Saturday, 19 December 2015

मेडिकल प्रैक्टिस में रोजमर्रा की कुछ रोचक बातें

मेडिकल प्रैक्टिस में रोजमर्रा की कुछ रोचक बातें
===============================
कुछ उदाहरण :-
"मरीजों की स्वास्थ्य-जागरूकता"
------

*** मरीज रोता कराहता आता है दिखाता दवा लिखवाता है और चलते चलते पूछता है--

डा.साहब कोई बात तो नहीं है?

* **80 साल का कोई बुजुर्ग आता है,कहता है
डा साहब सुनाई बहुत कम पड़ता है।
सुनाई की मशीन लगाने की सलाह देने पर जवाब आयेगा--
कोई कान में डालने की दवा लिख दीजिए कान खुल जाये मुझसे भी बूढ़े टनाटन सुनते हैं


*** डा.साहब हम बहुत गरीब हैं।
दवा बढ़िया से बढ़िया लिखिये चाहे कितनो मँहगा हो


* **कान में दर्द खुजली कान सुन्न हो गया कान में सीटी की आवाज लेकर आया।
एक सप्ताह दवा करके आया आते ही शिकायत फेंका--जरा सा भी फायदा नहींहै।
पूछने पर पता चला सीटी बज रही है बाकी सब ठीक हो गया।


*** जरा भी फायदा नहीं है डा साहब।
पूछने पर पता चला 5दिन कि दवा लिखी गई थी
आया है पाँच महीने बाद।


* **फाॅलोअप में आकर मरीज बोला--
दवा दो दिन लेकर बंद कर दिए हमारे मामू के साढू के लडके ने कहा है दवा हाई पावर का है रेक्शन कर देगा।
पता चला कि सलाहकार सातवीं फेल है आवारा घूमता है।


* **दर्द नार्मल है
ठंडी दवा लिखियेगा


* **थायरायड की दवा 2 महीने खाये जाँच में नार्मल हो गया तो दवा बंद कर दिये।
दुबारा क्यों हो गया कैसी दवा लिखे थे आप ??










No comments:

Post a Comment