Thursday, 13 June 2013

जिया की छोटी सी कहानी.............................63213

 
अमिताभ बच्चन के साथ अपने करियर का आगाज़ करने
वाली जिया ख़ान को करियर की नाकामी ने नहीं, बल्कि मुहब्बत
की नाकामी ने मार डाला. जिया की खुदकुशी के बाद सामने आए
उसके ख़त ने अब जहां जिया की ज़िंदगी की इस हक़ीक़त
को ज़ाहिर किया है, वहीं इसी ख़त के बिनाह पर पुलिस ने अब
जिया के ब्वॉयफ्रैंड सूरज पंचोली गिरफ्तार कर लिया है.
बॉलीवुड की दिलकश अदाकारा जिया ख़ान के उस आख़िरी ख़त
का सार ये है-
'मैं नहीं जानती कि ये बात तुमसे कैसे कहूं, लेकिन मैं कह
सकती हूं कि अब मेरे पास खोने को कुछ भी नहीं. मैं पहले
ही सब कुछ गंवा चुकी हूं. जब तक तुम ये पढ़ रहे होगे,
हो सकता है मैं उससे पहले ही दुनिया से विदा हो चुकी होऊंगी.
मैं अंदर से टूट चुकी हूं. मैंने तुमसे प्यार किया और बदले में मुझे
रुसवाई मिली. तुमने हर रोज़ मुझे सताया. मेरे सारे ख्वाब तोड़
दिए. अब मैं और जीना नहीं चाहती.'
इसी खत की बदौलत मुंबई पुलिस ने सोमवार को जिया के
ब्वॉयफ्रैंड और एक्टर आदित्य पंचोली के बेटे सूरज
पंचोली को गिरफ्तार कर लिया. इस ख़त में जिया ने अपने
ब्वॉय़फ्रैंड से शिकायत करते हुए ना सिर्फ़ उस पर बेवफ़ाई
का इल्ज़ाम लगाया है, बल्कि ये भी बताया है कि किस तरह
उसके ब्वॉयफ्रैंड ने उसे धोखा दिया और उसके साथ मारपीट
की.
मुहब्बत में नाकामी ने ली जिया ख़ान की जान
जिया के इस आख़िरी ख़त और सूरज पंचोली की गिरफ्तारी के
साथ ही ये बात अब साफ़ हो गई है कि जिया ने अपने करियर में
आए ढलान की वजह से खुदकुशी नहीं की, बल्कि मुहब्बत में
मिली नाकामी ही उसकी मौत की वजह बनी.
जिया की मां राबिया ख़ान ने सोमवार
को बताया कि जिया की ये चिट्ठी उन्हें तब हाथ लगी, जब
उसकी आख़िरी प्रार्थना के दौरान उसकी लिखी कोई
कविता सुनाने के लिए उसकी बहन जिया के बैग की तलाशी ले
रही थी.
जिया ने इस ख़त में आगे लिखा है किस तरह उसने अपने
ब्वॉयफ्रैंड को अपना सबकुछ सौंप दिया और ब्वॉयफ्रैंड
उसकी भावनाओं से खेलता रहा.
'गोवा का दौरा मेरे जन्मदिन का तोहफा था फिर भी तुमने
बेईमानी की. मैंने गर्भपात कराया. तुमने मेरा क्रिसमस और मेरे
जन्मदिन का डिनर बर्बाद कर दिया, जबकि मैंने तुम्हारे
जन्मदिन को खास बनाने की भरपूर कोशिश की थी.
तुम्हारी तरफ से मैं अपने लिए प्यार और समर्पण
नहीं देखती हूं. मुझे डर है कि तुम मुझे मानसिक और शारीरिक
रूप से चोट पहुंचाओगे. तुम्हारी जिंदगी सिर्फ पार्टी और
लड़कियों तक सीमित है, जबकि मेरी जिंदगी तुम और मेरा काम
थे. अगर मैं यहां रहती हूं तो तुम्हें मिस करूंगी, इसलिए मैं 10
साल के फिल्मी करियर और सपनों को अलविदा कह रही हूं.'
