Thursday, 16 May 2013

स्पॉट फिक्सिंग.................&....................Open Letter to Sreesanth...................54913

स्पॉट फिक्सिंग: तीनों खिलाड़ी पांच दिन की पुलिस रिमांड पर

नई दिल्ली। आईपीएल 6 में स्पॉट फिक्सिंग मामले को लेकर दिल्ली पुलिस ने आज पूरा पर्दाफाश कर दिया। राजस्थान रॉयल्स के श्रीसंत, अजीत चंडीला और अंकित चावन को मुंबई से गिरफ्तार कर दिल्ली आने के बाद दिल्ली पुलिस ने एक प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि यह स्पॉट फिक्सिंग कैसे हो रही थी। वहीं अब इन तीनों खिलाड़ियों को पांच दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। इन सभी खिलाड़ियों की आज शाम जज के घर पर पेशी हुई थी।
दिल्ली पुलिस के कमीश्नर नीरज कुमार ने बताया कि बुकी खिलाड़ियों को निर्देश देते थे। खिलाड़ी और बुकी कोर्डवर्ड में आपस में बात करते थे, जिससे किसी भी दूसरे खिलाड़ियों को इसका पता न चल सके। मैच से पहले खिलाड़ी बुकी को अपने संकेत के बारे में बताते थे कि वे फिक्स ओवर से पहले क्या संकेत करेंगे। 9 मई को पंजाब के खिलाफ हुए मुकाबले में एस श्रीसंत को एक ओवर के लिए फिक्स किया गया था।

उस मुकाबले के बारे में पुलिस ने बताया कि श्रीसंत को उनके स्पेल के दूसरे ओवर में 14 या उससे अधिक रन देने थे। फिर भी बुकी ने उनसे यह साफ किया कि यह पता कैसे चलेगा तो श्रीसंत ने बताया कि वे ओवर करने से पहले आगे तौलिया लटकाएंगे, जो उनका इशारा होगा। श्रीसंत ने बिलकुल ऐसा ही किया।
पुलिस ने इसकी वीडियो क्लीपिंग भी दिखाई। फिक्स ओवर से पहले श्रीसंत ने तौलिया नहीं लटकाया, जबकि अपने दूसरे ओवर से पहले उन्होंने अपने आगे तौलिया लटकाया, जिसके कारण बुकी संतुष्ट हो गए। इसके लिए श्रीसंत को 40 लाख रुपये दिए गए। इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने बताया कि राजस्थान रॉयल्स का एक अन्य खिलाड़ी अजीत चंदीला 5 मई को पुणे वॉरियर्स के खिलाफ मुकाबले के लिए बुक किए गए थे। चंदीला को उस मुकाबले में अपने स्पेल के दूसरे ओवर में बुकी को टी शर्ट उठाकर संकेत देना था और 14 या उससे अधिक रन देने थे।
चंदीला इशारा करना तो भूल गए, लेकिन उन्होंने 14 रन दे दिए। इशारा न करने के कारण बुकी ने उन्हें पहले से तय 20 लाख रुपये नहीं दिए। इसे लेकर बुकी और चंदीला के बीच काफी झंझट भी हुआ।
इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने बताया कि बुधवार को राजस्थान रॉयल्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेले गए मुकाबले का भी एक ओवर फिक्स था। राजस्थान रॉयल्स के अंकित चावन ने उस मुकाबले में अपने स्पेल का दूसरा ओवर फिक्स किया था। चावन को उस ओवर में 13 या उससे अधिक रन देने थे। इसके लिए 60 लाख रुपये में सौदा तय हुआ था।
दिल्ली पुलिस ने इस मुकाबले की भी क्लिपिंग दिखाई। चावन ने अपने स्पेल के पहले ओवर में सिर्फ 2 रन दिए, जबकि दूसरे ओवर में 15 रन दिए, जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करनी शुरू कर दी। अंकित चावन को स्पॉट फिक्सिंग में अजीत चंदीला लेकर आए थे। उनकी डीलिंग उन्होंने ही की थी। इसबात की जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि चंदीला ने चावन को बताया कि तुम्हें 12 रन देने होंगे तो चावन ने कहा कि अरे, नहीं, यह तो बहुत ज्यादा है। फिर चंदीला ने कहा कि अरे, कोई ज्यादा नहीं है, मैंने हां कह दी है। चावन ने कहा कि हां कह दी है तो चलो फिर ठीक है।

