Thursday, 2 April 2015

Hindi Majedar Chutkule............हिंदी मजेदार चुटकुले ...........मम्मी - इस कुत्ते के सामने मत नाचना

हिंदी मजेदार चुटकुले 


सुबह सुबह पत्नी चाय नाश्ता पूछने आई तो
मैंने
कहा बना दो ।
,
,
,
फिर रुक कर पूछने लगी जी ये अटल
बिहारी वाजपेयी को भारत रत्न मिल
रहा है ऐसा
कौन सा काम किया था उन्होंने ?
,
,
,
,
,
,
,
,
मैंने कहा : - उसने शादी नहीं की थी
इसलिये..।
,
,
,
,
,
,
,
,
,
,
बस उसके बाद ना चाय आई ना
नाश्ता....।
.
.
.
संता का जवाब!
पप्पू की शैतानियों से तंग आ कर संता और जीतो ने फैंसला लिया कि उसे हॉस्टल में भेज दिया जाये। इसलिए पप्पू का सामान बाँध कर उसे हॉस्टल छोड़ आये।
अभी हॉस्टल में पप्पू का केवल एक हफ्ता भी नहीं गुज़रा था कि उसके हॉस्टल से उसके वार्डन का संता को फ़ोन आ गया और वार्डन बोला,"जी क्या मैं पप्पू की पिता जी से बात कर सकता हूँ?"
संता: जी हाँ कहिये मैं बोल रहा हूँ।
वार्डन: जी आपके बेटे पप्पू ने अपनी शैतानियों से सारे हॉस्टल की नाक में दम कर रखा है।
वार्डन की बात सुन कर संता तुरंत बोला, "अरे जी वाह आपने तो एक हफ्ते में ही फ़ोन कर दिया, हम भी तो इतने सालों से उसे पाल रहे हैं हम ने तो कभी किसी से शिकायत नहीं की।"
.
.
.
.
.
बाप अपने बेटे को पीट रहा था 
पड़ोसी बोला यार क्यों पीट रहे हो
बाप: अगले हफ्ते हरामखोर का रिजल्ट है
.
.
.

.
.
.

और मैं बाहर जा रहा हूँ
.
.
.
.
ग्राहक (दुकानदार से)- कमाल है। एक घंटे पहले तो तुम इस बकरी के 1000
रुपये मांग रहे थे अब क्या हो गया तुम इस बकरी के 1100 मांग रहे हो।
दुकानदार (ग्राहक से)- क्योंकि इस बीच यह बकरी मेरा
100 रुपये नोट चबा गई है।
.
.
.
.
एक फैमिली "शोले" फिल्म देखकर घर पर लौटी। 
.
.
फिल्म का जोश रग रग में दौड रहा था तो पति ने मजाकिया अंदाज़ में अपनी पत्नी से कहा, "नाच बसंती नाच।"
.
.
तभी उनका बच्चा बोला, "मम्मी - इस कुत्ते के सामने मत नाचना।"
.
.
.
.
संता :-- कौन सी कास्ट ( जाति ) के
लोग अच्छे नागरिक होते हैं ?
बंता :-- बनिए ……!
संता :-- वो कैसे..?..
बंता :--
हर जगह लिखा होता है,
देश के अच्छे नागरिक "बनिए" !
देशभक्त "बनिए" !
समझदार "बनिए"!
इमानदार "बनिए"!
सच्चे "बनिए"!
पढेलिखे "बनिए"!
सामाजिक "बनिए"!
व्यवहारिक "बनिए"!
शाकाहारी "बनिए"!
सात्विक "बनिए"!
धामिर्क "बनिए"!
.
.
.
.
भगवान: क्या चाहिए तुझे?
आदमी: एक नौकरी, पैसो से भरा कमरा, सुकून की नींद और गर्मी से छुटकारा।
भगवान: तथास्तु!
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
आज वो आदमी ATM में गार्ड है।
.
.
.
.
कौन कमबख्त कहता है लङके कम सोचते है,
°
°
लङकी एक बार मुस्कुरा कर तो देखे,
° 
°
शेरवानी के रंग से लेकर बच्चो तक के नाम सोच लेते है|

1 comment:

  1. Brilliant, what a blog it is! This blog provides valuable Chutkule, messages , sms on FUNNY JOKES, CHUTKULE, HINDI JOKES, LOVE QUOTES to us, keep it up.

    ReplyDelete