Tuesday, 21 April 2015

दारू का पहाङा:

दारू का पहाङा:
.
दारू एकम दारू - महफिल हुइ चालू
.
दारू दुनी गिलास -
मजा आयेगा खास
.
दारू तिया वाईन - टेस्ट एकदम फाईन
.
दारू चौके बियर - डालो नेक्स्ट
गियर
.
दारू पंजे रम - भूल जाओ गम
.
दारू छक्के ब्रांडी - खाओ चिकन
हाँडी
.
दारू सत्ते व्हिस्की - काॅकटेल है
रिस्की
.
दारू अठ्ठे बेवडा - लाओ सेव चिवडा
.
दारू नम्मे खंबा - ज्यादा हो गइ,
थांबा
.
दारू दहाम चस्का - नेक्स्ट
पार्टी किसका?


अर्ज़ किया हैं...

रोक दो मेरे जनाजे को अब
मुझमे जान आ रही हैं..
आगे से थोडा राईट ले लो
दारु की दूकान आ रही हैं |
"बोतल छुपा दो कफ़न में मेरे,
शमशान में पिया करूंगा,
जब खुदा मांगेगा हिसाब,
तो पैग बना कर दिया करूंगा"
"नशा" "महोब्बत " का हो
"शराब" का हो ...-
या -"whatsapp " का हो
" होश " तीनो मे खो जाते है
" फर्क " सिर्फ इतना है की,
"शराब" सुला देती है ..
"महोब्बत " रुला देती है ,
- और -
"whatsapp " यारो की
याद दिला देती है ..!
समर्पित
सभी प्यारें दोस्त के लिए ┓┈┈┈┈┈┈┈┈┈┈┈
┈┈┈┣┫┈┈┈┈┈┈┈┈┈┈┈
┈┈╭╯╰╮┈┏━┓┈┏━┓┈┈
┈┈┃╭╮┃┈┣━┫┈┣━┫┈┈
┈┈┃┣┫┃┈╰┳╯┈╰┳╯┈┈
╲╲┃┗┛┃╲╲┃╲╲╲┃╲╲╲
╲╲╰━━╯╲╲┻╲╲╲┻╲╲╲
जाम पे जाम पीने का क्या फ़ायदा?
शामको पी, सुबह उतर जाएगी.
अरे दो बून्द दोस्ती के
पी ले ज़िन्दगी सारी नशे में गुज़र जाएगी... े

No comments:

Post a Comment