Popads

Monday, 24 February 2014

jokes....................Only the first time, Madam............

Bachpan wala vo "Itvaar" ab nahi aata..
Dost pe ab vo pyar nahi aata..
Jab vo kahta tha to nikal padte the bina ghadi dekhe..
Ab ghadi me vo samay aur vo vaar nahi aata..

Bachpan wala vo "Itvaar" ab nahi aata..

Vo cycle ab bhi muze yaad hai jispe mein uske pichhe baith ke khush ho jaya karta tha..
Ab uski car me bhi aaram nahi aata..

Jeevan ki raho me aisi ulzi hai gutthiya..
Uske Ghar ke samne se gujar ke bhi us se milna nahi ho pata..

Vo Malgudi days..
Vo mogli..
Ye Jo hai Zindagi.. Surabhi..
Rangoli aur Vo Chitrahar ab nahi aata..
Ramayan.. Mahabharat.. Chanakya..
Ka vo Kaal ab nahi aata..

Bachpan wala vo "Itvaar" ab nahi aata..

Ab har vaar Somvaar hai..
Kaam.. Dukan.. Boss..
Bas yahi zindgi hai..
Dil se Dil ki baat ka izhar nahi ho pata..

Bachpan wala vo "Itvaar" ab nahi aata..

.
.
.
.
..
..
पप्पू को भोजपुरी बोलने का भूत सवार हुआ।
.
उसने अपनी गर्लफ्रेंड को भोजपुरी में एक शायरी सुनाई, जिसके बाद गर्लफ्रेंड ने उसे बहुत पीटा!
.
.
.
अर्ज है...
.
.
.
ताजमहल कउन चीज बा,
हम एकरो से बड़ इमारत बनवा देब...

मुमताज त मर के दफन भइल रहे,
तोके ससुरी हम जिंदे दफना देब!

.
.
.
.
..
..

A wealthy socialite had a night out on the town with her friends. She awoke the next morning, totally naked and with a monster of a hang-over. So she rang for the butler and asked for a cup of strong black coffee.



"Geeves" she said, "I can't remember a thing about last night. How did I get to bed?"



"Well Madam, I carried you upstairs and put you to bed."



"But my dress?"



"It seemed a pity to crumple it, so I took it off and hung it up."



"But what about my underwear?"



"I thought the elastic might stop the circulation, so I took the liberty of removing them."



"What a night!" she said. "I must have been tight!"



"Only the first time, Madam."
.
.
.
.
..
..
Height of girl's nakhre.. Doctor: kya hua hai aapko??
.
.
.
.
. .
.
.
.
Girl: "nazar lag gyi hai"
.
.
.
.
..
..
दिग्गी पप्पू से: तुम इतने परेशान क्यों हो ?

पप्पू ने कोई जवाब नहीं दिया।

दिग्गी : क्या हुआ, क्या तुम अपना चश्मा भूल आये हो ?

पप्पू फिर चुप।

दिग्गी ने फिर से सवाल किया: क्या माइक चालू नहीं हो रहा ?

पप्पू इस बार भी चुप।

दिग्गी : हुआ क्या है, कुछ तो बताओ क्यूँ टेंशन में दिख रहे हो ?

पप्पू गुस्से से: ओये ! चुप कर यार ! , यहाँ मैं पर्ची को गलती से चबा गया हूँ और तुझे चश्मे और माइक की पड़ी हुई है ! अब सिर्फ ये बता दे कि हम खड़े कहाँ हैं ?
.
.
.
.
..
..
 फेसबुक सा फेस है तेरा, गूगल सी हैं आँखें
एंटर करके सर्च करूँ तो बस मुझको ही ताकें
रेडिफ जैसे लाल गाल तेरे हॉटमेल से होंठ
बलखा के चलती है जब तू लगे जिगर पे चोट
सुराही दार गर्दन तेरी लगती ज्यों जी-मेल
अपने दिल के इंटरनेट पर पढ़ मेरा ई-मेल
मैंने अपने प्यार का फारम कर दिया है अपलोड
लव का माउस क्लिक कर जानम कर इसे डाउनलोड
हुआ मैं तेरे प्यार में जोगी, तू बन जा मेरी जोगिन
अपने दिल की वेबसाईट पर कर ले मुझको लोगिन
तेरे दिल की हार्डडिस्क में और कोई न आये
करे कोई कोशिश भी तो पासवर्ड इनवैलिड
बतलाये
गली मोहल्ले के वायरस जो तुझ पर डोरे डालें
एन्टी वायरस सा मैं बनकर नाकाम कर दूँ सब
चालें
अपने मन की मेमोरी में सेव तुझे रखूँगा
तेरी यादों की पैन ड्राइव को दिल के पास
रखूँगा
तेरे रूप के मॉनिटर को बुझने कभी न दूँगा
बनके तेरा यू पी एस मैं निर्बाधित पावर दूँगा
भेज रहा हूँ तुम्हें निमंत्रण फेसबुक पर आने का
तोतों को मिलता है जहाँ मौका चोंच लड़ाने का
फेसबुक की ऑनलाईन पर बत्ती हरी जलाएंगे
फेसबुक जो हुआ फेल तो याहू पर पींग बढ़ायेंगे
एक-दूजे के दिल का डाटा आपस में शेयर करायेंगे
फिर हम दोनों दूर के पंछी एक डाल के हो जायेंगे
की-बोर्ड और
उँगलियों जैसा होगा हमारा प्यार
बिन तेरे मैं बिना मेरे तू होगी बस बेकार
फिर हम आजाद पंछी शादी के सी पी यू में बन्ध
जायेंगे
इस दुनिया से दूर डिजिटल की धरती पे घर
बनाएँगे
फिर हम दोनों प्यासे-प्रेमी नजदीक से
नजदीकतर आते जायेंगे
जुड़े हुए थे अब तक सॉफ्टवेयर से अब हार्डवेयर से
जुड़ जायेंगे
तेरे तन के मदरबोर्ड पर जब हम दोनों के बिट
टकराएँगे
बिट से बाइट्स, फिर मेगा बाइट्स फिर
गीगा बाइट्स बन जायेंगे
ऐसी आधुनिक तकनीकयुक्त बच्चे जब इस धरती पर
आयेंगे
सच कहता हूँ आते ही इस दुनिया में धूम मचाएंगे
डाक्टर और नर्स सभी दांतों तले उंगली दबाएंगे
होगे हमारे 3g बच्चे और याहू-याहू चिल्लायेंगे…

No comments:

Post a Comment