Popads

Sunday, 16 February 2014

Jokes................मित्रों, आज हम आपको 'लव' के बारे में बताते हैं................

हरियाणा में एक दामाद सर्दियों के दिनों में अपने ससुराल गया।
उसकी पत्नी का नाम था दामो और उसकी साली का नाम था बदामो।
उस गांव में रिवाज़ था कि दामाद अपनी पत्नी से मिलना तो दूर आमने
सामने देख भी नहीं सकता था।
शाम को दामाद ने इशारे में दो पंक्तियाँ कहीं :
"उड़ता पंछी बोल रिया स अबकी पाला खूब पड़ेगा
दो जण मिल के सोते रहियो, नहीं ते एक जरूर मरेगा ".........
सास समझ गई कि दामाद क्या इशारा कर रहा है तो उसने
भी जवाब दिया:
"दामो संग बादामो सोवेगी और तेरे संग तेरा साला
मैं बूढे संग पड़ी रहूगीं, के कर लेगा पाला ".

.
.
.
.
..
..
 U wil surely hav a hearty laugh
Conversation between nadella and relatives:

Nadella: I'm the CEO of microsoft

Relatives: you didn't get into infy?

Nadella: don't you know Microsoft?
We make windows!

Relatives: you studied so much to end up being a carpenter?

Nadella: not real windows!
We make and sell the windows software.

Relatives: people buy windows software?
We thought it's open source and available on all torrent websites.

Nadella: that's piracy!

Relatives: no, it's 'windows'.
What kind of a CEO are you? 😐Nadella: I'm the CEO of Microsoft.
Not just windows.

Relatives: oh ok. Bring us ipods and iPhones when you come here.

Nadella: ah forget it.

Nadella's Neighbour Aunty:
"Aur Beta, kya kar rhe ho aajkal?"
Kuch nahi Aunty, bas kuch din pehle he Microsoft ka CEO bana.

"Acha hai, humara golu toh TCS mein Team lead ban gaya....
Tumne nahi apply kiya tha TCS mein?

.
.
.
.
..
..
तनाव दूर करने का देसी उपाय:

1. एक टेबल और चेयर लें।
2. टेबल पर व्हिस्की की बोतल, सोडा, ग्लास और नमकीन रखें।
3. चेयर को टेबल के समीप रख उस पर बैठ जाएं।
4. अब ग्लास में व्हिस्की और सोडा का मिश्रण तैयार करें।
5. व्हिस्की के हल्के-हल्के घूंट लें और साथ में नमकीन भी।
6. जब ग्लास खाली हो जाए तो पुन: मिश्रण तैयार करें।
7. इस क्रिया को 7 बार दोहराएं।

उसके उपरांत दोनों हाथ सर के पीछे रखें और धीर-धीरे आंख बंद करें और बोलें भाड़ में जाए दुनिया।

नोट: इस क्रिया को 7 बार दोहराना बहुत जरूरी है।

.
.
.
.
..
...
 Two doctors opened an office in a small town in Haryana .
They put up a sign reading:
"Dr Santa and Dr Banta , Psychiatry and Proctology."

The Khap Panchayat wasn't happy with the sign,
so the doctors changed it to: "Hysterias and Posteriors."

This was not acceptable either, so in an effort to satisfy the Panchayat ,
they changed the sign to: "Schizoids and Hemorrhoids."

No go !! Next they tried "Catatonics and Colonics" Thumbs down again.
Then came, "Manic-Depressives and Anal-Retentives."

But is was still not good! So they tried:

"Minds and Behinds"
"Analysis and Anal Cysts"
"Nuts and Butts"
"Freaks and Cheeks"
"Loons and Moons"
"Lost Souls and Ass Holes"

None worked.

Almost at their wits' end, the doctors finally came up
with a title they thought might be accepted by the Khap :

"Dr Santa and Dr Banta ,
" Odds and Ends ."

APPROVED! ......Whooosh !!!

.
.
.
.
..
..
मित्रों, आज हम आपको 'लव' के बारे में बताते हैं....
.
जानना चाहते हैं ना 'लव' के बारे में...
.
तो सुनिए ...
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.

.
.
.
.
.
.
.
.
.
'लव' मर्यादा पुरुषोत्तम श्री रामचन्द्र जी के सुपुत्र थे ...
.
अधिक जानकारी के लिए कृपया 'रामायण' पढ़ें ...

अच्छा लगा तो बिना जय श्री राम बोले भाग मत जाइए???

।।जय श्री राम।।

.
.
.
.
..
..
गणपति बप्पा मौरिया ..ये तेरे ही देश में क्या हो रिया ......
अपनी संस्कृति भूला प्राणी .....पश्चिम में क्यों खो रिया .....
गणपति .....बप्पा ...मौरिया ...
"आम" अब रसहीन बना क्यों ,करेला सब कुछ हो रिया ...
गणपति ....बप्पा ...मौरिया ....
पहले कोयला ,फिर घास चखि ....ये इंसा क्यों मवेशी हो रिया ....
गणपति .....बप्पा ....मौरिया ...
महंगाई ने कमर तोड़ी .....फिर भी गृहस्थी का भार ढो रिया ....
गणपति ....बप्पा ....मौरिया ....
राष्ट्र हित को भूला राजा .....खुद अरबपति ही हो रिया .....
गणपति बप्पा मौरिया ...ये तेरे ही देश में क्या हो रिया .....

.
.
.
.
..
...
 यदि 14 फ़रवरी के बजाय
1 अप्रैल को प्रोपोस किया
जाये तो ज्यादा सुरक्षित है-
.
.
क्यूंकि ............
.
.
यदि वे मान जाते हैं तो
ठीक है । नहीं तो यह
कहकर बचा जा सकता
है कि ..........
.
.
प्लीज कूल (cool)..
हम तो सिर्फ बना रहे थे,
आपको 'अप्रैल फूल' !!!

No comments:

Post a Comment