऊंगा।
दिल्ली के हित में आगे भेजें

No comments:

Post a Comment