Monday, 17 February 2014

ब्रिज में होली कैसे खेलूं मैं लाला सांवरियां के संग...............

ब्रिज में होली कैसे खेलूं मैं लाला सांवरियां के संग
अबीर उड़ता गुलाल उड़ता, उड़ते सातों रंग
भर पिचकारी ऐसी मारी, अंगियां हो गयी तंग
ब्रिज में होली कैसे खेलूं मैं लाला सांवरियां के संग
तबला बाजे, सारंगी बाजे, और बाजे मिरदंग
कान्हा जी की बंसी बाजे, राधा जी के संग
ब्रिज में होली कैसे खेलूं मैं लाला सांवरियां के संग
कोरे कोरे माट मंगाये, तापर घोला रंग
भर पिचकारी सनमुख मारी,  सखिंया हो गयी तंग
ब्रिज में होली कैसे खेलूं मैं लाला सांवरियां के संग
लंहगा तेरा घूम घुमेला, चोली तेरी तंग
खसम तुम्हारा बड़ा निखट्ठू , चलो हमारे संग
ब्रिज में होली कैसे खेलूं मैं लाला सांवरियां के संग
.

No comments:

Post a Comment