Popads

Wednesday, 25 November 2015

Collection of Posts, jokes, and cartoons on AAmir khan from Whatsapp, facebook and from web





शाहरुख़ का मुँह बन्द हुआ था फिर से आमिर बोल गया

भारत से शीतल चन्दन पर वो अपना विष घोल गया।

सत्यमेव के नायक का जब कर्म घिनौना होता है
,
इन पर लिखने से कवीता का स्तर बौना होता है।

पर तटस्थ रहना कब सीखा दिनकर की संतानों ने,


भारत का ठेका ले रखा बॉलीवुड के खानों ने।

श्री राम की पावन भूमि पर जिनको डर लगता है,

पाक सीरिया यमन इन्हें मनमानस का घर लगता है।

इनसे कह दो भारत में खुशहाल मवेशी रहते हैं
,
कश्मीरी पण्डित से ज्यादा बंग्लादेशी भी रहते हैं।

बचपन में खेले जिस पर उस माटी से मतभेद किया,

जिस थाली में खाया आमिर तुमने उसमे ही छेद किया।

भारत ही बस मौन रहा है शिव जी के अपमान में
,
पी. के. जैसी फ़िल्म बनाते यदि जो पाकिस्तान में।

जीवन रक्षा की खातिर हाफिज को मना रहे होते
,
अभिनेता न बन पाते बस टायर पंचर बना रहे होते।

जितना भारत से पाया अब देते हुए लगान चलो
,

बोरिया बिस्तर बाँधो आमिर जल्दी पाकिस्तान चलो।



Only Kareena Kapoor's huband is Saif in India

 मेरे "असहिष्णु" हिन्दू भाइयों व बहनों , अब जब हम सब "असहिष्णु" घोषित कर ही दिए गए हैं तो क्यों न हम 96 करोड़ हिंदुओं "असहिष्णुता" का एक उदाहरण प्रस्तुत करें ? आगामी 15 दिसम्बर को भारत के महानतम "सहिष्णु" कलाकार "शाहरुख" की नई फिल्म आने वाली है . क्यों न इस फिल्म का "बहिष्कार" कर दिया जाय ? एक फिल्म थियेटर में ना देखि तो वैसे भी कुछ खो नहीं देंगे हम बल्कि किसी देशद्रोही को सबक सिखा देंगे।
क्या विचार है , मित्रों ?
.
.
.
.

 We heard that Aamir khan's Wife wanted to leave india for safety of her children and We have also heard our Martyr Soldier's (Colonel Mahadik) Wife saying that her Children will join Indian Army for sake of the Nation.........
See the difference here and stop worshipping fake Stars....instead respect real Stars.
 "K..k...k..k...Kiran"
"Kaun, Shahrukh?"
"No baby, It's me Aamir. I'm just too scared"
.
.
.
.
.
.
आज सुबह अखबार पढ़ा मुख्य पेज पे आमिर खान कह रहा था कि देश में बढ़ती असहिष्णुता के कारण मेरी पत्नी किरण ने मुझसे देश छोड़ने को कहा । पढ़ के मुझे अपने आप पे इतना गुस्सा आया कि मैंने आज तक इस जैसे कलाकार या इसकी बिरादरी के और कलाकार की फिल्म देखते समय एक बार भी धर्म आधारित भेदभाव नहीं किया और आज ये दो कौड़ी का नौटंकी करनेवाला हीरो मेरी सनातन संस्कृति का और मेरे राष्ट्र का इतना अपमान करने का साहस कर रहा है ।आज सुबह सुबह ही मैंने ये प्रण कर लिया कि एक बार ये आमिर - शाहरुख़ जैसो को दिखाना जरुरी है कि असहिष्णुता होती क्या है ? इसलिए आज से इनकी कोई भी फ़िल्म चाहे उसकी कितनी भी झूठी सच्ची प्रशंसा क्यों ना हो सिनेमा घर में जाकर देखना तो दूर की बात है घर पे टीवी पे भी नहीं देखूंगा । और रोजाना 10 लोगो को इस बात के लिए प्रेरित भी करूँगा । मैं मेरी संस्कृति का अपमान करने वालो को क्षमा नहीं करूँगा । अगर आप भी मेरे साथ सहमत है तो प्रतिज्ञा करे और 10 लोगो को ये msg भेजे
.
.
.
.
.
An open letter to Janab Aamir Khan,
Janab Aamir Khan,
I am an ordinary Indian citizen and an avid movie-goer. You are a superstar in a country where the majority of movie-goers are Hindu. For years, we have spent our money to buy tickets for your movies. It is our money that has made you what you are today.
We clapped when as ACP Ajay Rathore, you destroyed a sweet-talking Gulfam Khan in Sarfarosh. We cheered when as Bhuvan, you played the winning shot in Lagaan. We cried when as a sensitive art teacher, you made us root for Ishaan Awasthi in Taarey Zamin Par.
A couple of generations before you, an Yusouf Khan had to become a Dilip Kumar to be accepted and a Mahajabeen Bano had to reinvent herself as Meena Kumari. Not you though. Neither you, nor your contemporaries had to hide your identity to be successful.
You became a star in a new India. An India, where only your first name mattered. We loved you because you were Aamir, a brilliant actor. Neither your last name mattered to us, nor your faith.
But yesterday, you proved to us that for you and your wife at least , it is your last name that matters more than anything else.
Your name is Khan and you Sir, are a hypocrite.
You did not scream intolerance when your city burned at the hands of some of your co-religionists. Your wife did not feel insecure when a mammoth crowd of some of your co-religionists attended the funeral of a hanged terrorist. You were silent even when a mob from Reza Academy kicked and destroyed a national memorial and manhandled female cops.
But now, suddenly, your wife feels insecure in India and wants you to move out.
If I WERE indeed intolerant, I would suggest you move to the Kingdom of Saudi Arabia, the safest place on earth, where Begum Kiran Rao can feel absolutely secure inside her abaya and your little son can grow up watching public executions in a Riyadh square.
But I am not going to do that. As a tolerant Indian, the only thing I can and WILL do is to make sure that not even one rupee of my hard-earned money goes towards buying tickets for your movies.
Thanks for the disappointments.
Regards,
An Indian
.

