Popads

Wednesday, 27 March 2013

होली के रंग कैसे छुड़ाएं--होली के रंग,सेहत के संग......34213

हेल्थ टिप्स : होली के रंग कैसे छुड़ाएं
रेखा गुप्ता (डायटीशियन ,हेल्थ एजुकेटर )
 


युवाओं को होली के रंग-बिरंगे फेस्टिवल का खास इंतजार रहता है। क्यों न हो! होली का त्योहार ही कुछ ऐसा है। पर होली के लाल-पीले रंगों से सबसे ज्यादा डर लड़कियों को लगता है कहीं कलर्स से उनकी त्वचा को नुकसान न पहुंचे।

बस इसीलिए कभी-कभी मन में उमंग होते हुए भी इस उत्सव का पूरी तरह आनंद नहीं उठाया जाता। होली के रंग कहीं त्वचा व रंग को बर्बाद न कर दे, यही आशंका बनी रहती है। लेकिन घबराइए नहीं, हमारे पास हैं रंगों को छुड़ाने के कुछ आसान से नुस्खे, जो आपके घर में ही उपलब्ध हैं। बस इन्हें इस्तेमाल कीजिए और रंगों को आसानी से छुड़ा लीजिए। तो फिर तैयार हैं न आप होली खेलने के लिए...!

कुछ टिप्स जो आपको मदद करेंगे आसानी से रंग छुड़ाने में :

कपड़ों और सिर से जितना सूखा रंग झाड़ कर निकाल सकते हैं, निकाल दें। उसके बाद सूखे, मुलायम कपड़े से रंग छुड़ाएँ।

रंगों को धीरे-धीरे छुड़ाएँ। तेज रगड़ने से त्वचा में जलन होगी और अधिक रगड़ से त्वचा के छिलने का भी डर रहता है।

बालों में से रंग निकालने के लिए पहले उन्हें अच्छे से झाड़ लें ताकि उनमें से सूखा रंग निकल जाए। फिर बाल सादे पानी से अच्छे धोएँ। बेसन या दही-आँवले से भी सिर धो सकते हैं। आँवले को एक रात पहले भिगोकर रख दें। इसके बाद बालों में शैंपू करें। शैंपू करने के बाद एक मग पानी में एक बड़ा चम्मच सिरका डालकर धो लें।

आँखों में रंग या गुलाल पड़ जाए, तो तुरंत आँखों को ठंडे पानी से धोएँ। जलन कम न हो, तो एक कटोरी में पानी भर कर आँखों को उसमें डुबोकर पुतलियों को घुमाएँ। थोड़ी देर के बाद गुलाबजल की कुछ बूँदें डालें और कुछ देर के लिए आखों बंद रहने दें। यदि संभव हो, तो आँखों के ऊपर-नीचे चंदन का लेप लगाएँ और सूखने से पहले ही धो लें। आराम मिलेगा। आई ड्रॉप का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

बेसन में नींबू व दूध मिलाकर उसका पेस्ट बनाकर अपनी स्कीन पर लगाएं। पंद्रह-बीस मिनट तक पेस्ट लगा रहने दें और फिर गुनगुने पानी से मुंह-हाथ धो लें।

खीरे का रस निकालकर उसमें थोड़ा सा गुलाब जल और एक चम्मच सिरका मिला लें। और इसका पेस्ट तैयार कर इससे मुंह धोएं। आपके चेहरे पर लगे सारे रंग के दाग-धब्बे दूर हो जाएंगे और त्वचा खिली-खिली हो जाएगी।

मूली का रस निकालकर उसमें दूध व बेसन या मैदा मिलाकर पेस्ट बनाएं और उसे चेहरे पर लगाने से भी चेहरा साफ हो जाता है

अगर आपकी त्वचा पर ज्यादा गहरा रंग लग गया हो तो दो चम्मच जिंक ऑक्साइड और दो चम्मच कैस्टर ऑइल मिलाकर लेप बनाकर इसे चेहरे पर लगाएं। अब स्पंज से हल्के हाथों से रगड़कर चेहरा धो लें। और फिर बीस-पच्चीस मिनट बाद साबुन लगाकर चेहरा धोएँ। आपकी त्वचा पर लगा रंग उतर जाएगा।

जौ का आटा व बादाम का तेल मिक्स कर लें। उसको त्वचा पर लगाकर रंग को साफ करें।

दूध में थोड़ा सा कच्चा पपीता पीसकर मिलाएं। साथ ही थोड़ी सी मुलतानी मिट्टी व थोड़ा सा बादाम का तेल मिक्स करें और करीब आधे घंटे बाद चेहरा धो डालें।

संतरे के छिलके व मसूर की दाल व बादाम को दूध में पीसकर पेस्ट बनाएं इस तैयार उबटन को पूरी त्वचा पर मसलें और धो लें। आपकी त्वचा साफ होकर उसमें निखार आएगा।

.
.
.
.
.
.
.
.
.
..
..
 
