Tuesday, 28 October 2014

Ha Ha Ha Ha ..........‘हैप्पी न्यू ईयर’ (एचएनवाई) के पीड़ितों को ढांढस बंधाने मुंबई पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी..........“एक परेशानी ख़त्म हुयी नहीं, दूसरी आ जाती है”

‘हैप्पी न्यू ईयर’ (एचएनवाई) के पीड़ितों को ढांढस बंधाने मुंबई पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी

Posted by बगुला भगत

मुंबई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ‘हैप्पी न्यू ईयर’ (एचएनवाई) प्रभावित सिनेमाघरों का दौरा किया और रोते-बिलखते दर्शकों को ढांढस बंधाया। अंधेरी के एक मल्टीप्लैक्स से बाहर निकलते हुए प्रधानमंत्री ने एलान किया कि “एचएनवाई एक राष्ट्रीय आपदा है। केंद्र सरकार इसके पीड़ितों को सौ करोड़ रुपये का मुआवज़ा देगी।”


“एक परेशानी ख़त्म हुयी नहीं, दूसरी आ जाती है”

मल्टीप्लैक्स के बाहर प्रदर्शन कर रहे ‘एचएनवाई’ के पीड़ितों के परिजनों ने प्रधानमंत्री का घेराव किया और फ़राह ख़ान पर कार्रवाई की मांग की। उन्होंने प्रधानमंत्री से पूछा कि, “जब फ़राह ख़ान ख़ुद कह रही है कि यह दुनिया की सबसे बड़ी चोरी है, तो सरकार उससे हमारे पैसे वापस क्यों नहीं दिलवाती?”

उधर, ‘हैप्पी न्यू ईयर’ के पीड़ितों के लिए राहत पैकेज का एलान होते ही ‘हमशकल्स’ के पीड़ित भी अपने लिए मुआवज़े की मांग करने लगे हैं। ‘हमशकल्स पीड़ित संघ’ (हपस) के अध्यक्ष विजय दुबे ने कहा कि, “लोग फराह की फ़िल्म के सदमे से उबरते हैं तो साजिद की फ़िल्म आ मारती है। इसलिए हम चाहते हैं कि दोनों भाई-बहनों के पीड़ितों को बराबर मुआवज़ा मिलना चाहिए।”

कांग्रेस के प्रवक्ता अजय माकन ने भी प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि, “मोदी जी से एक फ़राह तो रुकती नहीं और बात करते हैं अल-क़ायदा को रोकने की!”

प्रधानमंत्री के दौरे के बाद फ़ेकिंग न्यूज़ ने भी घटनास्थल पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों से बात की। एक प्रत्यक्षदर्शी ने हमारे संवाददाता को बताया कि, “आज सुबह ‘हैप्पी न्यू ईयर’ शुरु होने के थोड़ी देर बाद ही मल्टीप्लैक्स से धुआं निकलने लगा था। हम सब दौड़कर वहां पहुंचे तो पता चला कि फ़िल्म देख रहे दर्शकों की सुलग रही है और ये धुआं इसी वजह से निकल रहा है।”

फ़िल्म देखने के आधे घंटे बाद तक धुआं छोड़ रहे एक दर्शक संजय घोपड़ेकर ने ग़ुस्से में कहा कि, “आज गोवर्धन है तो क्या इसका मतलब ये है कि मैं फ़राह ख़ान का गोबर देखूं?” इसके बाद घोपड़ेकर ने फ़िल्म के टिकट की बत्ती बनाकर मुंह में डालते हुए एलान किया कि “अब मैं नये साल पर भी किसी को ‘हैप्पी न्यू ईयर’ नहीं बोलूंगा!”

No comments:

Post a Comment