वैसे ख़ास बात ये है कि छह पन्नों के इस ख़त में जिया ने
कहीं भी अपने ब्वॉयफ्रैंड सूरज का नाम लेकर ज़िक्र
नहीं किया है, लेकिन घरवालों का दावा है कि ये सूरज ही है,
जिसके लिए जिया ने ये बातें लिखीं हैं. उधर, सूरज की मां और
ज़रीना वहाब अपने बेटे के बचाव में आगे आ गई हैं.
फिलहाल, पुलिस ने इस ख़त की बिनाह पर आदित्य पंचोली के
बेटे सूरज के खिलाफ़ धारा 306 के तहत खुदकुशी के लिए
उकसाने का मुकदमा दर्ज किया है. साथ ही इस बात
की भी जांच कर रही है कि ये हैंडराइटिंग जिया की ही है
या नहीं. लेकिन अब तक के हालात से इतना तो साफ़ है कि ये
मुहब्बत में मिली रुसवाई ही है, जिसने जिया की जान ली.
दिल की सभी बातें कह डालीं जिया ने
जिया ने कहा कि वो अपने ब्वॉयफ्रेंड को बेहद चाहती थी,
लेकिन उसका ब्वॉयफ्रेंड उसके साथ दिल बहला रहा था.
जिया ने कहा कि वो उसके साथ घर बसाने के ख्वाब देख
रही थी, लेकिन वो दूसरी लड़कियों के करीब जा रहा था.
जिया ने कहा कि उसने अपने ब्वॉयफ्रेंड को सबकुछ दिया,
लेकिन उसने जिया को रुसवा किया. जिया ने अपने इस
आख़िरी ख़त में अपना दिल खोल कर रख दिया.
महज़ 25 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कहने के
जिया ख़ान के फ़ैसले ने लोगों को जितना चौंकाया था, अब
सामने आए जिया ख़ान की ख़त ने उन्हें उससे भी ज़्यादा हैरान
कर दिया है.
इस ख़त में लिखी बातों और जिया के घरवालों की मानें तो ये
जिया का ब्वॉयफ्रेंड सूरज पंचोली ही है, जिसके चलते उसने
खुदकुशी की. जिया ने तो सूरज को चाहा, लेकिन सूरज जिया के
अलावा दूसरी लड़कियों से भी दिल लगाता रहा और जब उसे
सूरज के इस सच्चाई का पता चला तो वो अंदर से टूट गई.
मुझसे ज्यादा तुम्हे कोई नहीं चाहेगा
जिया ने अपने इस ख़त में एक जगह लिखा है, 'मैंने तुम्हारे बारे में
मिले एक मैसेज के बारे में तुम्हें कभी नहीं बताया. वो मैसेज
जो तुम्हारे धोखे के बारे में था. मैंने इन
बातों को अनदेखा करना चाहा. मैं तुम पर
भरोसा करना चाहती थी, लेकिन तुमने मुझे शर्मिंदा किया. मैं
कभी किसी के साथ बाहर नहीं गई. मैं हमेशा से तुम्हारी वफ़ादार
रही. मैं कार्तिक के साथ भी किसी से नहीं मिली. बस, मैं
इतना चाहती थी कि तुम्हें भी ये पता चले कि तुम्हारी वजह से मैं
कैसा महसूस करती हूं. इस दुनिया में और कोई
भी दूसरी लड़की तुम्हें मेरे बराबर नहीं चाह सकती.'
बात सिर्फ़ यहीं तक नहीं है, जिया के ख़त में लिखी बातों से ये
भी ज़ाहिर है कि दोनों एक-दूसरे के कितने क़रीब थे और हाल के
दिनों में दोनों का ये रिश्ता किस कदर कमज़ोर पड़ गया था. इस
ख़त के मुताबिक, सूरज ने ना सिर्फ़ उसके साथ मारपीट की,
बल्कि उसका यौन शोषण भी करता रहा.
तुमने मेरी आत्मा तक कुचल दी
'मैं प्रेगनेंट होने से डरती थी, लेकिन फिर भी मैंने तुम्हें
अपना सबकुछ दे दिया और तुमने मेरी आत्मा तक कुचल दी.