इसके बाद चंदीला ने चावन को कहा कि तुम्हें ओवर करने से पहले हाथ का बैंड दिखाना होगा, लेकिन बाद में यह तय हुआ कि उन्हें अपने स्पेल के दूसरे ओवर में 14 या उससे अधिक रन देने होंगे। वो दूसरा ओवर चाहे कुछ भी हो। पावरप्ले या फिर सामान्य, यह तय हो चुका था कि चावन 14 या उससे अधिक रन खर्च करेंगे।

चंदीला ने डील के बारे में चावन को बताया कि मैंन 60 पर डन कर दिया है। यानी 1 ओवर की कीमत 60 लाख रुपये में फिक्स की गई। इसके बाद चंदीला को इशारे के तौर पर हाथ की घड़ी घूमानी थी, जो मैच से पहले तय हुआ। तीनों खिलाड़ियों से डील डन होने के बाद बुकी ने इनसे कहा था कि वे ओवर से पहले उन्हें कुछ समय देंगे, जिससे वे अपना काम कर सकें। इसके लिए तीनों खिलाड़ी बुकी को वक्त देने के लिए गेंदबाजी से पहले अधिक देर तक वार्म-अप करते थे।
दिल्ली पुलिस ने इस पूरे मामले के मास्टरमाइंड के नाम का खुलासा तो नहीं किया, लेकिन यह बताया कि वह भारत के बाहर रहता है। पुलिस ने स्पॉट फिक्सिंग के तार अंडरव‌र्ल्ड से भी जुड़े होने के संकेत दिए। साथ ही यह भी बताया कि पूरे मामले पर दिल्ली पुलिस की नजर अप्रैल से ही थी। सभी फिक्सिंग वाले मैच में दिल्ली पुलिस स्टेडियम में मौजूद थी। वहीं, दूसरी तरफ आईपीएल 6 के स्पॉट फिक्सिंग में शामिल आरोपियों पर मकोका लगाने की तैयारी की जा रही हे। अगर इनपर मकोका लगाया जाता है तो इन्हें 18 महीने तक जमानत नहीं मिल सकती है। इन तीनों खिलाड़ियों को अब 5 दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है।
.
.
.
.
.
.
 Open Letter to Sreesanth
Dear Shanthakumaran Sreesanth,

I know most people would not know your full name. In fact, most people wouldn't even remember the one or two moments of glory that you have had in cricket, may be one against Andre Nel where you hit him for a SIX and the other holding on to Misbah's catch of Joginder Sharma's bowling to win the T20 WC. Again, both of which are not so remarkable, but yeah nevertheless.

You are probably remembered for what an asshole you are. First for your aggressive behaviour which you have no control of, then getting slapped /elbowed by Bhajji and then trash talking on Twitter about 2 weeks back, and also for showing absolutely no respect to some of the legends of cricket in opponent teams and the list goes on.

For a spoiled brat that you are, one would only call it a blessing to be chosen in the Rajasthan Royals team to play under the captaincy of Dravid who would feed you modesty for breakfast, humility for lunch and perseverance for dinner. Spending 2 months with such people can help you tweak your character and become a better man, something that we all aspire to be when we go to bed every night. What more can you ask for? And in spite of having idiots like you in the team, the man has still backed you guys and taken your team to the playoffs assuring you at least 3.75cr in prize money.

As a player, everyone plays for 3 reasons - His country/team, his captain and then for himself. When Zidane could not play in the final match of the group stage in the 2006 WC, you should have seen the way France were playing just to ensure Zidane had another match before his retirement. Zidane then came and single handedly beat Brazil in the quarters to show what it meant to him. And you, after the umpteen opportunities given to you both in IPL and the national team inspite of not deserving those had the atrocity to spot fix and probably result in a game going the other way? Who knows, you might have done it playing for India as well?

Your career was pretty much done with your form and tantrums, now it's done and dusted. One fine day, you will sit and realize what mistake you did and why integrity is the most valued thing in any human being. It's not about the money my friend, the only thing which you live another day for, is to be able to look into the eye of every other human being with the same self esteem and losing that is probably an end to one's life itself. Coz without respect, there aint much to live for.

Topic is Over and so is your career.

Never a fan.
 
-->

No comments:

Post a Comment