Popads

Thursday, 12 June 2014

Jokes and Cartoons on Hot Summer and Light Cut ...................

बिजली कटौती पर विशेष

रहिमन चार्जिँग राखिए, इनवर्टर सुबह ओ शाम....

इनवर्टर बिन चले नहीँ, गर्मी मेँ किसी का काम....


बिजली के इंतजार मेँ, इनवर्टर हुआ फेल....

सीलिँग फैन को भूल जा, हाथ से पंखा झेल....


बिजली की हालत देखकर, दिया कबीरा रोय....

एसी कूलर सब है घर मेँ, लेकिन चले न कोय....


बड़ा हुआ सो क्या हुआ, जैसे एसी व्हर्लपूल....

सुबह शाम रहती यहाँ, रोजाना बिजली गुल....


रात गँवायी जाग के, दिवस गँवाया सोय....

बिजली के इस फेर मेँ, काम हुआ न कोय....


बिजली इतनी दीजिए, रात नीँद आ जाए....

मैँ भी चैन से सो सकूँ, बच्चा भी सो जाए....


बिजली आवत देख के, अम्मा करे पुकार....

चार्जर तेरा फेँक उधर, लगा मिक्सी का जार....


घर के बीचोँ बीच एक, कुआँ लो खुदवाय....

बिजली पानी न मिले, फिर भी प्यास बुझ जाए....


रहिमन पंखा हाथ का, मत फेँको किसी ओर....

ढूंढते हुए हो जाओगे, पसीने से सराबोर....


चाहे घर मेँ लगा रखे होँ, कूलर एसी फूल....

तुलसी तहाँ न जाइए, बिजली रहती गुल....


मोमबत्ती और चिमनी का, गया जमाना बीत....

बिजली के इस ड्रामे से, फिर से लौटी रीत....


रहिमन घर मेँ केरोसिन, तुरतहिँ लो मंगवाय....

क्या जाने किस बखत मेँ, बिजली गुल हो जाय....
.
.
.

दिल्ली की सड़कों पर एक 20 /25 साल
का लड़का रात को 12 बजे
अकेला चला जा रहा था.
तभी उसे रास्ते पर एक आदमी मिला जो फुटपाथ पर सिर्फ एक चड्डी पहन कर बैठा था...
.
.
लड़के को उस
आदमी पर दया आ गयी और उसने अपनी जेब से 50 रुपये निकाल कर उस
आदमी को दे दिये.
.
.
.
आदमी ने पहले पैसे को देखा, चुपके से
खड़ा हुआ और एक ज़ोरदार थप्पड़ उस लड़के
को जड दिया.
लड़का हक्का बक्का रह गया.
तब उस आदमी ने कहा " वो सामने वाला फ्लैट देख रहे हो, वो मेरा ही है. लाइट
नही है इसलिये बिना कपड़ों के सड़क पर
बैठा हूँ"!
.
.
.
.

.

Also Enjoy in this summer
.
.

.
.

No comments:

Post a Comment