Sunday, 19 January 2014

मां गंदा सा मफलर दे दे केजरीवाल बन जाऊं..............And AAP ke LAWS.................

मां गंदा सा मफलर दे दे केजरीवाल बन जाऊं,
झाड़ू लेकर हाथ में तेरी भ्रष्टाचार मिटाऊं।

एक गंदा सा एक स्वेटर दे दे पहन के उसको जाऊं,
खांस-खांस कर सबसे बोलूं भ्रष्टाचार मिटाऊं।

पढ़-लिख कर क्या होगा मां तू रख दे सभी किताबें,
तू तो बस बाजार से मुझको टोपी एक दिलवा दे।

पढ़-लिखकर भी केजरीवाल बस एक नौकरी पाए,
लेकिन चमका तभी सितारा, जब झाड़ू अपनाए।

अन्ना जी के मंच पे चढ़कर कर दिया सबको ढीला,
बीजेपी को मात दे गए डर गईं इनसे शीला।

आज बैठकर दिल्ली में वो कर रहे हैं नौटंकी,
बिजली देंगे और पानी से भरेंगे सबकी टंकी।

टी.वी पर दिन रात दिख रहे, गुम शाहरुख-सलमान,
झाड़ू थाम के भी मिल सकता है गर इतना सम्मान।

तो फिर काहे रात को जग कर पढ़-पढ़ आंखें फोढ़ूं,
मैं भी क्यों न झाड़ू लेकर उनके साथ ही दौड़ूं....।।
.
.
.
.
.
.



केजरीवाल सांता बनने से पहले ही 'SANTA CLAUS' का नाम बदलकर



'SANTA CLAUS' की जगह कर देंगे 'AAP KE LAWS'



सांता की दाढ़ी की जगह



मुंह पर लपेटेंगे गमछा



गिफ्ट में सभी को चॉकलेट्स और कुकीज की जगह देंगे



700 लीटर पानी

.

.

.

और बिजली के झटके

.

.

.



जिंगल बेल्स की जगह गाना बनाएंगे

.

.

.

झाड़ू टेल्स-झाड़ू टेल्स, झाड़ू ऑल द टेल्स

.

.

.

और वो मेरी क्रिसमस की जगह बोलेंगे.

.

.

AAP का क्रिसमस..........

No comments:

Post a Comment