Thursday, 31 December 2015

Hindi Jokes ....... हे बहिन इ हसबैंड क्या होता है

 शराब  के उस बार के सामने एक छोटा सा तालाब था।
झमाझम  बारिश हो रही थी और उस  बारिश में पूरा भीगा हुआ एक बुजुर्ग आदमी एक छड़ी पकड़े था जिससे बँधा धागा तालाब के पानी में डूबा हुआ था।
एक राहगीर ने उससे पूछा---" क्या कर रहे हो बाबा ? "
बुजुर्ग---" मछली पकड़ रहा हूँ। "
राहगीर बारिश में भीगे उस बुजुर्ग को देख बहुत दुखी हुआ।
बोला---" बाबा, मैं बार में  व्हिस्की पीने जा रहा हूँ। आओ तुम्हें भी एक पैग पिलाता हूँ। ऐंसे तो तुम्हे सर्दी लग जायेगी। आओ अंदर चलें। "
बार के गर्म माहौल में बुजुर्ग के साथ व्हिस्की पीते महाशय ने बुजुर्ग से पूछा---" हाँ तो, बाबा, आज कितनी मछलियाँ फसीं ? "
बुजुर्ग बोला---" तुम आठवीं मछली हो, बेटा! "
.
.
.
.
ग्राहक :शर्ट दिखाओ!!
दुकानदार :ये लिजिये शानदार पीटर इंग्लैंड का शानदार शर्ट...
ग्राहक: कितने का है?
दुकानदार :मात्र ₹3500 का
ग्राहक: भैया आपके पास
पीटर फैज़ाबाद ,
पीटर गोण्डा या
पीटर बाराबंकी का शर्ट नहीं है क्या...!!!!
.
.
.
.
.
Communication Gap :
मनपसंद मरम्मत का काम होने की खुशी में संता ने मिस्त्री को 1000 रुपये की बख्शीश देते हुए कहा :
जा, तू भी क्या याद करेगा. आज शाम को वाइफ को सिनेमा ले जा और उसके बाद किसी रेस्तरां में खाना खा.
शाम को दरवाजे की घंटी बजी. दरवाजा खोला तो मिस्त्री साफ-सुथरे कपडे पहने खडा था. संता ने उसे सिर से पैर तक देखा और कहा : कहिये मिस्त्री जी?

.
.
.
जी, आपकी वाइफ को लेने आया हूं ......
.
.
.
.
गांव की दो महिलाएं आपस में बात कर रही थी।
पहली बोली~हे बहिन इ हसबैंड क्या होता है।
दूसरी ने मुस्कुराते हुए कहा- बहिन ये अजीब तरह का बैंड होता है  जो केवल घर के बेलन से ही बजाया जाता है।इस बैंड को बजाने का आनंद केवल शादीसुदा औरतें ही ले सकती हैं   और इस बैंड की अच्छाई ये होती है इसे जितना बजाओगी उतनी ही मधुर धुन निकलेगी और धुन केवल घर के अंदर ही रहेगी । मजे की बात तो यह है कि इसे कितना भी बजाओ ये हँसता ही रहता है, इसीलिए इसे हसबैंड कहते हैं।

No comments:

Post a Comment