Popads

Sunday, 1 November 2015

युधिष्ठिर – बीफ बैन आखिर क्यों?

पांचो भाइयों में सिर्फ युधिष्ठिर ही वामपंथी विचारधारा और स्यूडोसेकुलरिज्म के अनुयायी थें. बाकी के बचे चार यानी वृकोदर भीम, फल्गुनी अर्जुन, और अश्विनीकुमारों के अंश नकुल सहदेव पक्के फेनेटिक हिन्दू थे. पर प्यास तो किसी को भी लग सकती है, तो सभी को लग गयी.

सबसे पहले सहदेव सरोवर गया पानी लाने के लिए, उस सरोवर का अधिपति यक्ष पक्का वामपंथी था और एक नंबर का स्यूडोसेकुलर. जैसे ही सहदेव ने सरोवर में मटका डाला, यक्ष ने चीख कर बोला.

सावधान सहदेव, अगर जल चाहते हो तो मेरे प्रश्नों का का उत्तर दो.

सहदेव: ठीक है पूछो जो पूछना चाहते हो

यक्ष – कौन हूँ मैं?
सहदेव: तुम लैंड एन्क्रोचर हो, तुम्हारा घर तुडवा के एक मंदिर बनवाया जाना चाहिए
बिजली कौंधी और सहदेव ढेर.

कुछ देर बाद नकुल वहां आया, फिर वही हुआ? यक्ष ने वही सवाल पुछा.

यक्ष – कौन हूँ मैं?
नकुल: तुम केजरीवाल के रिश्तेदार लग रहे हो, थिएट्रीकालिटी का शौक सेम टू सेम है
बिजली कौंधी और नकुल ढेर.

कुछ देर बाद अर्जुन वहां आया, फिर वही हुआ? यक्ष ने वही सवाल पुछा.

यक्ष – कौन हूँ मैं?
अर्जुन: तुम वाड्रा हो, यक्ष का भेस बदल के आये हो. तभी सरकारी प्रॉपर्टी लपेट के बैठे हो? हुडा ने दिलवाई ना?
बिजली कौंधी और अर्जुन ढेर.

कुछ देर बाद भीम वहां आया, फिर वही हुआ? यक्ष ने वही सवाल पुछा.

यक्ष – कौन हूँ मैं?
भीम: उठा के पटक दूंगा ज्यादा चूंचपड़ की तो
बिजली कौंधी और भीम ढेर.

कुछ देर बाद युधिस्ठिर वहां आया, फिर वही हुआ? यक्ष ने वही सवाल पुछा.

यक्ष – कौन हूँ मैं?
युधिष्ठिर – तुम माइनॉरिटी हो, यक्ष जाति के लोग कम होते हैं और क्यूंकि तुम माइनॉरिटी हो तुम्हारे साथ बहुत ज्याद्द्तियाँ हो रही हैं

यक्ष – ह्म्म्म उम्दा, जीवन का उद्देश्य क्या है?
युधिष्ठिर – जीवन का उद्देश्य सेक्युलरिज्म है

यक्ष – संसार में दुःख क्यों है?
युधिष्ठिर – क्यूंकि हिन्दू मुसलमानों को मार रहा है, हिन्दू सिखों को मार रहा है, हिन्दू ईसाईयों को मार रहा है

यक्ष – भाग्य क्या है?
युधिष्ठिर – माइनॉरिटी रिलिजन में पैदा होना, या कोटे वाले कास्ट में पैदा होना ही भाग्य है।

यक्ष – सुख और शान्ति का रहस्य क्या है?
युधिष्ठिर – सदैव हिन्दू धर्म की निंदा करना, हिन्दुओं की हत्याओं को गौण मानना, माइनॉरिटी पे हुई छोटी छोटी से घटना की निंदा करना, प्रधान मंत्री का इस्तीफ़ा माँगना ही सुख और शान्ति का रहस्य है

यक्ष – चित्त पर नियंत्रण कैसे संभव है?
युधिष्ठिर –जब कभी भी हिन्दू धर्म पर कोई आक्षेप या प्रहार हो तो वहां से हट जाना या फिर इनडिफरेंट हो जाने से चित्त पर नियंत्रण संभव है

यक्ष – सच्चा प्रेम क्या है?
युधिष्ठिर – अपने धर्मं का अनादर, दूसरो का आदर
यक्ष – बुद्धिमान कौन है?
युधिष्ठिर – जो बिना कोटे के भी सरकारी नौकरी पा ले वही बुद्धिमान है
यक्ष – कमल के पत्ते में पड़े जल की तरह अस्थायी क्या है?
युधिष्ठिर – भारत में हिन्दुओं का भविष्य
यक्ष – नरक क्या है?
युधिष्ठिर – दोज़ख का पर्यायवाची शब्द
यक्ष – दुर्भाग्य का कारण क्या है?
युधिष्ठिर – भारत का प्रधान मंत्री मोदी
यक्ष – सौभाग्य का कारण क्या है?
युधिष्ठिर – दिल्ली का मुख्यमंत्री केजरीवाल
यक्ष – सारे दुःखों का नाश कौन कर सकता है?
युधिष्ठिर – मोदी को छोड़ के कोई भी कर सकता है, मोदी बस दुःख ही दे सकता है
यक्ष – दिन-रात किस बात का विचार करना चाहिए?
युधिष्ठिर – की देश में सेक्युलरिज्म की तूती कैसे बोले?
यक्ष – सबसे बड़ा प्रश्न क्या है
युधिष्ठिर – बीफ बैन आखिर क्यों?
यक्ष – काजल से काला क्या है?
युधिष्ठिर – दो हजार दो गुजरात दंगो के दाग
यक्ष – सबसे सम्मानित लोग कौन है?
युधिष्ठिर – अकादेमी अवार्ड विजेता लेखक और कवि
यक्ष – सबसे बड़ा सत्य क्या है?
युधिष्ठिर – यही की देश में कभी भी कोई दंगे नहीं हुए, जैसे ही मोदी पीएम बना वैसे ही दंगे शुरू हो गए
यक्ष – सबसे बड़ा असत्य क्या है?
युधिष्ठिर – की भारत देश प्रगति कर रहा है, या फिर कर भी सकता है
यक्ष – कौन सी विचारधारा सबसे उत्तम है?
युधिष्ठिर – वामपंथी
यक्ष – कौन सी विचारधारा सबसे निम्न है?
युधिष्ठिर – राष्ट्रवादी

युधिष्ठिर के धर्मनिरपेक्ष बयानों से यक्ष अत्यंत प्रसन्न हुआ. उसने सरोवर का फाटक युधिष्ठिर के लिए खोल दिए. युधिष्ठिर ने अपने भाइयों का जीवन दान भी माँगा, जो यक्ष ने सहर्ष लौटा दिया.

No comments:

Post a Comment