Popads

Saturday, 27 April 2013

अधूरी कहानी.....................45313

अधूरी कहानी -
एक बार एक जंगल में शेर डिनर कर रहा था शेरनी उसे खाना खिला रही थी
तभी एक कुत्ता वहां आया और बोल अबे शेर के बच्चे कहाँ दुबका बेठा है बाहर निकल
शेरनी ने शेर से कहा देखो वो कुत्ता तुम्हे लरकार रहा है उसे मारो
शेर - कुछ नहीं पागल है चला जायेगा तू खाना लगा
कुत्ता - अबे नामर्द की ओलाद ,शेर के बच्चे कहाँ दुबक गया हिम्मत है तो बाहर निकल
शेरनी - देखो वो कुत्ता फिर तुम्हे गाली दे रहा तुम जाते क्यों नहीं
शेर - अरे तू ध्यान मत दे कुत्तो का तो काम ही भोकना होता है ला तू अचार दे
...
कुत्ता - अबे शेर तू चूहा है शेरनी के पल्लू में जा छुपा बेठा है मर्द की ओलाद है तो बाहर निकल
अब शेरनी से नहीं रहा गया ,उसने शेर से कहा में इस कुत्ते को सबक सिखा कर आती हूँ तुम बेठो चूड़िया पहन कर
शेर के बहुत समजाने के बाद भी शेरनी निकल पड़ी कुत्ते को सबक सिखाने
*क्या शेरनी कुत्ते को सबक सिखा पायेगी ?
* क्या कुत्ता शेरनी से बच पायेगा?
* या कुत्ता वास्तव में खतरनाक था?
* क्या थी कुत्ते की खतरनाक मंशा जिसे शेर नजरंदाज कर रहा था ?
क्या होगा अंजाम जानने के लिए इन्तजार करे - क्रमश :
नोट-अगर आप बाकी की कहानी जानते है तो केवल कमेन्ट में हँस सकते है
 
 
-->

No comments:

Post a Comment