.
.
.
.

जिस देश में सनी लिओन सुरक्षित हैं,
उस देश में किरण राव कैसे असुरक्षित हो सक्ती हैं?
.
.
.
.
.
Kiran Rao wife of Aamir Khan says she wants to leave India for safety of their children........
Martyr Colonel Santosh Mahadik's wife said that both her children will join Indian Army to safeguard our country.
Time to re-think about definition of our Heroes.
AamirKhan can go to:
#Saudi #Arabia where his wife can breathe freely in Burqa there
#US (Muslims are stripped)
#Europe (Islamophobia is rising)
#China (Ramadan is banned)
#Iraq : to be sex slave -
#Pakistan: (Lol :p ... for Pakistan no words required. Naam hi kaafi hai)
So you are a Muslim superstar in a country where majority of the cinema going audience is Hindu. They spend their hard-earned money to make YOU a celebrity. You have married twice, both times, to HINDU women. Your Muslim identity has never come in the way of your professional or personal successes.

You never felt insecure when your co-religionists attacked Mumbai multiple times. You never felt insecure when the five star hotel you frequent was held hostage by a few terrorists.
And now you say your wife wants you to leave India because she is feeling 'insecure'?
.
.
.
.
Mr Aamir Khan ...itz for U ...
A satire on Mohammed leads to killings (somewhere)..
A satire on gods in INDIA ...makes a blockbuster worth more than ₹325 crores.. & still INDIA is intolerant....u must b politically motivated...
But we would go GANDHIAN way....

We won't boycott ur films instead , watch them on TORRENT & encourage others & spread to all...
.
.
.
.
GO BACK AAMIR KHAN!!

याद रखिये कि आपको मुल्क की ज़रूरत है, मुल्क को आपकी नहीं।
.

.
.
.
Excellent news for Aamir Khan
.

.
.
.
.
Aamir khan forget that he was intolerant for his 1st wife. ...who is living alone in dehradun
.
.
.
There is fine line between ( Being Intelligent ) and ( Being Over Confident ) .... Aamir got it wrong this time ....


.
.
.
.

Actually….Aamir has completely misunderstood the whole issue.

What his wife  said was


“I WANT TO FEEL SAIF”.
.
.
.
.
#Bajrangi Bhaijaan..

Aap ke dost ka KHANdaan is feeling insecure..


Toh aap ka farz banta hai …. unko border ke us paar chhod ke aao .. !!
.
.
.
.
.
Modi-- Bol kaunse country jana hai tere bivi ko ? Main on the way drop kar doonga !!