जो रेप, जो ज़्यादती और जो बदसलूकी मेरे साथ हुई, मैं
उसकी हक़दार नहीं थी. मुझे हमारे बच्चे का गर्भपात तक
करवाना पड़ा, जो मेरे लिए बेहद तकलीफ़देह था.'
अब सांसों के लिए कोई वजह नहीं
जिया ने अपने लिखे इस ख़त में कोई तारीख़ तो दर्ज नहीं की है,
लेकिन जिस तरह उसने छह पन्नों में तफ्सील से ये बातें
लिखी हैं, उससे ये मुमकिन है कि जिया ने ये बातें कोई एक रोज़
में नहीं, बल्कि कई दिनों लिखी हों. हालात से हारी जिया ने
लिखा, 'मेरे पास अब सांसों के लिए कोई वजह नहीं है. मैं सिर्फ़
तुम्हारा प्यार चाहती थी. मैंने तुम्हारे लिए सबकुछ किया. मैं हम
दोनों के लिए काम कर रही थी, लेकिन तुम मेरे पार्टनर
कभी नहीं रहे. मेरा भविष्य चौपट हो गया. तुमने मुझसे
मेरी सारी खुशियां छीन लीं. मैंने हमेशा तुम्हारे लिए अच्छा चाहा.
छोटी ही सही, मैं अपने पैसे तुम्हारे लिए जमा करना चाहती थी,
लेकिन तुमने मेरे प्यार की कद्र नहीं की. सबकुछ मेरे मुंह पर दे
मारा.'
जिया की खुदकुशी के तीन दिन बाद दर्द में डूबे इस ख़त के
सामने आने के बाद इस मामले की तफ्तीश में अचानक एक अहम
मोड़ आ गया, क्योंकि शुरुआती तफ्तीश में खुदकुशी से पहले
सूरज की जिया से आख़िरी बातचीत और लड़ाई की बात
तो सामने आई थी, लेकिन सिर्फ़
दोनों की यही तनातनी उसकी मौत की वजह बनी या नहीं, इसे
लेकर पुलिस को शक था. अब जिया की इस चिट्ठी ने
सारी कहानी साफ़ कर दी है.
ये और बात है कि सूरज के खिलाफ़ कार्रवाई करनेवाली पुलिस
को उसे सज़ा दिलाने के लिए ख़त का जिया की हैंडराइटिंग से
मिलान साबित करना होगा. इसके अलावा भी पुलिस को कई
अहम बातों को अदालत में साबित करना होगा.
जिया और सूरज के रिश्ते में जो दरार काफ़ी पहले पड़ चुकी थी,
वो खुदकुशी की रात तक आते-आते एक चौड़ी खाई में तब्दील
हो गई. इस रोज़ जिया की पहले तो सूरज से अच्छी बातचीत
हुई. सूरज ने उसे गुलदस्ता भी भिजवाया, लेकिन अगले चंद
मिनटों में जिया का भरोसा ऐसा टूटा कि उसने इस
दुनिया को ही अलविदा कह दिया.
03 मई 2013 को मुंबई स्थित सागर संगीत आपार्टमेंट के
फ्लैट नंबर 102 से रात करीब 11 बजे अचानक एक आवाज़
सी आई. यह फ्लैट जिया खान का था. आवाज़ किसी चीज़ के
गिरने की थी. इसी बीच पड़ोसियों की नज़र एक गुलदस्ते पर
पड़ी, जो शायद जिया के फ्लैट से ही बाहर फेंका गया था.
चूंकि बात मामूली थी, लिहाज़ा किसी ने इस पर ज़्यादा ध्यान
नहीं दिया.
इसके तकरीबन 45 मिनट बाद जिया की मां और बहन फ्लैट पर
लौटीं. जिया फ्लैट में अपनी मां और बहन के साथ रहती थी. उस
रात दोनों एक पार्टी में गई थीं. वहां से लौटने के बाद उन्होंने
आवाज दी, लेकिन जिया ने दरवाज़ा नहीं खोला. बाद में घर में
दाखिल होने के बाद दोनों के मुंह से चीख़ निकली,
देखा कि जिया पंखे से लटकी हुई है.
