Sunday, 17 March 2013

पति - पुरानी कार और पुरानी बीवी में भी कोई फर्क नहीं….....30613

पत्नी – अजी, ये जो आप जीन्स बार-बार ऊपर खींचते हो, बहुत बुरा लगता है.
पति - मेरा ख़याल है अगर मैं जीन्स ऊपर नहीं खीचूँ तो और भी बुरा लगेगा  … !!!
----------------------
एक महिला रसोई में पहुंची तो देखा कि उसका पति जाली हाथ में लिए हुए घुमा रहा था।
”ये तुम क्या कर रहे हो ?” – पत्नी ने उससे पूछा ।
”मक्खियां मार रहा हूं।” – पति ने जवाब दिया।
”अच्छा ! एकाध मार पाये?” – पत्नी ने पूछा।
”तीन ! दो मादा और तीन नर ।” – पति ने कहा।
विस्मित होते हुये पत्नी ने पूछा – ”ये कैसे मालूम पड़ा ?”
”तीन शराब की बोतल पर थीं और दो फोन पर” – पति ने जबाब दिया।

----------------------
घडी और बीवी में क्या अन्तर है...
एक बिगडती है तो फ़िर बन्द हो जाती है...
एक बिगडती है तो फ़िर चालू हो जाती है....

----------------------
एक महिला अपने बीमार पति को डॉक्टर के पास ले गई।
पूरी जांच करने के उपरांत डॉक्टर ने महिला को अलग कमरे में ले जाकर बताया – ”तुम्हारे पति गंभीर अवसाद से ग्रसित हैं । यदि तुमने मेरे निर्देशों का पालन नहीं किया तो वह निश्चित ही मर जायेंगे।”
”रोज सुबह उन्हें पौष्टिक नाश्ता दो। हर समय खुश दिखो। दोपहर और रात का भोजन स्वादिष्ट और सुपाच्य होना चाहिये।”
”अपनी समस्याओं की चर्चा उनके सामने कभी मत करो। इससे उन्हें और ज्यादा तनाव होगा। कोई भी उन्हें सताये या चिढ़ाये नहीं।
”यदि 6 महीने तक तुमने यह सब कर लिया तो मैं समझता हूं तुम्हारे पति पूरी तरह स्वस्थ हो जायेंगे।”

घर जाते समय, पति ने  पत्नी से पूछा, – ”डॉक्टर ने क्या कहा ?”
”यही कि तुम बहुत जल्दी मरने वाले हो,” पत्नी ने जवाब दिया।

----------------------
पत्नी- नई कार और नए पति में कोई फर्क नहीं…. दोनों ही 2-3 साल ठीकठाक चलते हैं.
पति - पुरानी कार और पुरानी बीवी में भी कोई फर्क नहीं… दोनों ही आवाज़ करती हैं !!!

----------------------
चलिए बहुत हुआ पत्नी पर चुटकुला..... सच्चाई यह है की पत्नी तो अर्धांगिनी है, जीवन का सबसे बडा आनन्द है... पत्नी खुश है तो फ़िर घर खुश है.....   पत्नी है पति की परछाई.... दुख सुख में साथ निभाती है...  इसीलिए तो महाकवि देव बाबा नें लिखा है...
--------------------------------------------
तुम हो तो सब कुछ है...
तुम नहीं तो कुछ नहीं...
तुम हो तो हर रात दीवाली के दिए जगमगाते हैं
तुम हो तो हर दिन होली के हर रंग झिलमिलाते हैं...
तुम हो तो शहर हर मौसम में भला लगता है
तुम हो तो हर फ़ूल खिला लगता है
तुम हो तो ज़िन्दगी कितनी आसान है
तुम न हो हर दिन बेजान है...
तुम हो तो ज़िन्दगी से बहार है
तुम हो तो हर पल में प्यार है....
तुम हो तो सब कुछ है...
तुम नहीं तो कुछ नहीं...
.
.
.
.
.
.
.
.
.
..
..

पति-पत्नी में झगड़ा हो रहा था.
पति – “अब अगर तुमने एक शब्द भी और कहा तो मेरे अंदर का जानवर जाग जायेगा … !”

पत्नी – “ठीक है, ठीक है … तुम्हारे अंदर जो जानवर बैठा है उसे जाग जाने दो … भला चूहे से भी कोई डरता है .. !!!”

--------------------------------------

डॉक्टर - आपके तीन दांत कैसे टूट गए ?
मरीज - पत्नी ने कड़क रोटी बनाई थी.
डॉक्टर - तो खाने से इनकार कर देते !

मरीज – जी, वही तो किया था … !!!

--------------------------------------


"तुम इतने चिन्तित क्यों हो ?” ऑपरेशन टेबल पर लेटे मरीज से डॉक्टर ने पूछा ।
"क्या बताऊं डॉक्टर साहब, यह मेरी जिन्दगी का पहला ऑपरेशन है” – मरीज ने जवाब दिया।
"अच्छा ! पर मेरी जिन्दगी का भी यह पहला ऑपरेशन है और मैं तो बिल्कुल भी चिन्तित नहीं हूं।”

--------------------------------------


”डॉक्टर साहब, क्या आपको यकीन है कि मुझे  मलेरिया ही है ? दरअसल मैंने एक मरीज के बारे में पढ़ा था कि डॉक्टर उसका मलेरिया का इलाज करते रहे और अंतत: जब वह मरा तो पता चला कि उसे टायफाइड था।”

”चिन्ता मत करो, मेरे साथ ऐसा नहीं होगा। अगर मैं किसी का मलेरिया का इलाज करूंगा तो वह मलेरिया से ही मरेगा।”
-->

No comments:

Post a Comment