Monday, 14 December 2015

Hot jokes in Hindi ...........पत्नी – तुम कल पड़ोसन के साथ फिल्म देखने गए थे ?

 टॉमी नाम का कुत्ता अपने रिश्तेदारों से मिलने के लिए पहली बार गाँव से दिल्ली आया. रिश्तेदार टॉमी से मिल कर बहुत ख़ुश हुए. हालचाल पूछने के बाद सभी ने डिसाइड किया की टॉमी को शहर दिखाया जाए. कुत्तों का झुंड टॉमी को ले कर शहर घुमने निकल पड़ा.
कुत्तूबमिनार, इंडिया गेट, लाल क़िला, Connaught प्लेस, पुराना क़िला आदि देख कर जब झुंड वापिस घर पहुँचा तो शाम हो चुकी थी.
टॉमी " चाचा बहोत भूँक लगी है, रोटी खिला दो"
टॉमी का चाचा हँसते हुए: "रोटी!! चल आ हमारे साथ"
कुत्तों का झुंड; टॉमी को ले कर एक पार्क में पहुँचा जहाँ यारों कि पार्टी चल रही थी.
कुत्ते बैठ कर देखने लगे.
पार्टी अभी शुरू हुई थी, यारों के हाथ में पहला पेगथा. पेग ख़त्म करके यारों ने एक एक चिकन लेग पीस खाया और हड्डियों को डस्टबीन में डाल दिया.
टॉमी: "चाचा, डस्टबीन से हड्डियाँ कैसे निकालें??"
चाचा: "बैठ कर देखता रह."
यारों ने दूसरा पेग लगाया और इस बार लेग पीस खाने के बाद हड्डियों को बाहर ही फेंक दिया.
टॉमी हड्डियों को देख कर लपका, पर चाचा ने पकड़ कर बिठा लिया.
यारों ने अब अपना अपना तीसरा पेग  लगाया ओर इस बार लेग पीस को आधा खाया ओर आधे को यूँ ही उछाल दिया.
लेग पीस देख कर टॉमी फिर लपका पर चाचा ने उसे फिर पकड़ लिया.
टॉमी ग़ुस्से में: "क्या है चाचा, अब तो हड्डियों के साथ मीट भी है!! अब तो खाने दो!!"
चाचा हँसते हुए: "बेटा यारों को एक एक पेग और लगाने दे फिर इनके साथ टेबल कुर्सी पर बैठ कर खाएँगे".
.
.
.

दो पंडितों में लड़ाई हो रही थी

उन्हें लड़ते बहुत देर हो गई।
तीसरा पंडित: क्या हुआ, क्यों लड़ाई कर रहे हो?
एक पंडित बोला,"जब मैं लहसुन, प्याज नहीं खाता
तो इस साले ने चिकन में डाला क्यों?".
.
.
.
 पत्नी – तुम कल पड़ोसन के साथ फिल्म देखने गए थे ?
.
.
.
(Smart answer by husband)
पति – तो और क्या करता ? आजकल family के साथ देखने लायक फ़िल्में बनती कहाँ हैं ???

.
.
.
.
लालू जी (भाषण देते हुए) : हमारी पार्टी मे भ्रष्टाचारियो के लिए कोई जगह नही है।
भीड़ मे से आवाज आई....
काहे!!!
हाऊस फुल हुई गवा का?
.

.
.
.
स्टार प्लस वालो .....
जब सीरियल इतना लम्बा ही खीचना था
तो
सालो
नाम " दिया -बाती " क्यों रखा
"अखंड - जोत " ही रख देते...

.
.
.
एक बार एक बेसिक शिक्षा अधिकारी कानपुर के एक प्राइमरी स्कूल में जांच के लिए पहुंचे।
अधिकारी अध्यापक से - कौन सी क्लास चल रही है और क्या पढ़ा रहे है?

अध्यापक - सर इतिहास और रामायण

अधिकारी -ओके बच्चों से पूछता हूँ !
एक लड़के से - खड़े हो नाम क्या है तुम्हारा..?
लड़का- राजू ।
अधिकारी- बताओ शिव जी का धनुष किसने तोड़ा था..?

राजू- साहब कसम गंगा मइया की पूरा कानपुर जानत है हम बहुत सीधे हैं।हम नही तोडे
अधिकारी- चुप बैठ जा।
दूसरे से ....
तुम बताओ

बच्चा - सर हमऊ नहीं तोड़े । या पप्पू तोड़े होई साहब।
पप्पू खड़ा हुआ तुरंत- ये साला कुछो टूटे नाम हमरा ही आवत है।
अधिकारी, अध्यापक से- क्या पढ़ाते है आप किसी को नहीं पता धनुष किसने तोड़ा ?
अध्यापक - सर आप प्रिंसिपल से मिल लेयो हम छुट्टी पे रहे तबही कउनो तोड़ीस होइ
वही बतइहें 

अधिकारी सीधे प्रिंसिपल के पास गए। 
ये क्या नाटक है कैसा स्कूल है?
यहाँ किसी को ये नही पता की शिव जी का धनुष किसने तोड़ा था ???

प्रिंसिपल - अरे सर आओ बैठोे तुमऊ १०००-१२०० के धनुष के पीछे परेशान हो। बच्चे है कऊनो तोड़ दिहिस होइ पीछे नई क्लास बननी है। वही बजट मा ठेकेदार से कहि के तुम्हार धनुष भी बनवा देब।
बस तुम बिल पास कर देहेओ।

अधिकारी बेहोश.....
.

.
.
.
संता की तपस्या से
खुश होकर भगवान बोले:
'वर मांगो वत्स`!
संता: प्रभु!
जैसा आप सोच रहे हैं
मैं वैसा नहीं मुझे बहू चाहिए
_____________________
[एक आदमी ने
कंडक्टर से पूछा –
"आप कितने घंटे बस में रहते हो ?"
कंडक्टर – "24 घंटे !"
आदमी – "वो कैसे ?"
कंडक्टर – "देखिये, 8 घंटे तो
सिटी बस में रहता हूँ …
और बाकी के 16 घंटे
बीवी के बस में रहता हूँ !!!"

































No comments:

Post a Comment