एक राजा अपने लश्कर के साथ नाव में लौट रहा था.. 
राजा ने कुछ गुलाम भी खरीदे थे जो उसी नाव में लौट रहे थे. 
जैसे ही नाव चली तो एक गुलाम डर के मारे चिल्लाने लगा क्यों की वो कभी नाव में बैठा नहीं था. 
परेशान राजा ने वजीर से कहा की इसे चुप कराओ.. 
राजा की बात सुनके वजिर ने उसे चुप कराने का प्रयत्न किया और ना चुप रहने पर आखिर कार उसे पानी में फेंक दिया. 
फिर वजीर ने कहा इसे पानी से निकालो, पानी से निकाल ने के बाद गुलाम चुप बैठ गया. 
राजा ने कहा वजीर ये क्या माजरा है, गुलाम एकदम से चुप कैसे बैठ गया.. वजीर ने कहा जहापनाह ये गुलाम नाव में सुरक्षित बैठने का आराम और पानी में डूबने की तकलीफ नहीं जानता था, 
जब इसे पानी में फेंका गया तब इसे समझ में आया की नाव में सुरक्षित बैठना क्या होता है..
इस कहानी का आमिरखान से कोई संबंध नही है ।
.
.
.
.
.
अभिनेता आमीर खान के बढ़ती 'असहिष्णुता' के बयान पर जयपुर
के कवि अब्दुल गफ्फार की ताजा रचना
************************************
"तूने कहा,सुना हमने अब मन टटोलकर सुन ले तू,
सुन ओ आमीर खान,अब कान खोलकर सुन ले तू,"

तुमको शायद इस हरकत पे शरम नहीं आने की,
तुमने हिम्मत कैसे की जोखिम में हमें बताने की

शस्य श्यामला इस धरती के जैसा जग में और नहीं
भारत माता की गोदी से प्यारा कोई ठौर नहीं

घर से बाहर जरा निकल के अकल खुजाकर पूछो
हम कितने हैं यहां सुरक्षित, हम से आकर पूछो

पूछो हमसे गैर मुल्क में मुस्लिम कैसे जीते हैं
पाक, सीरिया, फिलस्तीन में खूं के आंसू पीते हैं

लेबनान, टर्की,इराक में भीषण हाहाकार हुए
अल बगदादी के हाथों मस्जिद में नर संहार हुए

इजरायल की गली गली में मुस्लिम मारा जाता है
अफगानी सडकों पर जिंदा शीश उतारा जाता है

यही सिर्फ वह देश जहां सिर गौरव से तन जाता है
यही मुल्क है जहां मुसलमान राष्ट्रपति बन जाता है

इसकी आजादी की खातिर हम भी सबकुछ भूले थे
हम ही अशफाकुल्ला बन फांसी के फंदे झूले थे

हमने ही अंग्रेजों की लाशों से धरा पटा दी थी
खान अजीमुल्ला बन लंदन को धूल चटा दी थी

ब्रिगेडियर उस्मान अली इक शोला थे,अंगारे थे
उस सिर्फ अकेले ने सौ पाकिस्तानी मारे थे

हवलदार अब्दुल हमीद बेखौफ रहे आघातों से
जान गई पर नहीं छूटने दिया तिरंगा हाथों से

करगिल में भी हमने बनकर हनीफ हुंकारा था
वहाँ मुसर्रफ के चूहों को खेंच खेंच के मारा था

मिटे मगर मरते दम तक हम में जिंदा ईमान रहा
होठों पे कलमा रसूल का दिल में हिंदुस्तान रहा

इसीलिए कहता हूँ तुझसे,यूँ भड़काना बंद करो
जाकर अपनी फिल्में कर लो हमें लडाना बंद करो

बंद करो नफरत की स्याही से लिक्खी
पर्चेबाजी
बंद करो इस हंगामें को, बंद करो ये लफ्फाजी

यहां सभी को राष्ट्र वाद के धारे में बहना होगा
भारत में भारत माता का बनकर ही रहना होगा

भारत माता की बोली भाषा से जिनको प्यार नहीं
उनको भारत में रहने का कोई भी अधिकार नहीं"
=======================

---"कवि अब्दुल गफ्फार(जयपुर) की ताजा रचना"
.
.
.
.
.
पति के होते हुए भी अगर पत्नी को डर लगे,

तो सबसे पहले ऐसे पति को छोड़ना चाहिए....बाद में देश !!!
.
.
.
.
प्रिय किरण राव,
सबसे अधिक असुरक्षित तो तुम आमिर खान के घर पर हो - पता नहीं कब वह तीसरी ले आए!

तुम्हारा एक हमदर्द
.
.
.
Mein bhi country chhod raha hun.....
Ab sirf scotch.
.
.
.
.
The real problem is Karishma Kapoor .....15,years before by singing pardesi pardesi jaana nahin 

....she stopped Aamir Khan .....or else he would have left the country long back !
.
.
.
.
सोनिया गांधी 50 सालों से इटली छोड़ कर भारत में मजे से रह रही है , वापस जाने का नाम नहीं लेती और आमिर को भारत असुरक्षित लगता है
.
.
.
 आमिर खान कितना भाग्यशाली है कि उसकी बीवी किसी से डरती है .

मेरी वाली तो किसी के बाप से भी नहीं डरती.
.
.
.
.