Popads

Friday, 2 August 2013

Jokes................Girls Express their Feelings with..............83413

One day a blond walks into a
doctor's office with both of her
ears burnt.
The doctor askes her what had
happened.
She says, "well... when I was
ironing my work suit the phone
rang and I mistakanly picked up
the iron instead of the phone.
"Well that explains one ear, but
what about the other."
"The bastard called again"
.
.
.
.
..
..
..
Pintu: Daadi neend nahi aa rahi.
Hum baate kare.
Daadi: thik he.
Pintu : Daadi kya hum hamesha5
hi rahenge?
Aap,Mom,Dad,Mai aur Behen.
Daadi : Nahi beta aapki shaadi ho
jayegi toh 6 ho jayenge.
Pintu : Fir behen chali jayegi
shaadi karke toh fir 5 ho jayenge.
Daadi : Beta fir aapka beta ho
jayega toh 6 ho jayenge.
Pintu : Fir aap mar jaaogi toh hum
wapas se 5 ho jayenge.
Daadi : Kaminne, kutte haramkhor
Soja chup chap...
.
.
.
.
.
..
..
 
दिग्गी: मेरे पिता जी बाल ब्रम्हचारी थे !
.
.
.
.
.
मीडिया: तो आप पैदा कैसै हुये..?
.
.
.
.
दिग्गी: मुझे इसके पीछे RSS का हाथ लगता है..!
.
.
.
.
..
..
..
 
Never argue with a woman when She's Angry
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
Or when she's Tired...or Relaxed...or Happy....or
JUST NEVER! 
.
.
.
.
..
..
..
 
कांग्रेस कांग्रेस कांग्रेस देवा
माता थारी सोनिया
पिता वाड्रा देवा
भूखे को रोटी देवे
छिपकली की सब्जी
मजदूर को मोबाइल देवे
भूख से हो कब्जी
कमीशन को भोग लगे
लाइसेंस की मेवा
चमचे सब ऐश करे
मैडम की सेवा
शेखचिल्ली को शासन चले
इटली में कलेवा
कांग्रेस कांग्रेस कांग्रेस देवा
माता थारी सोनिया
पिता वाड्रा देवा
.
.
.
.
..
..
ज़बान का फ़र्क क्या-क्या गुल खिला सकता है, एक बानगी देखिये:

पहली तस्वीर-
शाम को घर लौटते ही, जैसे ही आप अपनी बीवी को देखें, तुरंत कहें-'आज तो तुम बिलकुल हत्यारिन लग रही हो!'
हमारा दावा है, आपको शाम की चाय तो क्या, रात का खाना भी नसीब नहीं होगा!

दूसरी तस्वीर-
शाम को घर लौटते ही, जैसे ही आप अपनी बीवी को देखें, तुरंत कहें-'आज तो तुम बड़ी क़ातिल लग रही हो, क्या इरादा है?'
इस डायलोग के बाद अगर आपको शाम की चाय के साथ गरमा-गर्म पकौड़े ना मिलें, तो कहियेगा....
.
.
.
.
..
..
 गब्बर सांभा से ले ये 500 रूपये तु मुम्बइ जा रहा हे तो दो वक्त के खाने के पैसे लेजा,
:
:
सांभा: पर भाइ मेने तो सुना हे मुम्बइ मे 12 रुपया मे खाना मिलता हे उस हिसाब से 24 रूपये तो होते हे,
:
गब्बर सांभा से :- अबे मै गब्बर हु बब्बर नही
.
.
.
.
..
..
 
एक लड़की जब रोज़ अपने कॉलेज से वापस आती तो
एक लड़के को रोज़ अपने घर के बाहर खडा हुआ देखती।
ऐसा रोज़ होता था, और एक साल बीत गया,

वह लड़का रोज़ उसे अपने घर के सामने खडा नज़र आता।
वो कुछ नहीं कहता था और बस कभी आगे पीछे
और कभी अपने मोबाइल फ़ोन को देखता रहता।

वक्त के गुजरने की साथ लड़की को विश्वास हो चला था
की लड़का उसे चाहता है।
एक दिन लड़की ने हिम्मत कर के उसके पास जाकर पूछ लिया,
"तुम रोज़ मेरे घर के बाहर क्यों खड़े रहते हो.....?"
लड़का घबरा कर....
.
.
.
.
.
.
.
.
.
"माफ़ करना बहन, वो क्या है की तुम्हारे
वाई-फाई (Wi-Fi) पर पासवर्ड नहीं लगा हुआ है,
तो मैं तो वो इस्तेमाल करने आता हूँ।"
.
.
.
.
.
..
..
Thought of the Day

Girls Express their Feelings with

""Gusa & Tears"""
.
.
.
.
Nd
Boys Express their Feelings with

""Sutta & Bears""

No comments:

Post a Comment