Wednesday, 10 December 2014

हिंदी मस्त मजेदार चुटकुले

हिंदी मस्त  मजेदार चुटकुले

एक बार एक नवनियुक्त शिक्षिका बच्चों से परिचय करते हुए उनसे उनके बारे में जानकारी ले रही थी, सभी बच्चों से सवाल करते-करते अचानक वह पप्पू के पास पहुंची और उस से पूछा," तुम्हारा नाम क्या है?" पप्पू: जी मेरा नाम पप्पू है। शिक्षिका: अच्छा तो बेटा पप्पू तुम कहाँ पैदा हुए थे? पप्पू: जी तिरुवनंतपुरम (Thiruvananthapuram) में। शिक्षिका: अच्छा तो क्या तुम तिरुवनंतपुरम की स्पेलींग (Spelling) बता सकते हो? पप्पू कुछ देर सोचता रहा और फिर शिक्षिका से बोला, " मैडम जी मुझे लगता है कि मैं गोवा (Goa) में पैदा हुआ था।
.
.
.
.
मेवालाल अपने कुत्ते को घुमा रहा था
पड़ोसी : कुत्ते को घुमा रहे हो?
मेवालाल : नहीं भाई ऊंट है। बस कद छोटा रह गया है!
***
मेवालाल के दादा जी का निधन हो गया।
छगन (मेवालाल से ) : मर गए क्या?
मेवालाल : नहीं, बाजार घुमाने ले जा रहे हैं। शाम को घर पर छोड़ देंगे। आप कहें तो
आपके घर छोड़ आएंगे!
***
उल्टे जवाब देने के कारण मेवालाल की पिटाई हो गई और हाथ फ्रैक्चर हो गया।
दोस्त : हाथ में चोट लग गई क्या?
मेवालाल : नहीं भाई फैशन है!
***
रेल ड्राइवर मेवालाल के इंजन से भैंस कट गई। उस पर केस हो गया।
जज : जब यह भैंस कटी तो यह पटरियों पर थी?
मेवालाल : न जी खेत में चर रही थी। वह तो इंजन की नीयत खराब हो गई थी।
***
रेलवे से निकाले जाने के बाद मेवालाल घड़ी सुधारने का काम करने लगा। एक
दिन वह घंटाघर की घड़ी सुधारकर उतर रहा था।
राहगीर : घड़ी खराब हो गई थी क्या?
मेवालाल : नहीं, नजर कमजोर है, टाइम देखने ऊपर चढ़ा था!
----------

मेवालाल बाल कटवाने गया। 
बार्बर : बाल छोटे करने हैं?
मेवालाल : क्यों बड़े भी हो सकते हैं क्या?
.
.
.
.
पति ने पत्नी को मैसेज किया , ‘क्या कर रही हो?’
पत्नी ने जवाब दिया ‘आई
एम ‘डाइंग’।’ पति खुशी से
फूला नहीं समाया लेकिन फिर
भी उसने पत्नी को रिप्लाय
किया, ‘ओह नो, स्वीट हार्ट, अब मैं तुम्हारे बिना कैसे
जी पाऊंगा।’
पत्नी : अरे बेवकूफ मैं बाल ‘डाई’
कर रही हूं, मर नहीं रही हूं।
.
.
.
.
एक फैक्टरी के दो कर्मचारी,
मेवालाल और चमेली आपस में
बात कर रहे थे। चमेली बोली, ‘मैं
बॉस से छुट्टी लेने जा रही हूं।’ मेवालाल ने पूछा , ‘हां जैसे बड़ा आसान है बॉस से
छुट्टी लेना। तुम ऐसा कैसे
करोगी?’ चमेली ने जवाब दिया , ‘तुम बस देखते जाओ।’ ऐसा कहकर वह छत
से उल्टी लटक गई। जब बॉस
आया तो उसने चमेली से पूछा,
‘यह क्या कर रही हो?’ चमेली : सरमैं एक बल्ब हूं। 
बॉस : लगता है ज्यादा काम करने से तुम्हारा दिमाग खराब
हो गया है। तुम्हें
छुट्टी की जरूरत है। जाओ, घर
जाओ। चमेली घर जाने
लगी तो मेवालाल भी उसके
पीछे-पीछे जाने लगा।
बॉस ने पूछा , ‘तुम कहां जा रहे हो?’ मेवालाल ने जवाब दिया,
‘मैं भी घर जा रहा हूं।
बिना बल्ब के अंधेरे में कैसे काम
करूंगा?’
.
.
.
.
पुलिसवाला : मैडम दरवाजा खोलिए। आपके पति का एक्सीडेंट हो गया है। दब के बिल्कुल पापड़ बन गए हैं।
पत्नी : तो दरवाजा खोलने की क्या जरूरत है? नीचे से ही खिसका दीजिए।
***
पुलिसवाला (फोन पर) : मैडम आपके पति का एक्सीडेंट हो गया है। आप उनकी पहचान कर सकती हैं?
पिंकी : मैं अभी बिजी हूं। आप फोटो खींचकर फेसबुक पर डालकर टैग कर दीजिए। अगर मेरे ही पति होंगे तो मैं फोटो लाइक कर दूंग
.
.
.
.
अंग्रेजी के प्रोफेसर से एक स्टूडेंट ने पूछा कि सर नेटुरे का अर्थ क्या होगा? प्रोफेसर साहब हैरान! टालने के लिए कह दिया कि कल बता दूँगा। उन्होंने पूरी डिक्शनरी छान मारी, किन्तु उन्हें नेटुरे शब्द नहीं मिला। अगले दिन स्टूडेंट ने फिर से पूछा कि सर नेटुरे का मतलब क्या होता है? उस दिन भी उन्होंने बात टाल दी। अब तो वह रोज़ पूछने लगा। प्रोफेसर साहब उससे इतना घबराने लगे कि उस लड़के को देखते ही रास्ता बदल देते, किन्तु वह रोज़ आकर उनको टेँशन देकर चला जाता। अंत में झुँझला कर उन्होने उस लड़के से कहा कि मुझे नेटुरे की स्पेलिंग बताओ। लड़के ने। कहा NATURE। अब तो प्रोफसर साहब का ख़ून खौल गया। उन्होंने उस लड़के से कहा कि मुझे बेवकूफ बनाते हो, नेचर को नेटुरे कह कह कर तुमने मेरा जीना मुश्किल कर दिया था। मैं तुम्हें कालेज से निकलवा दूँगा। लड़के ने झट से प्रोफेसर साहब के पैर पकड़ लिये और रोते रोते कहा कि सर ऐसा अनथॅ मत कीजिएगा नहीं तो मेरा " फुटुरे " ख़राब हो जाएगा ।
.
.
.
.
गांव में स्कूल श्मशान घाट के करीब ही था। जब गांव में किसी की मौत हो जाती तो स्कूल में छुट्टी कर दी जाती थी। आज भी किसी के मरने पर स्कूल में छुट्टी हो गई थी। सभी बच्चे अपने-अपने घर जा रहे थे। चुन्नू-मुन्नु भी घर जा रहे थे।
.
.
रास्ते में दो बुजुर्ग शराब पीते दिखाई दिए।
.
.
चुन्नू-मुन्नु उनको देख हंसने लगे। एक बुजुर्ग ने चुन्नू से पूछा, ‘क्यों हंस रहे हो बे।’
.
.‘दादा, मुन्नु कह रहा है, सामने देख दो छुट्टियां शराब पी रही हैं!’

No comments:

Post a Comment