Popads

Saturday, 26 April 2014

Jokes................यह खाट बिछा लो आँगन में, लेटो, बैठो, आराम करो .................& Message to wife.........

Kangana hit the ball
Kangana took a single
Kangana did not reach the crease
Kangana Ranaut.

Sameera went to a parlor
Sameera did her hair
Sameera did her makeup
Sameera Reddy

Hrithik buys bulb
Hrithik puts bulb in socket
Hrithik switches bulb on
hritik roshan

Lakshmi is single ready to mingle
Lakshmi meets Balaji
Lakshmi loves Balaji
Lakshmi marries Balaji
Lakshmipathy Balaji

Ek aur..

Sonia was walking
sonia slipped.
sonia fell into the drain
sonia gandhi

Umar walking on the road
Umar got kidnapped
Umar not found by family

Umar gul
.
.
.
.
Kavi samrat Sri Pradeep Chaubey
Epic
एक मित्र मिले, बोले, "लाला, तुम किस चक्की का खाते
हो?
इस डेढ़ छँटाक के राशन में भी तोंद बढ़ाए जाते हो।
क्या रक्खा है माँस बढ़ाने में, मनहूस, अक्ल से काम करो।
संक्रान्ति-काल की बेला है, मर मिटो, जगत में नाम
करो।" हम बोले, "रहने दो लेक्चर, पुरुषों को मत बदनाम करो।
इस दौड़-धूप में क्या रक्खा, आराम करो, आराम करो। आराम
ज़िन्दगी की कुंजी, इससे तपेदिक होती है।
आराम सुधा की एक बूंद, तन का दुबलापन खोती है।
आराम शब्द में 'राम' छिपा जो भव-बंधन को खोता है।
आराम शब्द का ज्ञाता तो विरला ही योगी होता है। इसलिए तुम्हें समझाता हूँ, मेरे अनुभव से काम करो।
ये जीवन, यौवन क्षणभंगुर, आराम करो, आराम करो।
यदि करना ही कुछ पड़ जाए तो अधिक तुम उत्पात
करो।
अपने घर में बैठे-बैठे बस लंबी-लंबी बात करो।
करने-धरने में क्या रक्खा जो रक्खा बात बनाने में। जो ओठ हिलाने में रस है, वह कभी हाथ हिलाने में।
तुम मुझसे पूछो बतलाऊँ -- है मज़ा मूर्ख कहलाने में। जीवन-
जागृति में क्या रक्खा जो रक्खा है सो जाने में। मैं
यही सोचकर पास अक्ल के, कम ही जाया करता हूँ।
जो बुद्धिमान जन होते हैं, उनसे कतराया करता हूँ।
दीए जलने के पहले ही घर में जाया करता हूँ। जो मिलता है, खा लेता हूँ, चुपके सो जाया करता हूँ।
मेरी गीता में लिखा हुआ -- सच्चे योगी जो होते हैं,
वे कम-से-कम बारह घंटे तो बेफ़िक्री से सोते हैं। अदवायन
खिंची खाट में जो पड़ते ही आनंद आता है।
वह सात स्वर्ग, अपवर्ग, मोक्ष से भी ऊँचा उठ जाता है।
जब 'सुख की नींद' कढ़ा तकिया, इस सर के नीचे आता है, तो सच कहता हूँ इस सर में, इंजन जैसा लग जाता है।
मैं मेल ट्रेन हो जाता हूँ, बुद्धि भी फक-फक करती है।
भावों का रश हो जाता है, कविता सब उमड़ी पड़ती है। मैं
औरों की तो नहीं, बात पहले अपनी ही लेता हूँ।
मैं पड़ा खाट पर बूटों को ऊँटों की उपमा देता हूँ।
मैं खटरागी हूँ मुझको तो खटिया में गीत फूटते हैं। छत की कड़ियाँ गिनते-गिनते छंदों के बंध टूटते हैं।
मैं इसीलिए तो कहता हूँ मेरे अनुभव से काम करो।
यह खाट बिछा लो आँगन में, लेटो, बैठो, आराम करो।
.
.
.
.
बस स्टॉप पर खड़े मनचले युवक ने एक सुंदर युवती से कहा, ‘माफ कीजिए पर जाने क्यों मुझे ऐसा लगता है कि मैंने पहले आपको कहीं देखा है और आपसे बातें भी की हैं।
.
.
युवती शर्माते हुए मीठे स्वर में बोली, ‘जी हां, आप मेरे मेहमान रह चुके हैं। आपको शायद इसलिए ठीक से याद नहीं रहा, क्योंकि उस रात आपने बहुत ज्यादा पी रखी थी?’
युवक उत्साहित होकर बोला, ‘अच्छा! कब? कहां?’
.
.
युवती बोली, ‘यही कोई तीन महीने पहले। सिविल लाइंस थाने की हवालात में रात भर आपकी खातिरदारी मैंने ही तो की थी।
मैं वहां सब इंस्पेक्टर हूं।
.
.
.
.
Msg to wife.....
Meri piyari bivi !!!
Sawaal kuchh bhi ho,
Jawab tum hi ho.
Rasta koi bhi ho,
Manzil tum hi ho.
Dukh kitna hi ho,
Khushi tum hi ho.
Armaan kitna hi ho,
Aarzu tum hi ho.
Gussa jitna bhi ho,
Pyar tum hi ho.
Khwab koi bhi ho,
Taqdeer tum hi ho.
Yaani aisa samjho ki,
Fasaad Kuch bhi ho,
Saare fasaad ki jadd,
Sirf tum hi ho..grin.png
Himmat hai to apni apni biwi ko bhejna....
.
.
.
.
.
Silu Bhai:" Meri Gf banogi.. ??
.
.
Gal:" Mere parents allow nai karte..
.
.
.
.
.
.
.
Silu Bhai:" Haan mujhe to jaise mere baap ne..
"Akhil Bhartiya Ladki Patao
abhiyan Ka Chairman bana rakha h..
.
.
.
.
Teacher: We need to talk.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
Pendu Bhai: Can't talk, whatsapp only
.
.
.
.
.
Ek Aurat Ghar Par Akeli Thi Tabhi Darwaje Par Dastak Hui,
Usne Darwaja Khola To Ek Admi Khada Tha, Darwaja Kholte Hi Bola
Aadmi: “Tum Hot Maal Ho Kya”
Aurat Gabra Kar Dawaja Band Kar Deti Hai.
Agle Do Din Bhi Yahi Kram Chla To Aurat Ne Akhir Tang Aakar Ye Baat Apne Pati Ko Batai.
Pati Bola: “Chinta Mat Karo Aaj Jab Wo Aayega To Main Ghar Par Hi Hounga Aur Darwaje Ke Piche Khada Rahunga. Tum Use Bole Dena Ki Tum Hot Maal Ho”
Shaam Ko Jaisi Hi Wo Admi Aaya To Pati Darwaje Ke Pichhe Chhip Gaya.
Patni Ne Darwwaja Khola To Admi Bola: ” Tum Hot Maal Ho Kya?”
Aurat Boli: “Haan, Mein Hot Maal Hu”
Aadmi Hath Jod Kar Bola: “Ho To Apne Pati Ko Kyun Nahi Khush Karti?, Woh Sala Meri Biwi Ke Pichhe Kyo Pada Hua Hai?“







No comments:

Post a Comment