पोस्टमार्टम रिपोर्ट को मुताबिक मरने से पहले जिया ने
काफी मात्रा में शरबा पी थी और फोन पर उसका अपने
ब्वायफ्रेंड सूरज पंचोली से झगड़ा भी हुआ था. खुदकुशी से
तकरीबन घंटे भर पहले तक जिया अपने ब्वायफ्रेंड और
अभिनेता आदित्य पंचोली के बेटे सूरज पंचोली से मोबाइल पर
बात कर रही थी. कॉल डिटेल से पता चला है कि जिया और
सूरज रात 10.53 से 11.22 तक फोन पर बात करते रहे.
इसके करीब आधे घंटे बाद जिया की मां और बहन घर
लौटी तो वो पंखे पर झूल रही थी. यानी मौत से पहले जिया ने
आखिरी बार सूरज से ही बात की थी.
इतना ही नहीं, जिया के मोबाइल के एसएमएस बॉक्स की जांच
से ये भी पता चला है कि सोमवार रात दोनों ने एक-दूसरे
को कई एसएमएस भी किए थे. जिया ने सूरज
पंचोली को एसएमएस कर उसकी ज़िंदगी में आई एक
दूसरी लड़की के बारे में पूछा था. इस पर सूरज ने जवाब
दिया था कि ऐसी दूसरी कोई लड़की उसकी जिंदगी में नहीं है
और वो उसे गलत समझ रही है.
अब चूंकि मौत से पहले आखिरी बातचीत और एसएमएस सूरज
पंचोली की तरफ इशारा करते हैं, लिहाज़ा पुलिस ने सूरज से
पूछताछ की. शुरुआती पूछताछ करने के बाद तो सूरज को पुलिस
ने जाने दिया, लेकिन अब जिया का आखिरी ख़त मिलने के बाद
पुलिस ने सूरज को गिरफ्तार कर लिया है.
किसी नई अभिनेत्री के लिए इससे बेहतर क्या हो सकता है
कि अपनी पहली ही फ़िल्म में वो अमिताभ बच्चन की हिरोइन
बने. जिया के साथ ऐसा ही हुआ. आगे इस शानदार आगाज़ के
बाद भी जिया ने जिनके साथ काम किया, वो भी बॉलीवुड के
सुपर स्टार ही थे. जिया खान की अमिताभ, आमिर खान,
अक्षय कुमार के साथ काम किया.
2007 से 2010 तक तीन बड़ी फ़िल्में- निशब्द, गजनी और
हाउसफुल. तीनों हिट. तीनों में बॉलीवुड के सबसे बड़े हीरो, पर
इसके बाद भी जिया रूपहले पर्दे की धड़कन नहीं बन पाई. तीन-
तीन हिट फिल्मों का हिस्सा बनने के बावजूद अगले तीन साल
तक जिया को कोई काम नहीं मिला. पर्दे से उतरते
ही जिया बॉलीवुड के डायरेक्टर और प्रोड्यूसर्स के ज़ेहन से
भी उतर गई. और ऐसी उतरी कि बॉलीवुड तो बॉलीवुड साउथ
वालों ने भी उसे काम देने से मना कर दिया और बस यहीं पर
जिया की छोटी सी कहानी खत्म हो जाती है.
इस चमकती दुनिया की चकाचौंध ने जितनों को शोहरत
की बुलंदी पर पहुंचाया है उससे
कहीं ज्यादा लोगों को गुमनामी और बर्बादी के अंधे कुएं में
धकेला है. क्या करें, ख्वाबों की इस दुनिया का दस्तूर
ही ऐसा है. यहां कामयाब लोगों को लोग सिर आंखों पर बिठाते
हैं और नाकाम लोगों को अपने बीच से उठा कर ऐसा फेंकते हैं
कि फिर ना वो सपनों की इस दुनिया में जी पाते हैं और
ना हमारी और आपकी दुनिया में. चकाचौंध भरी ग्लैमर
की दुनिया के बीच भी अकेलेपन का अंधेरा निगल
गया जिया खान को.

-->

No comments:

Post a Comment