Popads

Tuesday, 17 June 2014

बच्चों का बिस्तर पर पेशाब करना - Natural home remedies

बच्चों का बिस्तर पर पेशाब करना -



बच्चों का थोड़ा बड़े होने पर पेशाब करना एक आम समस्या है | इस समस्या के बहुत से कारण हो सकते हैं | कई अनुभवियों के अनुसार स्नायु विकृति के कारण या पेट में कीड़े होने पर भी बच्चे सोते हुए बिस्तर पर पेशाब कर देते हैं | पेशाब की नली में रोग के कारण भी बच्चा सोते हुए पेशाब कर देता है | 
कई बार कुछ गरिष्ठ भोजन व ठंडे पदार्थों के अधिक सेवन से भी यह समस्या उत्पन्न हो जाती है | इस समस्या को समाप्त करने के लिए कोई भी औषधि देने से पूर्व माता-पिता को बच्चे के भोजन की कुछ आदतें सुधारनी जरूरी हैं | 
बच्चों को सोने से एक घंटा पहले भोजन करा देना चाहिए और सोने के बाद उसे जगाकर कुछ भी खाने-पीने को नहीं देना चाहिए | बच्चे को बिस्तर पर जाने से पहले एक बार पेशाब अवश्य करा देना चाहिए | 

कुछ औषधियों द्वारा भी इस समस्या का समाधान सम्भव है -

१- पचास ग्राम अजवायन का चूर्ण कर लें | प्रतिदिन एक ग्राम चूर्ण को रात को सोने से पूर्व बच्चे को खिलाएं | ऐसा कुछ दिनों तक नियमित रूप से करने से यह रोग ठीक हो जाता है |

२- दो मुनक्कों के बीज निकालकर उसमें १-१ काली मिर्च डालकर बच्चों को रात को सोने से पहले खिला दें | ऐसा दो हफ़्तों तक नियमित रूप से सेवन करने से यह बीमारी दूर हो जाती है |

३- प्रतिदिन दो अखरोट और बीस किशमिश बच्चों को खिलाने से बिस्तर में पेशाब करने की समस्या दूर हो जाती है |

४- रात को सोते समय बच्चों को शहद खिलाने से यह रोग समाप्त हो जाता है |

५- जामुन की गुठलियों को छाया में सुखाकर बारीक पीस लें | इस चूर्ण का २-२ ग्राम दिन में दो बार पानी के साथ सेवन करने से बच्चे बिस्तर पर पेशाब करना बंद कर देते हैं |

६- २५० मिली दूध में एक छुहारा डालकर उबाल लें | इसे दो घंटे तक रखा रहने दें | इसके बाद इसमें से छुहारा निकाल कर बच्चे को खिला दें और इस दूध को हल्का गर्म करके ऊपर से पिला दें | ऐसा प्रतिदिन करने से कुछ ही दिनों में बच्चों का बिस्तर पर पेशाब करना बंद हो जाता है |

1 comment:

  1. कुछ बच्चे प्राय: बिस्तर पर पेशाब कर देते हैं| ऐसे बच्चों को शाम के समय अधिक गरम अथवा शीतल पेय नहीं देना चाहिए|

    कारण
    स्नायु की दुर्बलता तथा बदहजमी के कारण बच्चे सोते समय बिस्तर पर पेशाब कर बैठते हैं| कभी-कभी ठंड लगने से भी बच्चे बिस्तर गंदा कर देते हैं| ऐसे बच्चों के स्नायु कमजोर होते हैं| वे सोते समय अचेतन अवस्था में पेशाब रोग का वेग नहीं रोग पाते| फलस्वरूप बिस्तर पर पेशाब कर देते हैं|

    नुस्खे
    10 ग्राम प्याज का अर्क तैयार करें| उसमें 3 ग्राम एलुवा घोल लें| इस पेस्ट को बच्चे की पसलियों तथा पेट पर मलें|
    कबूतर की बीट पानी में घोलकर बच्चे के पेड़ू पर चंदन की तरह मलें|
    अखरोट की गिरी तथा किशमिश - दोनों को पीसकर चटनी के रूप में बच्चे को खिलाएं|
    सुखा आंवला, काला जीरा तथा मिश्री - सभी 2-2 ग्राम की मात्रा में कूट-पीसकर पानी के साथ खिलाना चाहिए|
    नित्य दो छुहारे खिलाने से बच्चा बिस्तर पर पेशाब नहीं करता|
    जामुन की गुठली कूट-पीसकर एक चम्मच चूर्ण पानी के साथ रात में बच्चे को खिलाएं|
    50 ग्राम काले तिल तथा 50 ग्राम गुड़ - दोनों को मिलाकर सुबह-शाम 10 ग्राम की मात्रा में खिलाएं|


    Source: http://webcache.googleusercontent.com/search?q=cache:http://spiritualworld.co.in/homemade-remedies/6426-bed-wetting.html#ixzz34rkkLUbC
    http://www.spiritualworld.co.in

    ReplyDelete