Friday, 27 May 2016

Non veg Sex jokes in hindi

 भाभी जी- भरभूति जी हमने आपके लिए एक सेर लिखा है सुनेगे का 
बिभूति जी- हा भाभी जी अपने हमारे लिए इतने प्यार सेर लिखा ह तो क्यू नही सुनेगे।
सुनाइये सुनाईये जरूर सुनाईये
भाभी जी - तो फिर ठीक बा, हम अभी सुनते है
पतेली के ऊपर पतेली,
पतेली के ऊपर छल्ला।
पतेली के ऊपर पतेली,
पतेली के ऊपर छल्ला,
जो बेरोजगार है उसका नाम है
भरभूति नारायण नल्ला
,
केसन बा?
.
बिभूति जी- अच्छा बा आई मीन अच्छा है  पर एक हमने भी लिखा है वो भी तो सुन लीजिये।
अर्ज किया है
.
पतेली के ऊपर पतेली
पतेली पे बैठा घोड़ा,
पतेली के ऊपर पतेली
पतेली पे बेठा घोड़ा
.
आपको जब भी देखता हूँ
तो खड़ा हो जाता है लौड़ा
भाभी जी- आ भरभूति जी ई लौड़ा का होता है??? 
अचानक तिवारी जी आजाते है और गुस्से मै कहते है- अब एक हमारा भी सुन लो भरभूति जी
.
पतेली के ऊपर पतेली,
पतेली के ऊपर सांड।
.
पतेली के ऊपर पतेली,
पतेली के ऊपर सांड।
.
बिभूति जी है छक्का और अनीता जी है रांड
.
अब दरोगा हप्पू सिंह आते है
दरोगा हप्पू सिंह- अरे यो दादा!
का बात है ससुर इते तो मुसायरों
चल रव चल अब एक हमऊ को सुनलो
.
पतेली के ऊपर पतेली,
पतेली के ऊपर टीवी।
.
पतेली के ऊपर पतेली,
पतेली के ऊपर टीवी।
.
घर मै हैं नौ नौ ढइया बच्चा
और प्रग्नेंट बीवी  
अब अनीता जी आई और बोलीं
पतेली के ऊपर पतेली
पतेली में भरा मूत
,
पतेली के ऊपर पतेली
पतेली में भरा मूत
,
ये msg जो forward ना करें
उसकी माँ की **।.
.
.
.
.
मार्केट की माँ **देगा
.
.
.

एक निहायती कमिने शायर ने अपनी सुहागरात पर हथियार पर हाथ फेरते हुए अर्ज़ किया
आज तो किस्मत खुलने वाली है मेरे काले की
और बेहन चुदने वाली है मेरे साले की।
.
.
.
.
वर्षो बाद उस  दोस्त ने चुपके से मेरी आँखों पर
हाथ रखकर पूछा??
पहचान कौन ?
मैने धीरे से मुस्कुराकर कहा
भोसड़ी के..