होली के दौरान सेहत का ख्याल रखना बेहद जरूरी है। होली के दौरान तो आप उत्साह में सब भूल जाते हैं लेकिन परेशानी का सबब बनता है बाद में। आपको होली के बाद शुरू होती है कई परेशानियां। ऐसे में आप ना सिर्फ स्वाास्य्नत संबंधी बीमारियों का शिकार हो सकते हैं बल्कि आप होली के दौरान त्वचा संबधी, बालों संबंधी समस्याओं से ग्रसित हो सकते हैं। आपको चाहिए कि आपके होली के रंग, सेहत के संग हो। यानी आपकी होली ऐसी निराली हो जिससे आपकी सेहत भी बरकरार रहे।

होली रंगो व गुजिया का त्योहार है। होली के मौके पर आप बिना किसी रोक टोक के मिठाईयां व व्यजंनों का लुत्फ उठातें हैं। इस समय आप खुद को मिठाईयां खाने से नहीं रोक पाते हैं, इससे आपके सामने कई तरह की समस्याएं आती हैं। जैसे वजन बढ़ना, फूड पॉइजनिंग आदि। इसलिए जरूरी है कि आप अपनी सेहत का ख्याल भी रखें। आईए जानें कैसे रखें अपनी सेहत का ख्याल।

ओवरईटिंग से बचें

होली के मौके पर हर तरफ मिठाईयां व पकवान ही नजर आते हैं, इसलिए आप हर वक्त कुछ न कुछ खाते रहते हैं। लेकिन यह काफी नुकसानदेह है आपके लिए त्योहारों के मौके पर ओवरईटिंग से बचना चाहिए। होली पर बनने वाली मिठाईयां व व्यजंन काफी तले भुने होते हैं और यह आसानी से नहीं पच पाते हैं। जिससे आपको फूड प्वॉजनिंग की समस्या हो सकती है।

ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं

होली पर आप कुछ ना कुछ खाते रहते हैं लेकिन पानी पीना भूल जाते हैं। जिससे शरीर में पानी की कमी हो सकती हैऔर खाद्य पदार्थ को पचने में काफी समस्या आती है। कम से कम आठ गिलास पानी जरुर पीना चाहिए। होली में बनने वाली ठंडई व भांग से दूर रहना चाहिए। इसकी जगह आप जूस या पानी पीना चाहिए।

व्यायाम करना नहीं भूलें

आमतौर पर लोग त्योहारों के दिन व्यायाम करने में ढीले पड़ जाते हैं। लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए। आपको रोज की तरह व्यायाम करना जरूरी है। इससे आपके शरीर में कैलोरी की मात्रा सीमित रहेगी। आप चाहे तो मॉर्निंग वॉक कर सकते हैं। डांसिंग भी एक अच्छी एक्सरसाइज है कैलोरी घटाने के लिए।

ध्यान रखने योग्य बातें

• होली के मौके पर ज्यादा तला भुना व मसालेदार खाने से बचना चाहिए।
• होली में भांग, केसर का शरबत या अन्य किसी नशे का सेवन नहीं करना चाहिए।
• होली में बनने वाली गुजिया का सेवन ज्यादा नहीं करें। खोए व मैदे से बनी गुजिया आपके सेहत के लिए सही नहीं है।
• होली में आप ड्राई फ्रूट्स का सेवन कर सकते हैं। यह आपके स्वास्थ के लिए फायदेमंद है।
• होली में पेय पदार्थ में आप जूस पी सकते हैं। इससे आपके शरीर को पोषण भी मिलेगा।
• होली में कोशिश करें कि घर पर बनी मिठाईयों का सेवन करें। बाजार की मिठाईयों में कई तरह की मिलावट होती है जिससे आपके स्वास्थ को नुकासन पहुंचता है।
-->

No comments:

Post a Comment