Saturday, 27 June 2015

हिंदी चुटकुले…कभी किसी औरत की उम्र नहीं पूछनी चाहिए.

हिंदी चुटकुले…कभी किसी औरत की उम्र नहीं पूछनी चाहिए.

एक बार एक सास अपनी बहु से परेशान थी ,क्यूंकि वो कोई काम नहीं करती थी ,
एक दिन सास ने अपने बेटे के साथ मिलकर सलाह करी कि –कल सुबह मैं घर में झाड़ू लगाऊँगी , और तुम मुझे टोकना कि लाओ माँ मैं कर देता हूँ ,
इस तरह चुड़ैल (बहु ) को कुछ तो शर्म आएगी ,
सुबह जैसे ही माँ झाड़ू लगाने लगी ,,,
लड़का – लाओ माँ मैं कर देता हूँ ,,
बहु – अरे इसमें झगड़ने की क्या बात है..
एक दिन माँ लगाएंगी एक दिन तुम लगा लेना
.
.
.
.

सरदार सरदारनी रेलवे स्टेशन पर खड़े ट्रेन का
इंतजार कर रहे थे ,,
तभी एक गाड़ी आई जिस पर लिखा था

"बॉम्बे मेल"
सरदार भाग कर गाड़ी में चढ़ गया ,,
बीवी से बोला –
जब "बॉम्बे फीमेल" आये तो तू भी चढ़
जाना
.
.
.
बाबूचंद आईसीयू में भर्ती था और
अपनी आखिरी सांसें गिन रहा था।
.
.
.
.
अंतिम समय में वह गीता पाठ
सुनना चाहता था, जिसके लिए एक पंडित को बुलाया गया।
.
.
.
.
पंडित ने जैसे ही पलंग के पास खड़े होकर पाठ करना शुरू किया, बाबूचंद की तबीयत और बिगड़ने लगी।
.
.
.
.
वह हांफ रहा था और कुछ कहना चाह रहा था, लेकिन बोल नहीं पा रहा था।
.
.
.
.
उसने कागज-पेन की तरफ इशारा किया तो उसे एक कागज-पेन दे दिया गया।
.
.
.
.
बाबूचंद ने कागज पर एक नोट लिखा पंडित को दिया और गुजर गया।
.
.
.
.
पंडित को लगा कि यह नोट पढ़ने का सही समय नहीं है, इसलिए उसने कागज अपनी जेब में रख लिया।
.
.
.
.
बाबूचंद का क्रियाकर्म कर दिया गया और उसके बाद शोकसभा आयोजित की गई।
.
.
.
.
शोकसभा में पंडित को बोलने
का मौका दिया गया तो वह बोला, 'बाबूचंद बेहद नेक इंसान थे।
.
.
.
.
जब वे अपनी आखिरी सांसें ले रहे थे, तब मैं उनके साथ ही था और उन्होंने अपने आखिरी शब्द मुझे लिखकर दिए थे।
.
.
.
.
उनकी इच्छा अनुसार आज सबके सामने मै वो नोट पेश कर रहा हु।
.
.
.
.
पंडित ने वो नोट एक व्यक्ति को दिया और कहा तेज़ आवाज़ से पढकर सबको सुनाइए।
.
.
.
.
उस व्यक्ति ने नोट लिया और तेज़ आवाज़ में पढ़कर सुनाया।
.
.
.
.
उन्होंने लिखा, 'अरे पंडित. तू मेरे
ऑक्सीजन पाइप पर खड़ा है हट जा वरना मैं मर जाऊँगा ।
फिर..............










आज पंडित की शोकसभा है 
.
.
.
एक शराबी पूरा टून्न हो कर घर जा रहा था!
रास्ते में मंदिर के बाहर पुजारी दिखा!
शराबी ने पुजारी से पूछा सबसे बड़ा कौन?
उस से पीछा छुड़ाने के लिए पूजारी ने कहा ये मंदिर बड़ा
शराबी बोला मंदिर बड़ा तो धरती पर कैसे खड़ा!
पुजारी: धरती बड़ी!
शराबी: धरती बड़ी तो शेषनाग पर क्यों खड़ी?
पुजारी: शेषनाग बड़ा!
शराबी: शेषनाग बड़ा तो शिव के गले में क्यों पड़ा!
पुजारी: शिव बड़ा!
शराबी: शिव बड़ा तो पर्वत पर क्यों खड़ा?
पुजारी: पर्वत बड़ा!
शराबी: पर्वत बड़ा तो हनुमान की ऊँगली पर क्यों पड़ा?
पुजारी: हनुमान बड़ा!
शराबी: हनुमान बड़ा तो राम के चरणों में क्यों पड़ा?
पूजारी: राम बड़ा!
शराबी: राम बड़ा तो रावण के पीछे क्यों पड़ा?
पूजारी: अरे मेरे बाप तू बता कौन बड़ा?
शराबी: इस दुनिया में वो बड़ा
जो पूरी बोतल पीकर भी सीधा खड़ा !

.
.
.
.
कभी किसी औरत की उम्र नहीं पूछनी चाहिए.
औरतो की उम्र नहीं होती.
उनकी सिर्फ अवस्था होती है.
बबली,
बेबी
बेब्स
बेबे
और
बा.

No comments:

Post a Comment